लोकसभा चुनाव 2019: हिमाचल में दुनिया के सबसे ऊंचे मतदान केंद्र पर 143 फीसदी मतदान

हिमाचल प्रदेश में दुनिया के सबसे ऊंचे मतदान केन्द्र ताशिगांग गांव में रविवार को 142.85 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया.

News18Hindi
Updated: May 20, 2019, 8:35 AM IST
लोकसभा चुनाव 2019: हिमाचल में दुनिया के सबसे ऊंचे मतदान केंद्र पर 143 फीसदी मतदान
पारंपरिक परिधानों में वोट डालने पहुंचे ताशिगांग गांव के मतदाता
News18Hindi
Updated: May 20, 2019, 8:35 AM IST
हिमाचल प्रदेश में दुनिया के सबसे ऊंचे मतदान केन्द्र ताशिगांग गांव में रविवार को 142.85 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. यहां पड़े सभी वोटों को वैध घोषित किया गया है. देश की इस सबसे बड़ी लोकतांत्रिक कवायद में एक और खास बात सामने आई जहां स्पीति घाटी के ताशिगांग में ही सबसे छोटे मतदान केंद्र 'का' में वोटिंग परसेंट 81.25 फीसदी से ज़्यादा दर्ज किया गया. 'का' में कुल 13 मतदाताओं ने मतदान किया.

कजा़ के एसडीएम जीवन नेगी ने कहा कि ताशिगांग की मतदाता सूची में महज 49 रजिस्टर्ड वोटर्स हैं और कुल 70 मतदाताओं ने गांव के मतदान केंद्र पर वोट डाला.



मतदान प्रतिशत में इस बढ़ोतरी की वजह ताशिगांग और आसपास के अन्य मतदान केंद्रों पर तैनात कई निर्वाचन अधिकारियों की 15,256 फुट ऊंचाई पर स्थित दुनिया के सबसे ऊंचे मतदान केंद्र पर वोट डालने की इच्छा रही. ताशिगांग गांव के कुल 49 पंजीकृत मतदाताओं में से कुल 36 ग्रामीणों ने मतदान किया. इनमें 21 पुरुष और 15 महिलाएं हैं.

ये भी पढ़ें- Exit Poll सही साबित हुए तो मोदी सरकार की इन योजनाओं का मिलेगा लाभ

उन्होंने कहा कि चुनाव अधिकारियों ने संबंधित सहायक निर्वाचन अधिकारियों द्वारा उन्हें जारी चुनाव कर्तव्य प्रमाणपत्र (ईडीसी) दिखाने के बाद ताशिगांग मतदान केंद्र पर वोट डाले.

ताशिगांग हिमाचल प्रदेश में एक प्राचीन बौद्ध मठ के पास स्थित गांव है. यह भारत-तिब्बत सीमा के पास स्पीति घाटी में सबसे ऊंचा गांव है. यहां मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ जब तापमान जमाव बिन्दु से नीचे था. मतदाता कड़कड़ाती ठंड में अपने पारंपरिक परिधानों में मतदान केन्द्र पर आए.

ताशिगांग और 'का' दोनों मतदान केंद्र मंडी संसदीय क्षेत्र में आते हैं जहां राज्य की चार लोकसभा सीटों में सबसे ज़्यादा 17 उम्मीदवार खड़े हैं. मंडी में सीधा मुकाबला भाजपा के मौजूदा सांसद राम स्वरूप शर्मा और कांग्रेस उम्मीदवार आश्रय शर्मा के बीच है. आश्रय पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम के पोते हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें-

Opinion poll में एनडीए को मिली थीं कम सीटें, Exit Poll में बदला समीकरण

News18-Ipsos Exit Poll: भारत में कब सटीक और कब फेल हुए एग्जिट पोल्‍स?

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...