गोडसे पर माफी नहीं! जब बधाई देने आईं प्रज्ञा ठाकुर, मोदी ने ऐसे फेर लिया मुंह

लोकसभा चुनाव में प्रचार के दौरान साध्वी प्रज्ञा ने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को लेकर बड़ा बयान दे दिया था. पीएम मोदी ने कहा कि भले ही इस मामले में उन्होंने (साध्वी प्रज्ञा) माफी मांग ली हो, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें कभी भी माफ नहीं कर पाऊंगा.'

News18Hindi
Updated: May 26, 2019, 9:31 AM IST
गोडसे पर माफी नहीं! जब बधाई देने आईं प्रज्ञा ठाकुर, मोदी ने ऐसे फेर लिया मुंह
साध्वी प्रज्ञा भोपाल से बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीती हैं.
News18Hindi
Updated: May 26, 2019, 9:31 AM IST
नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल की शुरुआत करने जा रहे हैं, लेकिन लगता है कि भोपाल से सांसद चुनी गईं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से मोदी अब भी नाराज़ हैं. शनिवार को संसद भवन के सेंट्रल हॉल में आयोजित एनडीए की बैठक में मोदी को गठबंधन का नेता चुना गया. इसके बाद सभी सांसद मोदी को बधाई दे रहे थे. वह सबसे हंस कर मिले, लेकिन जैसी ही प्रज्ञा उन्हें बधाई देने के लिए आगे बढ़ीं, मोदी ने मुंह फेर लिया और आगे बढ़ने का इशारा कर दिया.

दरअसल, लोकसभा चुनाव में प्रचार के दौरान साध्वी प्रज्ञा ने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को लेकर बड़ा बयान दे दिया था. साध्वी ने गोडसे को राष्ट्रभक्त बताया था. साध्वी प्रज्ञा ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे. इस वजह से बीजेपी को चौतरफा आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था.



प्रियंका को नया कांग्रेस अध्यक्ष बनाने पर बोले राहुल गांधी- मेरी बहन को इसमें मत खींचो, कोई नॉन गांधी ढूंढो

इसके बाद भारतीय जनता पार्टी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बयान जारी किया गया. जिसमें कहा गया, 'महात्मा गांधी और नाथूराम गोडसे को लेकर जो भी बातें की गईं हैं, वो भयंकर खराब हैं. ये बातें पूरी तरह से घृणा के लायक हैं, सभ्य समाज के अंदर इस प्रकार की बातें नहीं चलती हैं. पीएम मोदी ने कहा कि भले ही इस मामले में उन्होंने (साध्वी प्रज्ञा) माफी मांग ली हो, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें कभी भी माफ नहीं कर पाऊंगा.'

संसद भवन के सेंट्रल हॉल में शनिवार को एनडीए की मीटिंग में इसकी साफ झलक मिली. जब मोदी ने साध्वी प्रज्ञा की तरफ देखा तक नहीं और उन्हें आगे बढ़ने को बोल दिया.

बता दें कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर मालेगांव ब्लास्ट की आरोपी रह चुकी हैं. गोडसे पर बयान को लेकर चौतरफा घिरने के बाद साध्वी प्रज्ञा ने माफी मांग ली थी, लेकिन तबतक विवाद गहरा चुका था. पहले अमित शाह का बयान आया और फिर उसके बाद नरेंद्र मोदी ने बयान दिया.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...