कर्नाटक में CM पद के लिए लखनवी तहज़ीब - 'पहले आप, पहले आप' का खेल

गृह मंत्री एमबी पाटिल ने भी कहा कि कांग्रेस के विधायक दल के नेता को फिर से सीएम बनना चाहिए. दो दिन बाद राज्य के स्किल डेवलपमेंट मिनिस्टर पीटी परमेश्वर नाइक ने पत्रकारों को बताया कि 'राज्य के हित में' सिद्धारमैया फिर से सीएम बन सकते है.'

News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 4:55 PM IST
कर्नाटक में CM पद के लिए लखनवी तहज़ीब - 'पहले आप, पहले आप' का खेल
Illustration by Mir Suhail. (News18)
News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 4:55 PM IST
दीपा बालाकृष्णन

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की तहजीब 'पहले आप, पहले आप' अब दक्षिण भारत का रुख कर चुकी है. कर्नाटक में बीते साल विधानसभा चुनाव हुए. कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर ने मिल कर सरकार बनाई, हालांकि इस बात पर बहस अब तक खत्म नहीं हुई कि 'सीएम किसे होना चाहिए.' राज्य के सीएम, पूर्व सीएम, सीएम बनने की चाहत रखने वाले और जिनको सीएम होना चाहिए, वह 'पहले आप-पहले आप' खेल रहे हैं.

बीते साल मई में कांग्रेस और जेडीएस एक साथ आए थे. विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला था. 224 सदस्यों वाली विधानसभा में कांग्रेस के पास जहां 80 विधायक हैं, वहीं जेडीएस के पास 37 एमएलए. कम सीटें होने के बाद भी जेडीएस को सीएम का पद दिया गया.

सिद्धारमैया के करीबियों की मांग

बीते तीन महीने में कांग्रेस नेता सिद्धारमैया के करीबी पार्टी विधायकों ने कई मौकों पर कहा कि वो फिर से उन्हें सीएम बनते देखना चाहते हैं. इतना ही नहीं 23 अप्रैल को कर्नाटक में लोकसभा चुनाव का मतदान संपन्न होने के बाद यह बहस और तेज हो गई है. 7 मई को कांग्रेस विधायक के सुधाकर ने खुलेआम कहा कि वह चाहते हैं कि सिद्धारमैया फिर से सीएम बन जाएं.

यह भी पढ़ें:  सिद्धारमैया ने दिया जेडीएस नेता का दिया जवाब, कहा- इतिहास मुझे याद रखेगा

गृह मंत्री एमबी पाटिल ने भी कहा कि कांग्रेस के विधायक दल के नेता को फिर से सीएम बनना चाहिए. दो दिन बाद राज्य के स्किल डेवलपमेंट मिनिस्टर पीटी परमेश्वर नाइक ने पत्रकारों को बताया कि 'राज्य के हित में' सिद्धारमैया फिर से सीएम बन सकते है.'
Loading...

सिद्धारमैया खुद यह कह चुके हैं कि-

पत्रकारों के एक सवाल पर सिद्धारमैया खुद यह कह चुके हैं- वह कुर्सी अभी खाली नहीं है, ऐसे में कोई सवाल नहीं उठता है. हालांकि सिद्धारमैया का यह बयान भी उनके करीबियों को नहीं रोक पाया, जिनके लिए वह आज भी सीएम हैं.

संभवतः इन सब बयानों की प्रतिक्रिया में, मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने बीते हफ्ते उत्तर कर्नाटक के गुलबर्ग में एक चुनावी अभियान के दौरान कहा कि 'उन्हें लंबे समय से महसूस हो रहा है कि उत्तर कर्नाटक में कांग्रेस के सबसे प्रमुख नेता - मल्लिकार्जुन खड़गे को सीएम रहना चाहिए था. खड़गे, दलित सीएम के रूप में आदर्श होते, और उन्हें उनका हक नहीं दिया गया.

वास्तव में, खड़गे को इससे पहले दो बार मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार माना जा चुका है. लेकिन उनकी जगह दूसरों को चुना गया. और उन्हें केंद्र में अन्य महत्वपूर्ण भूमिकाएं दी गईं. उनके बेटे को राज्य में कैबिनेट में जगह दी गई थी. खड़गे वर्तमान में विधायक नहीं हैं वह लोकसभा के लिए एक उम्मीदवार हैं, लेकिन इन सबके बीच एक दलित के साथ यह अन्याय और उनकी जगह दूसरों को तरजीह दी गई.'

यह भी पढ़ें:  कांग्रेस नेता की मानहानि की वजह से एशियानेट और सुवर्ण न्यूज़ पर 50 लाख रुपये का जुर्माना

कुमारस्वामी के बयान पर बीजेपी ने कहा-

कुमारस्वामी के इस बयान पर भारतीय जनता पार्टी की कर्नाटक इकाई अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने तुरंत टिप्पणी की. येदियुरप्पा ने कहा, 'उन्हें तुरंत इस्तीफा देकर खड़गे को सीएम बना देना चाहिए.' पार्टी प्रवक्ता शोभा करंदलाजे ने कुमारस्वामी से यहां तक ​​कहा कि 'खड़गे जैसे वरिष्ठ नेता को सीएम होना चाहिए था. दरअसल, 80 सीटों वाली कांग्रेस को सीएम पद मिलना चाहिए था. आइए आज आपको इस्तीफा देते हुए देखें और कल दूसरे को सीएम का ताज पहनाते हुए.'

हाल ही में, कुमारस्वामी ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस ने कैसे खड़गे को दरकिनार किया था. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए, सिद्धारमैया ने कुमारस्वामी से कहा, 'कुमारस्वामी ने जो कहा वह सही है.' मल्लिकार्जुन खड़गे केवल सीएम के लिए आदर्श नहीं हैं, लेकिन उनकी और भी भूमिकाएं हैं. कांग्रेस और जेडीएस दोनों के पास कई ऐसे हैं जो आदर्श सीएम का चेहरा हो सकते हैं. उनमें से, एक एचडी रेवन्ना भी हैं.'

सिद्धारमैया इशारों में यह कहना चाह रहे थे कि कैसे कुमारस्वामी के बड़े भाई रेवन्ना को दरकिनार उन्हें JDS में आगे बढ़ाया जा रहा है. यह बात अब सबके सामने है कि कांग्रेस और JDS के बीच बीते एक साल से खट्टा-मीठा रिश्ता चल रहा है.

यह भी पढ़ें:  बेंगलुरु सेंट्रल: प्रकाश राज का स्टारडम या कांग्रेस का दावा इस सीट को बीजेपी के कब्जे से छुड़ा पाएगा

कांग्रेस के संकटमोचक डीके शिवकुमार और डिप्टी सीएम जी परमेश्वर जैसे अन्य नेताओं ने इस बारे में बात की है कि वे भी सीएम पद की आशा रखते हैं. परमेश्वर ने कहा, 'जब हम नए सिरे से चुनाव करेंगे और सीएम खोजने की जरूरत होगी, तब हम इस पर चर्चा कर सकते हैं. अब इस पर चर्चा करने की कोई आवश्यकता नहीं है.'

चाहे इन सबको मजाक समझा जाए या इन बातों को गंभीरता से लिया जाए लेकिन यह स्पष्ट है कि सीएम की कुर्सी कोई म्यूजिकल चेयर गेम के लिए नहीं है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार