कर्नाटक: विधानसभा में पॉर्न वीडियो देखने वाले दो विधायकों को भी येडियुरप्पा ने बनाया मंत्री

News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 1:39 PM IST
कर्नाटक: विधानसभा में पॉर्न वीडियो देखने वाले दो विधायकों को भी येडियुरप्पा ने बनाया मंत्री
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा

कर्नाटक के विधानसभा में पॉर्न वीडियो देखने का मामला 2012 का है. तीन विधायक लक्ष्मण सवादी, सीसी पाटिल और कृष्णा पालेम विधानसभा में मोबाइल पर अश्लील वीडियो देखते पकड़े गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 21, 2019, 1:39 PM IST
  • Share this:
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने सत्ता में आने के लगभग एक महीने बाद मंगलवार को अपने मंत्रिमंडल में 17 मंत्रियों को शामिल किया. इस मंत्रिमंडल में कई नाम चौंकाने वाले रहें, लेकिन सबसे ज्यादा हैरान करने वाले नाम दो ऐसे मंत्रियों के हैं, जो विधानसभा में पॉर्न वीडियो देखते पकड़े गए थे. ये मंत्री है लक्ष्मण सवादी और सीसी पाटिल.

क्यों मिला इन्हें मौका?
लक्ष्मण सवादी के नाम ने हर किसी को हैरान कर दिया. दरअसल वो फिलहाल विधायक भी नहीं हैं. साल 2018 के चुनाव में उन्हें महेश कुमाथली ने हरा दिया था. बता दें कि इस वक्त कुमारथली का नाम डिसक्वालिफाई विधायकों में शामिल हैं. ऐसे में कहा जा रहा है कि उपचुनाव में कुमारथली को चुनाव न लड़ने के लिए कहा जाए और लक्ष्मण सवादी इस सीट से चुनावी मैदान में उतरेंगे. पार्टी सूत्रों के मुताबिक ऐसे हालात में कुमारथली की एंट्री विधान परिषद में हो सकती है.

पॉर्न वीडियो कांड

कर्नाटक के विधानसभा में पॉर्न वीडियो देखने का मामला 2012 का है. तीन विधायक लक्ष्मण सवादी, सीसी पाटिल और कृष्णा पालेम विधानसभा में मोबाइल पर अश्लील वीडियो देखते पकड़े गए थे. इस कांड ने कर्नाटक विधानसभा को हिलाकर रख दिया था. विपक्षी कांग्रेस और जनता दल (एस) के सदस्यों ने इस घटना में शामिल तीन पूर्व मंत्रियों को सदन से निलंबित करने और अयोग्य घोषित किए जाने की मांग की थी.

इन्हें भी मिला मौका
बीएस येडियुरप्पा ने अपने मंत्रिमंडल में वोकालिंगा समुदाय के दो विधायक को भी शामिल किया है. ये हैं अश्वथनारायण और आर अशोक. इन दोनों विधायकों ने 'ऑपरेशन कमल' में बीजेपी को मदद की थी.
Loading...

16 मंत्रियों के पद अभी भी खाली
कर्नाटक मंत्रिमंडल की कुल ताकत 34 है और 16 मंत्रियों के पद अभी भी खाली हैं. इन असंतुष्ट विधायकों में से कुछ उम्मीद कर रहे हैं कि मंत्रिमंडल विस्तार होने पर मौका मिल सकता है लेकिन 17 अयोग्य ठहराए गए विधायकों के सपनों पर पानी फिर सकता है. सूत्रों के मुताबिक, येडियुरप्पा ने कुमारस्वामी सरकार को गिराने में उनकी मदद के लिए उनमें से 12 को मंत्री पद देने का वादा किया है.

ये भी पढ़ें:

INX केस: चिदंबरम को कोर्ट से क्यों नहीं मिली राहत? जानें वजह

चिदंबरम के समर्थन में आईं प्रियंका, कहा- सच के लिए लड़ेंगे

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 12:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...