ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनेगा मध्य प्रदेश, शिवराज सरकार ने तैयार किया मास्टर प्लान

बीना रिफाइनरी की इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन को मेडिकल ऑक्सीजन में बदलकर मरीजों के लिए उपयोग में लिया जाएगा.

बीना रिफाइनरी की इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन को मेडिकल ऑक्सीजन में बदलकर मरीजों के लिए उपयोग में लिया जाएगा.

Madhya Pradesh Oxygen : केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश जल्द ही ऑक्सीजन के मामले में आत्म-निर्भर बनेगा.

  • Share this:

बीना. कोरोना वायरस की दूसरी लहर से पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है. ज्यादातर राज्य सरकारें, केंद्र से ऑक्सीजन की मांग कर रही हैं. इसी बीच शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि मध्यप्रदेश जल्द ही ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बन जाएगा. केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश जल्द ही ऑक्सीजन के मामले में आत्म-निर्भर बनेगा.

इन दोनों नेताओं ने सागर जिले के बीना में भारत ओमान रिफाइनरीज लिमिटेड (बीओआरएल) के निकट नवनिर्मित 1000 बिस्तर के अस्थायी कोविड अस्पताल का निरीक्षण करने और अस्पताल के निर्माण संबंधी बैठक में भाग लेने के बाद यह बात कही. प्रधान ने कहा, 'यहां (बीना में) अस्पताल का बड़े पैमाने पर निर्माण कार्य चल रहा है. बीना रिफाइनरी की इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन को मेडिकल ऑक्सीजन में बदलकर मरीजों के लिए उपयोग में लिया जाएगा. यह एक बड़ा प्रोजेक्ट है जो साग़र, विदिशा, अशोकनगर और गुना सहित आसपास के जिलों के कोविड मरीजों के लिए बड़ी सौग़ात साबित होगा.'

केंद्र और राज्य सरकार कर रही है मिलकर काम

उन्होंने कहा, 'ऑक्सीजन की उपलब्धता के मामले में केंद्र एवं मध्य प्रदेश शासन लगातार मिलकर कार्य कर रहे हैं. शीघ्र ही मध्य प्रदेश ऑक्सीजन के मामले में आत्म-निर्भर होगा.' मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यह प्रदेश का पहला ऑक्सीजन आपूर्ति आधारित अस्थाई अस्पताल है, जहां बिस्तर तक ऑक्सीजन की सीधी पाइप लाइन होगी. उन्होंने कहा, 'हमारा उद्देश्य है कि आने वाले समय में मध्य प्रदेश ऑक्सीजन की उपलब्धता के मामले में भी आत्म-निर्भर बनकर उभरे.'
ये भी पढ़ेंः- हाथी पर बैठा ये बच्चा अब बनने जा रहा है असम का CM, VIDEO देख होंगे हैरान


कोरोना का मुकाबला करने के लिए रहना है तैयार



चौहान ने कहा कि हमें कोरोना से मुकाबले के लिए हर तरह तैयार रहना होगा. इस सिलसिले में प्रदेश में बड़े ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना की जा रही है. उन्होंने बताया कि इस दिशा में गेल, आइनॉक्स जैसी संस्थाओं से भी बातचीत जारी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज