• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • LOK SABHA ELECTION 2019: जानिए नतीजों और मतगणना से जुड़ी हर बात

LOK SABHA ELECTION 2019: जानिए नतीजों और मतगणना से जुड़ी हर बात

फाइल फोटो

लोकसभा चुनाव में सभी को नतीजों का इतजार है और आज मतगणना के साथ ही उन उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला हो जाएगा, जो लोकसभा चुनाव में दावेदारी पेश कर रहे थे. मतगणना होने के साथ ही चुनाव के रूझान में आने शुरू हो गए हैं.

  • Share this:
    लोकसभा चुनाव में सभी को नतीजों का इतजार है और आज मतगणना के साथ ही उन उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला हो जाएगा, जो लोकसभा चुनाव में दावेदारी पेश कर रहे थे. मतगणना होने के साथ ही चुनाव के रूझान में आने शुरू हो गए हैं, लेकिन सभी लोग मतगणना पर तो ध्यान , लेकिन क्या आप जानते हैं आखिर यह वोटों की गिनती किस तरह होती है?  साथ ही उस जगह क्या-क्या होता है, जहां इन वोटों की गिनती की जाती है. जानते है मतगणना केंद्र से जुड़े हर एक सवाल का जवाब.

    मतगणना  के दौरान केंद्र पर सुरक्षा कर्मियों का कड़ा पहरा होता है. मतगणना केंद्र पर चुनाव अधिकारी, मतगणनाकर्मी, प्रत्याशी और उनके एजेंट, सुरक्षाकर्मी और अन्य अधिकारी मौजूद होते हैं. सभी अधिकारियों के आश्वस्त हो जाने के बाद परिणाम की घोषणा की जाती है. हर संसदीय सीट के आधार पर ही मतगणना केंद्र बनाए जाते हैं, जहां 200-500 मीटर की दूरी तक किसी भी लोगों को जाने नहीं दिया जाएगा.

    वहीं मतगणना के दौरान पहले रिटर्निंग ऑफिसर और असिस्टेंट रिटर्निंग ऑफिसर मतगणना की गोपनीयता बनाए रखने के लिए शपथ लेते हैं, उसके बाद सभी EVM की जांच की जाती है. इस दौरान  वहां इलेक्शन एजेंट के साथ प्रत्याशी और उनके काउंटिंग एजेंट भी वहां मौजूद होते हैं, लेकिन  मतगणना के दौरान हर अधिकारी, प्रत्याशी आदि की जगह तय होती है, जहां से पूरी प्रक्रिया करवाई जाती है. साथ ही वहां किसी को मोबाइल फोन इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं होती है.

    मतगणना के दौरान सबसे पहले पोस्टल बैलट की गिनती होती है, उसके आधे घंटे बाद ईवीएम को लाया जाता है और ईवीएम की जांच के बाद ही ईवीएम को ऑन किया जाता है. इसके बाद ही ईवीएम की सील यानि रिजल्ट बटन की सील हटाई जाती है और एक राउंड की गिनती होने के बाद,  ईवीएम को फिर से सील कर दिया जाता है.

    एक राउंड की गिनती के बाद सभी से सहमति ली जाती है कि वोटों की गिनती ठीक तरीके से हुई है या नहीं, वहीं अगर कोई प्रत्याशी या उसका एजेंट आपत्ति दर्ज करता है तो दोबारा काउंटिग की जा सकती है. हालांकि यह फैसला चुनाव अधिकारी का होता है.

    गौरतलब है कि  इस बार सुप्रीम कोर्ट ने हर विधानसभा क्षेत्र में कम से कम 5 बूथ के ईवीएम और वीवीपैट की पर्चियों के मिलान करने का आदेश दिया था, जिसके बाद से वीवीपैट का मिलान किया जाएगा. कोर्ट ने कहा कि प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में 5 वीवीपैट का ईवीएम से मिलान किया जाएगा, अभी सिर्फ एक का वीवीपैट मिलान होता था, लेकिन अब चुनाव आयोग को 20,625 ईवीएम और वीवीपैट का मिलान करना होगा, इस कारण फाइनल रिजल्ट आने में थोड़ी देर भी हो सकती है.

    यह भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019: नतीजें आने में हो सकती है 5-6 घंटे की देरी, जानिए क्यों

    यह भी पढ़ें- LIVE Lok Sabha Election Result 2019, लोकसभा चुनाव परिणाम २०१९: कुछ इस तरह होता है EVM और VVPAT पर्चियों का मिलान, जानिए पूरी प्रक्रिया

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज