अपना शहर चुनें

States

किसान आंदोलन पर हम चुप नहीं बैठ सकते, कांग्रेस का सरकार पर हल्ला बोल

लोकसभा में अधीर रंजन चौधरी ने सरकार पर निशाना साधा है. (फोटो साभार-ANI)
लोकसभा में अधीर रंजन चौधरी ने सरकार पर निशाना साधा है. (फोटो साभार-ANI)

Lok Sabha: अधीर रंजन चौधरी ने कहा, 'जब लाखों किसान दिल्ली की सीमाओं पर बैठे हैं तो हम चुप नहीं रह सकते. 200 से ज्‍यादा किसानों ने अपनी जान गंवाई है और उन्हें दिल्ली में प्रवेश करने से रोकने के लिए सड़कों पर कीलें ठोकी गईं.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 8, 2021, 7:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन के बीच राज्‍यसभा में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधन किया. इस दौरान पीएम मोदी ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला और कृषि कानून (Farm Laws) एवं एमएसपी (MSP) पर खुलकर बात की. इसके बाद लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही सदन हंगामे की भेंट चढ़ गया. विपक्ष की नारेबाजी के बीच प्रश्‍नकाल शुरू हुआ लेकिन कार्यवाही स्‍थगित करनी पड़ी. वहीं लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिरला ने विपक्ष को जमकर फटकार भी लगाई. इस बीच, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने किसानों के मुद्दे पर चर्चा की मांग की.

अधीर रंजन चौधरी ने कहा, 'जब लाखों किसान दिल्ली की सीमाओं पर बैठे हैं तो हम चुप नहीं रह सकते. 200 से ज्‍यादा किसानों ने अपनी जान गंवाई है और उन्हें दिल्ली में प्रवेश करने से रोकने के लिए सड़कों पर कीलें ठोकी गईं. हमारी मांग थी कि राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद किसानों के मुद्दे पर चर्चा की जाए.'

किसानों के हित में हर जरूरी कदम उठा रही है मोदी सरकार: भाजपा
भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर पेश धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा के जवाब में सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन को बहुत से विषयों को लेकर फैलाए जा रहे भ्रम को तोड़ने वाला और देश को स्पष्ट दिशा देने वाला करार दिया. उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में वर्षों से लंबित विषयों, छोटे एवं सीमांत किसानों, गरीब कल्याण से लेकर आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए सरकार की नीतियों और प्रयासों को बहुत व्यापक रूप से उल्लेखित किया.
ये भी पढ़ें: कृषि सुधार पर मनमोहन का वो बयान, जिसे पीएम मोदी ने विपक्ष पर हमले के लिए बनाया हथियार



ये भी पढ़ें: मार्च तक भारत के पास 17 राफेल जेट होंगे, जबकि 2022 तक पूरा बेड़ा : राजनाथ सिंह

उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री मोदी ने बहुत स्पष्ट रूप से कहा कि हमारी सरकार किसानों के हित के लिए हर जरूरी कदम उठा रही है और हमारे लिए सिर्फ और सिर्फ किसान कल्याण ही प्राथमिकता है.' उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी वर्षों से नजरअंदाज किए जा रहे छोटे किसानों के विकास के लिए मूलभूत परिवर्तन कर रहे है. नड्डा ने कहा, 'राज्यसभा में प्रधानमंत्री का वक्तव्य बहुत से विषयों के प्रति फैलाए जा रहे भ्रम जाल को तोड़ने वाला और देश को स्पष्ट दिशा देने वाला है. पूरे देश को मोदी जी में भरोसा है. देश जानता है, मोदी जी का प्रत्येक क्षण सिर्फ और सिर्फ देश के लिए समर्पित है.'

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने आज राज्यसभा में किसान व गरीब कल्याण से लेकर भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार के संकल्प को बहुत व्यापक रूप से उल्लेखित किया. उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'प्रधानमंत्री ने किसानों के प्रति सरकार की नीयत और नीतियों का स्पष्ट वर्णन कर उनकी आय को दोगुना करने के संकल्प को दर्शाया है.' रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, 'राज्य सभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री ने कृषि और किसान के साथ गरीब कल्याण के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को प्रभावी तरीक़े से स्पष्ट किया. उन्होंने कृषि क़ानूनों के बारे में बड़ी बेबाक़ी से अपनी बात रखी.'

शाह और सिंह सहित पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने जनता से प्रधानमंत्री का भाषण जरूर सुनने की अपील की. इससे पहले, प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन के दौरान तीन कृषि कानूनों को लेकर जारी किसानों के आंदोलन को समाप्त करने की अपील की. उन्होंने कहा कि नए कृषि कानून देश में छोटे और सीमांत किसानों के लिए विकास के नए द्वार खोलेंगे. केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार गरीबों और किसानों को सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज