वे गुमनाम नायक जिन्होंने कर्नाटक में बीजेपी को और मजबूत बनाया!

पार्टी के लिए सोशल मीडिया पेज को मैनेज करने के अलावा ये टीम 30 हज़ार ऐसे व्हाट्सएप ग्रुप्स को भी मैनेज करती है जो विभिन्न स्तरों पर पार्टी से जुड़े हैं.

News18Hindi
Updated: May 25, 2019, 2:16 PM IST
वे गुमनाम नायक जिन्होंने कर्नाटक में बीजेपी को और मजबूत बनाया!
कर्नाटक के गुमनाम नायक जिन्होंने दक्षिण भारत में बीजेपी को वायरल कर दिया!
News18Hindi
Updated: May 25, 2019, 2:16 PM IST
(रेवती राजीवन)

23 मई को दोपहर 2.54 बजे कर्नाटक में बीजेपी के ट्विटर हैंडल से बीएस येदियुरप्पा का एक वीडियो ट्वीट किया गया. ये वीडियो कर्नाटक में गठबंधन सरकार बनने के बाद विधानसभा सत्र के पहले दिन पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के बयान का था.



इस वीडियो में येदियुरप्पा कहते हुए सुनाई पड़ते हैं, 'कुछ ही महीनों में शिवकुमार, पिता (देवेगौड़ा) और बेटे कांग्रेस को बर्बाद कर देंगे. अगर ऐसा नहीं हुआ तो मेरा नाम येदियुरप्पा नहीं.' मिनटों में ये वीडियो कई व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर हो गया. कुछ लोगों ने इस वीडियो को अपने व्हाट्सएप स्टेटस के तौर पर भी अपलोड किया था.

उस वक्त तस्वीर साफ हो गई थी. बीजेपी कर्नाटक में ज्यादातर सीटों पर आगे चल रही थी और आगे चलकर राज्य की 28 लोकसभा सीटों में से उसने 25 पर जीत दर्ज़ कर ली. कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन असफल हो गया था.

यह भी पढ़ें- मुस्लिम बहुल सीटों पर भी बीजेपी ने यूं लहराया जीत का परचम

चुनावों से पहले और बाद में पार्टी के सोशल मीडिया वॉर रूम से निकलने वाले कई ट्वीट्स में से ये एक था. एक समर्पित टीम प्रतिदिन के घटनाक्रमों को ट्रैक कर उसका विश्लेषण करती है जिसमें विपक्ष के बयान और मीडिया अपडेट शामिल हैं.

सीएनएन न्यूज़18 से बातचीत में कर्नाटक सोशल मीडिया प्रमुख बालाजी श्रीनिवास का कहना है कि 2018 विधानसभा चुनावों के लिए काम नवंबर 2017 से ही शुरू हो गया था और ये 2019 लोकसभा चुनावों तक जारी रहा. टीम ने धीरे-धीरे केवल रूटीन अपडेट और अपने नेताओं के बयानों को साझा करना बंद कर दिया क्योंकि वो इस बात को भली-भांति जानते थे कि ट्विटर आम लोगों के लिए नहीं है.
Loading...

यह भी पढ़ें- हार पर बोले कमलनाथ- प्रियंका और न्याय, दोनों को बहुत पहले आना था

ट्विटर हैंडल को तीन लोगों की एक टीम मैनेज करती है और ये सभी 30 साल से कम उम्र के हैं. इनमें से दो आईटी प्रोफेशनल्स हैं. तीसरा - बालाजी एक विज्ञापन और ब्रांडिंग फर्म चलाता हैं जिसका पार्टी से कोई संबंध नहीं है. 10 से 15 लोगों की ये पूरी सोशल मीडिया टीम प्रतिदिन स्वयंसेवकों के रूप में काम करती है.

पार्टी के लिए सोशल मीडिया पेज को मैनेज करने के अलावा ये टीम 30 हज़ार ऐसे व्हाट्सएप ग्रुप्स को भी मैनेज करती है जो विभिन्न स्तरों पर पार्टी से जुड़े हैं. श्रीनिवास के मुताबिक उनके पास सबसे अच्छा व्हाट्सएप नेटवर्क है.

यह भी पढ़ें- आत्मचिंतन के लिए चारधाम यात्रा पर जाएं मोदी विरोधी: सामना

दक्षिण राज्यों में बीजेपी कर्नाटक में सबसे ताकतवर है. तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के मुकाबले उसके ट्विटर हैंडल पर सर्वाधिक फॉलोअर्स हैं.

इस बीच कर्नाटक कांग्रेस का ट्विटर हैंडल कुछ समय से शांत है. वो केवल अपने नेताओं के बयानों को री-ट्वीट कर रही है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...