सैकड़ों साल बाद 30 दिन में लगेंगे 3 बड़े ग्रहण, गंभीर हो सकते हैं परिणाम

सैकड़ों साल बाद 30 दिन में लगेंगे 3 बड़े ग्रहण, गंभीर हो सकते हैं परिणाम
सांकेतिक तस्वीर

सूर्य (solar eclipse) और चंद्र ग्रहण (lunar eclipse) को वैज्ञानिक खगोलीय घटना मानते हैं, लेकिन ज्योतिषानुसार चंद्र और सूर्य दोनों ही ग्रहण पृथ्वी पर रहने वाले मनुष्य के लिए अच्छे नहीं माने जाते हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
सूर्य (solar eclipse) और चंद्र ग्रहण (lunar eclipse) को वैज्ञानिक खगोलीय घटना मानते हैं, लेकिन ज्योतिषानुसार चंद्र और सूर्य दोनों ही ग्रहण पृथ्वी पर रहने वाले मनुष्य के लिए अच्छे नहीं माने जाते हैं. ज्योतिष के हिसाब से ग्रहण कुछ लोगों के लिए लाभकारी माना जाता है तो कुछ लोगों के लिए ये नुकसानदायक साबित हो सकता है. आने वाले महीने में दो चंद्र और 1 सूर्य ग्रहण लगने वाला है. ऐसा संयोग सैकड़ों वर्ष बाद पड़ रहा है जब एक माह के भीतर सूर्य और चंद्र दोनों ग्रहण के योग बन रहे हैं.


देखने पड़ेंगे कई दुष्परिणाम!
ज्योतिषानुसार सूर्य और चंद्र ग्रहण का योग 5 जून से 5 जुलाई के बीच बन रहा है. 30 दिनों के भीतर 3 ग्रहण लगने के कारण प्राकृतिक आपदा जैसे कई दुष्परिणाम देखने को मिल सकते हैं.





कब-कब पड़ रहे हैं ग्रहण

- 5 जून की रात 11.15 से 2.34 मिनट तक चंद्र ग्रहण रहेगा. इसमें शुक्र वक्री और अस्त रहेगा.




- 5 जुलाई को चंद्र ग्रहण लगने वाला है.



 

- 21 जून को सूर्य ग्रहण लगेगा. ज्योतिष के अनुसार सूर्य ग्रहण वाले दिन 6 ग्रह वक्री रहेंगे.


पहले चंद्रग्रहण का सूतक काल
चंद्र ग्रहण महज 4 दिनों बाद यानि की 5 जून को लगने वाला है. यह ग्रहण 3 घंटे 18 मिनट का होगा. यह एक पेनुमब्रल चंद्र ग्रहण होगा जिसमें आमतौर पर एक पूर्ण चंद्रमा से अंतर करना मुश्किल होता है. ज्योतिष के अनुसार उपच्‍छाया चंद्र ग्रहण होने के कारण इस दौरान सूतक काल मान्य नहीं होगा.


देश-दुनिया के लिए संकट की घड़ी
21 जून के सूर्य ग्रहण का आंशिक ग्रहण सुबह 9:15 पर शुरू होगा. 12:10 पर अधिकतम ग्रहण और दोपहर 3:04 बजे आंशिक ग्रहण समाप्‍त होगा. इस ग्रहण का सूतक काल 12 घंटे पहले ही लग जाएगा. ज्योतिष के अनुसार 21 जून को लगने वाले सूर्य ग्रहण 6 ग्रह (बुध, गुरु, शुक्र, शनि राहु और केतु) वर्की करेंगे. इन 6 ग्रहों के एक साथ वक्री रहने से देश-दुनिया के लिए संकट की घड़ी हो सकती है. ज्योतिषाचार्यों को कहना है कि ग्रहण से पृथ्वी पर कई तरह की प्राकृतिक आपदा आने की प्रबल आशंका है.


Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

First published: June 1, 2020, 5:48 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading