इमरान की 'मोदी बॉल' पर विपक्ष के शॉट्स और 'राफेल' से चुनावी बमबारी की नौटंकी

सियासत की पिच पर एक दिन पहले भाजपा फ्रंटफुट पर थी तो बुधवार को विपक्ष ने चौके छक्के मारे. पहले चरण के मतदान के काउंटडाउन के दौरान चुनावी नौटंकी में सुप्रीम कोर्ट और पाकिस्तान से आई सुर्खियों ने रंग बिखेरे.

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: April 10, 2019, 11:21 PM IST
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: April 10, 2019, 11:21 PM IST
'बिल्ली के भाग से छींका फूटा' वाली कहावत बुधवार की चुनावी नौटंकी में तब शुमार हुई, जब सुप्रीम कोर्ट ने कह दिया कि राफेल मामले में समीक्षा की जाना चाहिए. फिर क्या था! कांग्रेस के साथ ही, पूरा विपक्ष प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा के खिलाफ हमलावर हो गया. वहीं, इमरान खान ने ललचाने वाली शॉट पिच गेंद फेंकी, तो विपक्ष को हावी होकर शॉट लगाने का एक और मौका मिला. दलों में नये नामों की आवाजाही के सिलसिले के बीच, चुनाव आयोग से खबर आई कि मोदी हों या कोई और, नेताओं की बायोपिक चुनाव तक रिलीज़ नहीं होगी. बिहार से लालू, बंगाल से ममता और मध्य भारत से 'ऑनलाइन तोहफे' सुर्खियों में रहे.

READ: इमरान खान के बयान पर विपक्ष हमलावर

कभी बाज़ी इसकी तो कभी उसकी. न्यूज़ 18 के साथ प्रधानमंत्री मोदी के खास इंटरव्यू के बाद, मंगलवार को जहां 'भाजपाचुलेशन्स' का दिन था, वहीं बुधवार को यानी पहले चरण के मतदान से एक दिन पहले चुनावी नौटंकी में 'कांग्रेस्चुलेशन्स' का दिन रहा. रायटर्स ने रिपोर्ट जारी की, जिसमें पाकिस्तान के खिलाड़ी प्रधानमंत्री इमरान ने कहा कि मोदी की पार्टी चुनाव जीतती है तो पाकिस्तान को बातचीत की बेहतर उम्मीद है. अब ये इमरान ने क्यों कहा? ये तो वही जानें, लेकिन इस लूज़ गेंद पर विपक्ष के करारे शॉट शुरू हो गए.

READ: इमरान खान चाहते हैं भारत में फिर बने भाजपा सरकार

lok sabha election 2019, congress, bjp, narendra modi, rahul gandhi, लोकसभा चुनाव 2019, कांग्रेस, भाजपा, नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, चुनाव कवरेज

कश्मीर के उमर अब्दुल्ला ने पलटवार करते हुए सवाल दागा 'अब बोलो, टुकड़े टुकड़े गैंग कौन है?' कांग्रेस के रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी ट्विटर खोला और बोला 'ढोल की पोल खुल गई!' इसी बीच, 'आप' के अरविंद केजरीवाल भी बैटिंग करने पहुंचे और ट्वीट किया कि 'अगर मोदी जीते तो पाकिस्तान में पटाखे फूटेंगे'. छोटे से ब्रेक के बाद सुप्रीम कोर्ट के हवाले से खबर आई कि सरकार की राफेल डील के खिलाफ दस्तावेज़ों के आधार पर सुनवाई और समीक्षा जायज़ है.



READ: सुप्रीम कोर्ट ने राफेल के लीक दस्तावेज माने वैध, होगी सुनवाई

इस खबर के आने के वक्त अमेठी में मां, दीदी, जीजाजी और उनके बच्चों के साथ चुनावी रैली कर रहे राहुल को फौरन भाषण बदलना पड़ा क्योंकि अब भाषण की थीम इस मुद्दे को बनाना था. 'सुप्रीम कोर्ट ने आखिरकार मान ही लिया कि चौकीदार ने चोरी की', भाषण में इस तरह की बातें कई तरह से कहते हुए राहुल ने कोर्ट के शुरूआती कदम को निर्णायक घोषित करने के अंदाज़ में अपनी जीत की मुनादी कर दी.

READ: राहुल बोले - सुप्रीम कोर्ट ने माना, चौकीदार ने चोरी की

lok sabha election 2019, congress, bjp, narendra modi, rahul gandhi, लोकसभा चुनाव 2019, कांग्रेस, भाजपा, नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, चुनाव कवरेज

राहुल ही क्या, फिर पूरे विपक्ष ने मोदी और उनकी सरकार को निशाने पर ले लिया. मायावती ने कहा कि राफेल डील पर 'पीएम को माफी मांगना चाहिए'. पश्चिम बंगाल में हैलिकॉप्टर भटक गया तो ममता बांग्लादेश के बॉर्डर के पास पहुंच गईं लेकिन फिर जब चुनावी सभा में पहुंची तो उन्होंने भी इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री को घेरा. दिल्ली से अरविंद केजरीवाल ने मोदी पर शब्दबाण चलाया कि 'मोदी जी ने सेना से धोखा किया'.

READ: केजरीवाल का हमला - 'मोदी जी ने सेना से किया धोखा'

lok sabha election 2019, congress, bjp, narendra modi, rahul gandhi, लोकसभा चुनाव 2019, कांग्रेस, भाजपा, नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, चुनाव कवरेज

राफेल जंग के मैदान में तो जब करेगा तब करेगा, लेकिन चुनावी मैदान में धमाके करने लगा है. भाजपा के रविशंकर प्रसाद बोले कि कांग्रेस और विपक्ष 'झूठ का प्रचार कर रहे हैं क्योंकि अभी कुछ साबित नहीं हुआ है', लेकिन भाजपा के खेमे की खामोशी में उनकी आवाज़ भी दब गई. बयानबाज़ी की उठक बैठक में कांग्रेस ने इस पर भी तीर छोड़ा कि 'मोदीजी को अच्छा लगे या नहीं, जांच तो शुरू हो चुकी है'.



उधर, एटा की रैली में अखिलेश यादव ने बस्ते से न जाने कौन सी कॉपी निकाली और पढ़ने लगे कि 'अभिनंदन को पाकिस्तान ने अमेरिका के कहने पर छोड़ा था'. फिर उन्होंने दूसरी कॉपी निकाली तो उसमें से विकास की बात निकल आई, 'हमने विकास किया था, भाजपा ने फिर पीछे धकेल दिया'. चुनावी नौटंकी का हिस्सा बनने से अखिलेश इसलिए चूक गए क्योंकि न तो शायद उन्होंने इमरान खान वाली खबर पढ़ी और न सुप्रीम कोर्ट वाली.

इधर, चुनाव आयोग ने 'पीएम नरेंद्र मोदी' पर चुनाव होने तक रोक लगा दी, मतलब फिल्म पर. और, इस फिल्म पर रोक सुप्रीम कोर्ट के उक्त निर्देश या इमरान खान के बयान के कारण नहीं बल्कि इसलिए लगाई गई ताकि चुनाव निष्पक्ष हो सकें. ये फिल्म सिनेमाघरों के साथ 'नमो टीवी' पर भी रिलीज़ नहीं होगी लेकिन खबर है, मोदी पर बनी एक खास फिल्म JIO मोबाइल पर ऑनलाइन देखी जा सकेगी.

READ: पीएम मोदी की बायोपिक पर EC ने चुनाव तक लगाई रोक

lok sabha election 2019, congress, bjp, narendra modi, rahul gandhi, लोकसभा चुनाव 2019, कांग्रेस, भाजपा, नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, चुनाव कवरेज

चुनावी नौटंकी में बिहार की बात कैसे छूट सकती है! सुप्रीम कोर्ट ने लालू प्रसाद यादव को बेल पर छोड़ने से मना कर दिया तो राजद के खेमे में उदासी छा गई. जेल से ज़्यादा अस्पताल में रहने वाले लालू खुद चुनावी मैदान में सक्रिय होना चाहते थे, लेकिन उनके और उनके खानदान के मंसूबों पर पानी फिर गया. अब जेल में रहकर वो चाहें तो एक और किताब लिखें या किसी 'संजय' के ज़रिये चुनावी महाभारत का हाल सुनते रहें.

इधर, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में एक नया चुनावी ट्रेंड नज़र आ रहा है. कुछ दिन पहले छग के सीएम ने पीएम को आईना ऑनलाइन डिलीवरी से भिजवाया था. ताज़ा खबरें हैं कि मप्र के एक कांग्रेसी नेता ने स्पीड पोस्ट से होम्योपैथी की दवा भिजवाई, यह कहकर कि 'झूठ बोलने की उनकी बीमारी' ठीक हो, तो एक बीजेपी विधायक ने राहुल गांधी का 'मतिभ्रम' दुरुस्त करने के लिए सोनिया गांधी को ऑनलाइन शॉपिंग कर बादाम भिजवाए. इन्हीं के साथ एक खबर आई कि भोपाल में छात्राएं इसलिए प्रदर्शन कर रही हैं कि उन्हें ढंग का खाना नहीं मिल रहा!

READ: बीजेपी विधायक ने सोनिया गांधी को भेजे बादाम

lok sabha election 2019, congress, bjp, narendra modi, rahul gandhi, लोकसभा चुनाव 2019, कांग्रेस, भाजपा, नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, चुनाव कवरेज
किरोड़ी सिंह बैंसला.


पूरे दिन में भाजपा के पक्ष में हवा यह रही कि किरोड़ी सिंह बैंसला ने बेटे को साथ लेकर भाजपा जॉइन कर ली. ये वही बैंसला हैं, जो गुर्जर आरक्षण के नाम पर समय समय पर हिंसक प्रदर्शन करते रहे हैं. और कांग्रेस के लिए झटका गुजरात में था, जहां अल्पेश ठाकोर ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया.

इन खबरों के अलावा, तेलंगाना सीएम केसीआर की सांप्रदायिक टिप्पणी की चुनाव आयोग ने आचार संहिता का उल्लंघन करार देकर जवाब मांगा. चर्चा में बीजेपी और अन्य पा​र्टियों के कुछ नेता इसलिए आ गए कि उनकी सांप्रदायिक टिप्पणियों पर चुनाव आयोग ने चिट्ठी भेजी कि नहीं! खैर, आखिरी बात फिर उत्तर प्रदेश की क्योंकि अखिलेश ने चुनाव आयोग को 'अपाहिज' करार दिया. और, योगी आदित्यनाथ बुधवार को तकरीबन चुप रहे लेकिन उन्हें सुर्खियों में आज़म खान लेकर आए. आज़म खान ने योगी को 'हत्या का मुल्ज़िम' बताकर वो सब कहा, जिसे दोहराना क्या?

ये भी पढ़ें:
राफेल फैसले पर कांग्रेस का तंज- 'मोदी जी चिंता न करें, जांच ज़रूर होगी'
अगर मोदी जी जीते तो पाकिस्‍तान में पटाखे फूटेंगे: अरविंद केजरीवाल

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 10, 2019, 8:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...