Assembly Banner 2021

Lok Sabha Election 2019: मोदी ही होंगे अगले पीएम या कोई और? फैसला 23 मई को

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फाइल फोटो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फाइल फोटो

पहला 11 अप्रैल को, दूसरा 18 अप्रैल को, तीसरा 23 अप्रैल को चौथा, 6 मई को पांचवां, 12 मई को छठा और 19 मई को अंतिम चरण में होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2019, 8:11 PM IST
  • Share this:
भारत निर्वाचन आयोग ने रविवार को 17वीं लोकसभा के चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान किया. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस वार्ता में घोषणा की कि इस बार लोकसभा चुनाव सात चरणों में होगा. वहीं नतीजे 23 मई को घोषित होंगे यानी 23 मई को पता चलेगा कि देश के प्रधानमंत्री के तौर पर जनता नरेंद्र मोदी को दोबारा चुनती है या फिर किसी और को इस पद पर बैठाती है.

पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होगा. इस चरण में 91 सीटों पर चुनाव होगा. दूसरे चरण का मतदान 18 अप्रैल को होगा. इस चरण में 13 राज्यों की 97 सीटों पर मतदान होगा. तीसरे चरण का मतदान 23 अप्रैल को होगा. इस चरण में 14 राज्यों के 115 सीटों पर मतदान होगा.

चौथे चरण का मतदान 29 अप्रैल को होगा. इस चरण में 9 राज्यों की 71 सीटों पर मतदान होगा.पांचवे चरण का चुनाव 6 मई को होगा. इस चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर मतदान होगा. छठें चरण का मतदान 12 मई को होगा. इस चरण में 7 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होगा. सातवें चरण का चुनाव 19 मई को होगा.इस चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होगा.



यह भी पढ़ें:  2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 6 राज्यों में किया था क्लीन स्वीप
22  राज्यों में एक चरण में चुनाव होंगे जिसमें आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, केरल, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पंजाब, सिक्किम, तेलंगाना, तमिलनाडु, उत्तराखंड,अंडमान निकोबार, दादरा और नगर हवेली, दमन और दीव, लक्षद्वीप, दिल्ली, पुड्डुचेरी और चंडीगढ़ शामिल है.

यह भी पढ़ें: ऐसी थी साल 2014 के चुनाव के बाद की सियासी तस्वीर, BJP को मिला था प्रचंड बहुमत

पहले चरण में आंध्र, अरुणाचल, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल, केरल, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पंजाब, सिक्किम, तेलंगाना, तमिलनाडु, अंडमान और निकोबार, दादरा और नगर हवेली, दमन और दीव, लक्षद्वीप, दिल्ली, पुड्डुचेरी, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़ में मतदान होगा.

यह भी पढ़ें: चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ ही दक्षिण के नेताओं को सता रहा 'राहु काल' का डर

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज