कश्मीर : अमरनाथ के बाद अब किश्तवाड़ की यह यात्रा भी रोकी गई

सेना ने खुफिया सूचनाओं का हवाला देते हुए कहा था कि पाकिस्तान में बैठे आतंकवादी अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने की साजिश रच रहे हैं .

News18Hindi
Updated: August 3, 2019, 11:12 AM IST
कश्मीर : अमरनाथ के बाद अब किश्तवाड़ की यह यात्रा भी रोकी गई
सेना ने खुफिया सूचनाओं का हवाला देते हुए कहा था कि पाकिस्तान में बैठे आतंकवादी अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने की साजिश रच रहे हैं .
News18Hindi
Updated: August 3, 2019, 11:12 AM IST
जम्मू और कश्मीर में अमरनाथ यात्रा को निलंबित करने और टूरिस्ट्स की ओर से होटल खाली करने के बाद खबर है कि राज्य के किश्तवाड़ जिले में होने वाली दुर्गा यात्रा निलंबित कर दी गई है. डीसी किश्तवाड़ अंग्रेज सिंह राणा ने कहा कि अगले आदेश तक यह यात्रा निलंबित की जा रही है. हालांकि उन्होंने ऐसा किये जाने के पीछे वजह की जानकारी नहीं दी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार,' 43 दिन तक चलने वाली ‘माचैल माता यात्रा’ सुरक्षा कारणों से रोकी गई है.' बता दें कश्मीर में स्थिति अशांत होने के बीच विमानन नियामक डीजीसीए ने शुक्रवार को एरलाइंसों को सलाह दी थी कि वे जरूरत पड़ने पर श्रीनगर हवाई अड्डे से अतिरिक्त उड़ानों के संचालन के लिए तैयार रहें. सूत्रों ने यह जानकारी दी है.

डीजीसीए की यह सलाह, भारतीय सेना की उस सूचना के कुछ ही घंटों के भीतर आयी है जिसमें सेना ने खुफिया सूचनाओं का हवाला देते हुए कहा था कि पाकिस्तान में बैठे आतंकवादी अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने की साजिश रच रहे हैं .

यह भी पढ़ें : खाली कराया जा रहा है श्रीनगर का NIT? प्रशासन ने कहा- गलतफहमी की वजह से हो रहा ऐसा

सेना के इस खुलासे के तुरंत बाद ही जम्मू कश्मीर प्रशासन ने सभी तीर्थयात्रियों और पर्यटकों से घाटी में अपने आवास की अवधि घटाने और तुरंत घाटी छोड़ने को कहा था. घटनाक्रम से जुड़े एक सूत्र ने प्रेट्र को बताया,‘डीजीसीए ने एरलाइंसों को सलाह दी है कि वे जरूरत पड़ने पर अतिरिक्त उड़ानें भरने के लिए तैयार रहें.’

यह भी पढ़ें :अमरनाथ यात्रियों के लौटने की एडवाइजरी के बाद फैली अफवाह, पेट्रोल पंप खाली-ATM में उमड़ी भीड़

Loading...

सेना के शीर्ष अधिकारी ने दी सूचना

यात्रा मार्ग से हथियार और विस्फोटक बरामद होने की सूचना देते हुए सेना के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा बल तीर्थयात्रियों पर हमले के किसी भी प्रयास को विफल करने के लिए पूरी तरह से मुस्तैद हैं. यात्रा एक जुलाई को शुरू हुई थी और 15 अगस्त को संपन्न होगी.

सेना की 15वीं कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लों ने यह बयान ऐसे समय दिया है जब बीते कुछ दिन में सुरक्षा बलों की छापेमारी में अमरनाथ यात्रा मार्ग पर पाकिस्तान में बनी बारूदी सुरंग और भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए हैं.

 कश्मीर घाटी में शांति बाधित करने की पूरी कोशिश

कोर कमांडर ने कहा कि पाकिस्तान और उसकी सेना कश्मीर घाटी में शांति बाधित करने की पूरी कोशिश में है.

ढिल्लों ने जम्मू कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह के साथ कहा, ‘बीते तीन से चार दिन में, हमें स्पष्ट और पुष्ट खुफिया जानकारी मिल रही थी कि पाकिस्तान के आतंकवादी और पाकिस्ताऩी सेना यहां जारी श्री अमरनाथजी यात्रा को निशाना बनाने का प्रयास कर रही है.’

यह भी पढ़ें : 'आम कश्मीरियों में नहीं कोई डर, महबूबा-फारूक जैसों में दहशत'

भाषा इनपुट के साथ
First published: August 3, 2019, 10:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...