• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • खोने के बाद कोविड-19 रोगियों में फिर वापस कैसे आ जाता है गंध और स्वाद का अहसास

खोने के बाद कोविड-19 रोगियों में फिर वापस कैसे आ जाता है गंध और स्वाद का अहसास

मॉस्को, रूस में फिलाटोव सिटी क्लिनिकल अस्पताल के एक ICU में कृत्रिम फेफड़े के जरिये एक कोरोना वायरस रोगी की मदद करते डॉक्टरों की फाइल फोटो (AP)

मॉस्को, रूस में फिलाटोव सिटी क्लिनिकल अस्पताल के एक ICU में कृत्रिम फेफड़े के जरिये एक कोरोना वायरस रोगी की मदद करते डॉक्टरों की फाइल फोटो (AP)

ब्रिटेन (Britain) जैसे देश ने एनोस्मिया- गंध के अहसास के खत्म होने या बदलने का अनुभव करने वाले लोगों के लिए सेल्फ आइसोलेशन (Self Isolation) की सिफारिश की थी और अपने क्वारंटाइन दिशानिर्देशों (Quarantine Guidelines) को अपडेट किया था.

  • Share this:
नई दिल्ली. नये शोध (Latest Research) से पता चला है कि SARS-2 कोरोना वायरस (Coronavirus) श्वसन अंगों में ऊतकों की बाहरी परत को संक्रमित करता है, जिससे गंध और स्वाद (smell and taste) का अहसास चला जाता है.

हालांकि, वायरस संक्रमित ऊतकों (infected tissues) को स्थायी नुकसान नहीं पहुंचाता है, जो इस बात को समझाता है कि बीमार पड़ने के एक महीने के भीतर मरीज (patients) इन क्षमताओं को कैसे प्राप्त कर लेते हैं.

नाक के सूंघने वाले विशेष ऊतकों को प्रभावित करता है वायरस
पैथोलॉजी के क्लिनिकल प्रोफेसर जॉन निकोल्स ने पिछले सप्ताह एक साक्षात्कार में कहा, "नाक के ऊतकों को देखते हुए हमने पाया कि वायरस एक विशेष ऊतक को संक्रमित कर रहा था, जो सूंघने में सहायक होता है."

हांगकांग विश्वविद्यालय में निकोल्स और उनकी टीम ने वायरस के संपर्क में आने वाले हैम्पस्टरों (एक बड़े चूहे की प्रजाति) पर किए प्रयोगों का अध्ययन COVID ​​-19 शरीर के विभिन्न अंगों को प्रभावित करने की प्रक्रिया जांचने के लिये किया है.

कई जगहों पर इन लक्षणों का प्रयोग बीमारी का पता लगाने में भी किया गया
ओलफैक्ट्री एपीथीलियम (Olfactory epithelium) ऊतक होते हैं जो नाक के अंदर के बाहरी अस्तर का निर्माण करते हैं. और ये कोशिकाएं संवेदी प्रणाली का हिस्सा हैं और मनुष्य और जानवरों में गंध का अहसास इनके चलते ही होता है.

गंध और स्वाद का अहसास खो देना नये कोरोना वायरस से संक्रमित रोगियों में बार बार सामने आने वाले दो लक्षण हैं. कुछ देशों ने संदिग्ध संक्रमण का शुरुआती पता लगाने और आइसोलेशन के लिये इन लक्षणों का प्रयोग भी किया है.

ब्रिटेन ने एनोस्मिया के आधार पर अपडेट किये थे अपने क्वारंटाइन दिशानिर्देश
ब्रिटेन जैसे देश ने एनोस्मिया- गंध के अहसास के खत्म होने या बदलने का अनुभव करने वाले लोगों के लिए सेल्फ आइसोलेशन की सिफारिश की थी और अपने क्वारंटाइन दिशानिर्देशों (Quarantine Guidelines) को अपडेट किया था.

लेकिन हांगकांग विश्वविद्यालय के अध्ययन से अच्छी खबर है. प्रोफेसर निकोल्स कहते हैं कि संक्रमण के दौरान "तंत्रिका स्वयं क्षतिग्रस्त नहीं है, लेकिन यह सिर्फ कोशिकाओं है जो गंध महसूस करती है. एक बार जब वे क्षतिग्रस्त हो जाते हैं तो कोशिका को वापस बढ़ने में कुछ समय लगेगा लेकिन वे शक्ति को फिर से पा लेती है.”

अप्रैल में कैलिफ़ोर्निया विश्वविद्यालय द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन ने संकेत दिया था कि एनोस्मिया (Anosmia) का अनुभव नहीं करने वाले रोगियों में रोग अधिक गंभीर है.

यहां क्लिक करके अंग्रेजी में पढ़ें पूरा लेख

यह भी पढ़ें: कोरोना के मामले बढ़ने के बीच चीन का भारत से अपने नागरिकों को बुलाने का फैसला

News18 Polls- लॉकडाउन खुलने पर ये काम कब से करेंगे आप?

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज