श्रीनगर में खुफिया-सुरक्षा एजेंसियों की मीटिंग, कमांडर बोले- पाक की हिमाकत का देंगे मुंहतोड़ जवाब

लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा कि सीमा पर फिलहाल सब कंट्रोल में है. हमारे जवान अलर्ट हैं. अगर पाकिस्तानी सेना किसी भी तरह शत्रुतापूर्ण मंसूबों को अंजाम देने की कोशिश करती है, तो हमारे भारतीय जवान इसका मुंहतोड़ जवाब देंगे.

News18Hindi
Updated: August 6, 2019, 1:40 PM IST
श्रीनगर में खुफिया-सुरक्षा एजेंसियों की मीटिंग, कमांडर बोले- पाक की हिमाकत का देंगे मुंहतोड़ जवाब
सेना के नॉर्थ कमांडर ने श्रीनगर में खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों के कोर ग्रुप की बैठक की.
News18Hindi
Updated: August 6, 2019, 1:40 PM IST
जम्मू-कश्मीर को स्पेशल स्टेटस देने वाले संविधान के आर्टिकल 370 के खत्म होने के बाद राज्य में तनाव बढ़ गया है. सेना और सुरक्षाबल ने गश्त बढ़ा दी है. इस बीच मंगलवार को सेना के नॉर्थ कमांडर ने श्रीनगर में खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों के कोर ग्रुप की बैठक की. इस दौरान नॉर्थ कमांड के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने पड़ोसी मुल्क के हर शत्रुतापूर्ण मंसूबों को नाकाम करने का भरोसा दिया है.

यह भी पढ़ें- टॉप सीक्रेट था PM मोदी का 'मिशन कश्मीर', अमित शाह ने ऐसे दिया अंजाम

लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा कि सीमा पर फिलहाल सब कंट्रोल में है. हमारे जवान अलर्ट हैं. अगर पाकिस्तानी सेना किसी भी तरह शत्रुतापूर्ण मंसूबों को अंजाम देने की कोशिश करती है, तो हमारे भारतीय जवान इसका मुंहतोड़ जवाब देंगे. किसी भी नापाक हरकत के लिए पाकिस्तान को भारी कीमत चुकानी होगी. इस बैठक में सेना, पुलिस, अर्धसैनिक और खुफिया विभाग के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए.

सेना के नॉर्थ कमांड ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर कहा, 'उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने श्रीनगर में खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों के कोर ग्रुप की बैठक की अध्यक्षता की. उन्होंने किसी भी तरह की शत्रुतापूर्ण मंसूबों को नाकाम करने के लिए उच्च स्तर की तैयारी का भरोसा दिया. वहीं, जम्मू-कश्मीर में शांति व सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी हितधारकों के समन्वित प्रयासों की सराहना की.'

यह भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर का भूगोल बदलने के बाद मोदी सरकार ने अब शुरू करेगी इस प्लान B पर काम

security forces
कश्मीर में बढ़ाई गई सुरक्षा


बता दें कि आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर के अधिकतर हिस्सों में मंगलवार को भी कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लगे हैं. अधिकारी सरकार के फैसले के बाद स्थिति पर कड़ी नजर बनाए हैं. अधिकारियों ने बताया कि किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए तीन महीने का राशन स्टोर करके रख लिया गया है. घाटी को लोगों को ये राशन बांटा भी जा रहा है.
Loading...

उधर, कश्मीर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. सरकार के फैसले के बाद कल ही 8000 पैरामिलिट्री जवानों को श्रीनगर रवाना किया गया है. अधिकारियों ने श्रीनगर और जम्मू सहित राज्यभर में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की है. (PTI इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर से हटाया गया आर्टिकल 35A, जानें घाटी में इससे क्या बदलेगा?
First published: August 6, 2019, 1:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...