कांग्रेस vs बीजेपी: घोषणापत्र में रोज़गार, गरीबी और हेल्थ पर किसने किया है क्या वादा?

जानिए लोकसभा चुनाव 2019 के लिए क्या कहते हैं बीजेपी और कांग्रेस के घोषणापत्र...

Ankit Francis | News18Hindi
Updated: April 8, 2019, 1:42 PM IST
कांग्रेस vs बीजेपी: घोषणापत्र में रोज़गार, गरीबी और हेल्थ पर किसने किया है क्या वादा?
News18 Hindi क्रिएटिव
Ankit Francis | News18Hindi
Updated: April 8, 2019, 1:42 PM IST
बीजेपी ने भी लोकसभा चुनाव 2019 के लिए अपना घोषणापत्र जारी कर दिया है. बीजेपी के अहम वादों में किसान क्रेडिट कार्ड से लिए गए एक लाख रुपये तक के लोन पर पांच साल तक कोई ब्याज नहीं लगाने के आलावा 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने का वादा भी शामिल है. बीजेपी ने 2014 की ही तरह एक बार फिर वादा किया है कि 2019 में सत्ता में आए तो राम मंदिर निर्माण कराने की पूरी कोशिश की जाएगी. घोषणापत्र में कहा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में 25 लाख करोड़ खर्च होंगे. बीजेपी ने राष्ट्रीय व्यापार आयोग बनाने का भी वादा किया है. कुछ दिनों पहले कांग्रेस ने भी लोकसभा चुनावों को लेकर काफी लोकलुभावन घोषणापत्र जारी की थी. जानिए कांग्रेस और बीजेपी के घोषणापत्र की अहम बातें:

कांग्रेस vs बीजेपी घोषणापत्र:

1. राम मंदिर
बीजेपी: राम मंदिर पर BJP का संकल्प पत्र. राम मंदिर पर भाजपा अपना रुख दोहराती है. संविधान के दायरे में अयोध्या में शीघ्र राम मंदिर के निर्माण के लिए सभी संभावनाओं को तलाशा जाएगा और इसके लिए सभी आवश्यक प्रयास किये जायेंगे.

कांग्रेस: ज़िक्र नहीं है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतज़ार करेंगे.

2. किसान
कांग्रेस: किसानों के लिए अलग से बजट. बजट से किसानों को पता चल सके कि उनके लिए सरकार क्या कदम उठा रही है. साथ ही किसानों के कर्ज न अदा कर पाने की स्थिति में जो क्रिमिनल ऑफेंस माना जाता था, उसे खत्म किया जाएगा. अब इसे सिविल ऑफेंस माना जाएगा.बीजेपी: किसानों की आय दोगुनी करेंगे. कृषि क्षेत्र में उत्पादकता बढ़ाने के लिए 25 लाख करोड़ रुपये का निवेश. देश के सभी किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि योजना का फायदा मिलेगा. छोटे तथा खेतिहर किसानों की सामाजिक सुरक्षा के लिए 60 वर्ष की उम्र के बाद पेंशन की योजना.

3. रोजगार:
कांग्रेस: 22 लाख सरकारी नौकरियों का वादा कांग्रेस ने किया है. 10 लाख लोगों को ग्राम पंचायतों में रोजगार देने का वादा किया गया है. 3 साल तक युवाओं को कारोबार करने के लिए किसी से भी अनुमति लेने की जरूरत नहीं है. मनरेगा में काम के दिनों को 100 से बढ़ाकर 150 करने का ऐलान.

बीजेपी: नौकरियां देने का नहीं बल्कि पैदा करने का वादा.

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी ने जारी किया बीजेपी का घोषणापत्र, आर्टिकल 370 और 35A हटाने का वादा

4. गरीबी
कांग्रेस: सत्ता में आए तो न्याय योजना लागू करेंगे. 5 करोड़ परिवार या 25 करोड़ लोगों को सालाना 72 हजार रुपये देंगे. यह रकम 12 हजार रुपये महीने तक की आय वाले गरीब परिवारों को दी जाएगी.

बीजेपी: समावेशी विकास पर जोर. गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों की संख्या को घटाकर 10% से भी कम करना. 5 किलोमीटर के दायरे में बैंकिंग सुविधाएं. सभी छोटे दुकानदारों के लिए पेंशन.

5. महिला
कांग्रेस: संसद और विधानसभा में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण देंगे. 17वें लोकसभा के पहले ही सत्र में महिला आरक्षण बिल पास कराया जाएगा.

ये भी पढ़ें- बीजेपी के घोषणापत्र की ये हैं बड़ी बातें

बीजेपी: महिला सशक्तिकरण पर जोर. तीन तलाक, निकाह हलाला जैसी प्रथाओं को प्रतिबंधित व समाप्त करने को विधेयक. सभी आंगनबाड़ी और आशा कार्यकर्ता को आयुष्मान भारत के तहत लाना. कम से कम 50% महिला कर्मचारी रखने वाले MSME उद्योगों द्वारा सरकार के लिए 10% उत्पाद खरीद.

6. शिक्षा
कांग्रेस: शिक्षा पर बजट का 6 फीसदी पैसा खर्च किया जाएगा. कांग्रेस की सरकार बनी तो शिक्षा की दिशा और दशा को सुधारने के लिए 6 फीसदी पैसा खर्च करेंगे.यूनिवर्सिटीज, आईआईटी, आईआईएम समेत टॉप संस्थानों तक गरीबों की पहुंच को आसान करने का वादा.

ये भी पढ़ें- बीजेपी के घोषणापत्र रिलीज़ पर बोले शाह- स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा मोदी का कार्यकाल

बीजेपी: सबके लिए शिक्षा- 200 नए केंद्रीय विद्यालयों और नवोदय विद्यालयों का निर्माण. वर्ष 2024 तक एमबीबीएस और स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की संख्या दोगुनी करना. भारतीय शैक्षणिक संस्थानों का विश्व के शीर्ष 500 शैक्षणिक संस्थानों में स्थान.

7. अर्थव्यवस्था- कारोबार
कांग्रेस: कांग्रेस विनिर्माण क्षेत्र में जीडीपी की मौजूदा हिस्सेदारी 16 प्रतिशत को अगले 5 साल में 25 फीसदी तक करके भारत को विश्व का निर्माण केंद्र बनाने का वादा.
रीयल एस्टेट (सभी सेक्टर), पेट्रोलियम उत्पादों, तंबाकू और शराब को भी जीएसटी 2.0 के दायरे में लाया जाएगा.

बीजेपी: भारतीय अर्थव्यवस्था को तेज़ी से विकसित करने के लिए 22 प्रमुख चैम्पियन सेक्टरों का निर्धारण. उद्यमियों को बिना किसी सिक्योरिटी के 50 लाख रु तक का ऋण. पूर्वोत्तर राज्यों में MSME को पूंजीगत सहायता देने के लिए 'उद्यमी पूर्वोत्तर' योजना. वर्ष 2025 तक 5 लाख करोड़ डॉलर और वर्ष 2032 तक 10 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेगा. इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में 100 लाख करोड़ रुपए का पूँजीगत निवेश. सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों के लिए 1 लाख करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी योजना.

8. इंफ़्रास्ट्रक्चर
बीजेपी: वर्ष 2025 तक 5 लाख करोड़ डॉलर और वर्ष 2032 तक 10 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेगा. इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में 100 लाख करोड़ रुपए का पूँजीगत निवेश. सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों के लिए 1 लाख करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी योजना. सभी बसावटों को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) का दर्जा. 50 शहरों में एक मजबूत मेट्रो नेटवर्क. सड़क नेटवर्क विकसित करने के लिए भारतमाला 2.0 द्वारा राज्यों को सहायता.

कांग्रेस: कांग्रेस ने देश में रेलवे के पुराने ढांचे को व्यापक रूप से और आधुनिक बनाने, राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण को तेज़ी से बढ़ाने और पूर्वोत्तर राज्यों में भी सड़क और रेल मार्ग को बेहतर करने का वादा किया है. कांग्रेस ने पूर्वोत्तर राज्यों को विशेष दर्जा देने का वादा किया है और कहा है कि वो इन राज्यों के लिए औद्योगिक नीति लाएगी. साथ ही शहरीकरण पर एक व्यापक नीति बनाने का भी वादा किया गया है जिसे बनाने में आपदा प्रबन्धन, जलवायु परिवर्तन और प्रदूषण का ध्यान रखा जाएगा. शहरों में बढ़ रहे झुग्गियों में पानी, बिजली और स्वच्छता की व्यवस्था के लिए झुग्गी-झोपड़ी विकास एवं सुधार कार्यक्रम शुरू करने का वादा किया गया है. कांग्रेस ने अपने मेनिफेस्टो में उद्योगों के साथ मिलकर विज्ञान और प्रोद्योगिकी पर जीडीपी का 2 फ़ीसदी तक खर्च करने और मत्स्य उद्योग और मछुआरों के कल्याण के लिए एक अलग मंत्रालय बनाने का वादा किया है.

9. स्वास्थ्य सेवा
कांग्रेस: राइट टु हेल्थकेयर एक्ट बनेगा जिसके तहत सभी नागरिकों को स्वास्थ्य सेवाएं मुफ़्त में मिलेंगी. इसमें सभी तरह की जांच, दवाई और बाक़ी सेवाएं मुफ़्त में मुहैया कराई जाएंगी. 24 तक स्वास्थ्य सेवाओं पर खर्च होने वाली रक़म जीडीपी के तीन फ़ीसदी कर दी जाएगी. नेशनल मेंटल हेल्थ केयर पॉलिसी, 2014 और मेंटल हेल्थ केयर एक्ट, 2017 को लागू किया जाएगा. सभी ज़िला अस्पतालों में मानसिक स्वास्थ्य से जुडे पेशेवरों की नियुक्ति होगी और वहां इससे जुड़ी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध होंगी. सभी नेशनल और स्टेट हाइवे पर ट्रॉमा और आपातकालीन केंद्र बनावाए जाएंगे. इससे आसपास की आबादी और यात्रा करने वालों को फ़ायदा होगा.

बीजेपी: 1.5 लाख स्वास्थ्य और कल्याण केन्द्रों में टेलीमेडिसिन और डायग्नोस्टिक लैब सुवाधाएं. हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज या परास्नातक मेडिकल कॉलेज. वर्ष 2022 तक सभी बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए पूर्ण टीकाकरण.

बीजेपी के अन्य वादे:
सुरक्षा: हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा नीति केवल हमारे राष्ट्रीय सुरक्षा विषयों द्वारा निर्देशित होगी. आतंकवाद और उग्रवाद के विरुद्ध जीरो टॉलरेंस की नीति को पूरी दृढ़ता से जारी रखेंगे. सुरक्षा बलों को आतंकवादियों का सामना करने के लिए फ्री हैंड नीति जारी रहेगी.

सांस्कृतिक धरोहर: संवैधानिक ढांचे के तहत सभी पहलुओं पर विचार करते हुए अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए आवश्यक प्रयास. गंगोत्री से गंगा सागर तक गंगा नदी का स्वच्छ, निर्बाध प्रवाह सुनिश्चित करना. समान नागरिक संहिता लाने की दृढ़ प्रतिबद्धता.

लोकसभा, विधानसभा व स्थानीय निकायों के लिए एक साथ चुनाव के मुद्दे पर सर्वसम्मति बनाना: प्रभावी शासन और पारदर्शी निर्णयन के माध्यम से भारत को भ्रष्टाचार से मुक्त बनाना. सार्वजनिक सेवाओं की समयबद्ध आपूर्ति के लिए सेवा आपूर्ति के अधिकार सुनिश्चित करना.
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार