• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • मिजोरम में तीन दिन में तीसरी बार भूकंप, रिक्टर स्केल में 3.7 रही तीव्रता

मिजोरम में तीन दिन में तीसरी बार भूकंप, रिक्टर स्केल में 3.7 रही तीव्रता

मिजोरम में लगातार तीसरे दिन भूकंप के झटके महसूस किए गए

मिजोरम में लगातार तीसरे दिन भूकंप के झटके महसूस किए गए

मिजोरम (Mizoram) की राजधानी आइजोल (Aizwal) में भी भूकंप (Earthquake) के झटके महसूस किए गए. भूकंप विज्ञान केंद्र के मुताबिक भूकंप का केंद्र मिजोरम के सेरछिप जिले में थेनज्वाल से 39 किलोमीटर दक्षिणपूर्व एवं सतह से 25 किलोमीटर नीचे

  • Share this:
    आइजोल. मिजोरम (Mizoram) में मंगलवार को 3.7 तीव्रता के भूकंप (Earthquake) के झटके महसूस किये गये. यह लगातार तीसरा दिन है जब राज्य में भूकंप के झटके महसूस किये गये हैं. अधिकारियों ने बताया कि मंगलवार को महसूस किए गए झटके से राज्य में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है. उन्होंने बताया कि राजधानी आइजोल (Aizwal) में भी झटका महसूस किया गया. राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र (National Center of Sesimology) ने ट्वीट कर बताया, ‘‘मंगलवार को शाम सात बजकर 17 मिनट और 37 सेकेंड पर 23.22 अक्षांश और 93.4 देशांतर के बीच 3.7 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया.’’

    भूकंप विज्ञान केंद्र के मुताबिक भूकंप का केंद्र मिजोरम के सेरछिप जिले में थेनज्वाल से 39 किलोमीटर दक्षिणपूर्व एवं सतह से 25 किलोमीटर नीचे था. रविवार और सोमवार को भी मिजोरम में भूंकप के झटके महसूस किए गए थे जिससे घरों और सड़कों को नुकसान पहुंचा था और सरकार ने बारिश और भूस्खलन की चेतावनी जारी की थी. पहला भूकंप रविवार को शाम चार बजकर 16 मिनट पर सितौल जिले में आया और उसकी तीव्रता 5.1 थी. वहीं दूसरा भूकंप सोमवार को तड़के चार बजकर 10 मिनट पर महसूस किया गया जिसकी तीव्रता 5.3 थी. हालांकि, इसमें कोई हताहत नहीं हुआ.

    सोमवार को भूकंप से क्षतिग्रस्त हुए थे मकान
    इससे पहले सोमवार सुबह मिजोरम (Mizoram) में तड़के 5.3 तीव्रता का भूकंप आया जिससे मकान क्षतिग्रस्त हो गए और सड़कों पर कई जगह दरारें आ गईं. राज्य के भूगर्भशास्त्र और खनिज संसाधन विभाग के अधिकारी ने बताया कि भूकंप से किसी के हताहत होने की कोई सूचना नहीं है.

    ये भी पढ़ें- चीन को करारा जवाब देने के लिए भारत सरकार ने चीनी सामान के आयात पर कसा शिकंजा

    राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र के हवाले से उन्होंने बताया कि भूकंप तड़के चार बज कर दस मिनट पर आया था और उसका केंद्र भारत म्यांमार सीमा (India-Myanmar Border) पर स्थित चम्फाई जिले के जोखावतार में था. उन्होंने कहा कि राज्य के कई हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए.

    अधिकारी ने कहा कि भूकंप के कारण चम्फाई जिले में एक चर्च समेत कई भवन और इमारतें क्षतिग्रस्त हो गई. उन्होंने कहा कि भूकंप के कारण कई स्थानों पर सड़कों और राजमार्गों पर दरार आ गई.

    पीएम मोदी ने दिया मदद का आश्वासन
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मुख्यमंत्री जोरमथांगा को केंद्र से हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया है. प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, “मिजोरम में भूकंप की स्थिति के बारे में मुख्यमंत्री श्री जोरमथांगा से बात हुई. केंद्र से हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया.” केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने भी जोरमथांगा से बात कर स्थिति का जायजा लिया और उन्हें यथासंभव सहायता का आश्वासन दिया.

    ये भी पढ़ें- ICMR ने कहा- संक्रमण फैलने से रोकने के लिए कोविड-19 की जांच में लानी होगी तेजी
    वहीं रविवार को शाम चार बज कर करीब दस मिनट पर राज्य में 5.1 तीव्रता का भूकंप आया था. इसके झटके मेघालय तक महसूस किए गए थे. इससे पहले, 18 जून को 4.6 तीव्रता का भूकंप यहां आया था. बता दें पिछले तीन महीने में लगातार देश के अलग-अलग हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किये जा रहे हैं. अब तक दिल्ली-एनसीआर, गुजरात, जम्मू कश्मीर, झारखंड, महाराष्ट्र आदि राज्यों में भूकंप आ चुके हैं. (भाषा के इनपुट सहित)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज