मद्रास हाईकोर्ट ने बच्चा पैदा करने के लिए कैदी को दी 2 हफ्ते की छुट्टी

मद्रास हाई कोर्ट ने कहा मौजूदा कानून के तहत कैदियों को संतान पैदा करने के लिए छुट्टी दी जा सकती है.

News18Hindi
Updated: January 25, 2018, 10:17 PM IST
मद्रास हाईकोर्ट ने बच्चा पैदा करने के लिए कैदी को दी 2 हफ्ते की छुट्टी
मद्रास हाई कोर्ट ने कहा मौजूदा कानून के तहत कैदियों को संतान पैदा करने के लिए छुट्टी दी जा सकती है.
News18Hindi
Updated: January 25, 2018, 10:17 PM IST
मद्रास हाई कोर्ट ने एक कैदी को संतान पैदा करने के लिए दो हफ्ते की छुट्टी दी है. हाईकोर्ट ने दलील दी है कि हर व्यक्ति को अपनी पत्नी के साथ संतान पैदा करने का हक है चाहे वो कैदी ही क्यों ना हो? तमिलनाडु के पलायमकोट्टाई सेंट्रल जेल में ये कैदी उम्र कैद की सजा काट रहा है. 40 साल के कैदी सिद्दिकी अली को 15 दिनों की छुट्टी जस्टिस एस विमला देवी और टी कृष्णा की बेंच ने दी.

दरअसल पिछले साल यानी 2017 में सिद्दिकी अली की पत्नी ने कोर्ट को अर्जी दी थी कि उनके पति को दो महीने की छुट्टी दी जाए जिससे कि वो इनफर्टिलिटी की इलाज करा सके. लेकिन पिछले साल सितंबर में उनकी अर्जी को खारिज कर दी गई. दलील ये दी गई कि अली को जेल से बाहर जान का खतरा है.

अली की पत्नी ने एक बार फिर से कोर्ट का रूख किया और इस बार फैसला उनके हक़ में आया. फैसला सुनाते हुए हाई कोर्ट ने कहा, 'मौजूदा कानून के तहत कैदियों को संतान पैदा करने के लिए छुट्टी दी  जा सकती है. इसे असाधारण कारणों में गिना जाएगा.'

कोर्ट ने आगे कहा, 'कैदी की पत्नी 32 साल की है. उनके पति को 18 साल की सज़ा मिली है. इन्हें शायद इसलिए कोई बच्चा नहीं है क्योंकि पति-पत्नी साथ नहीं रहते. डॉक्टरों ने इन्हें सलाह दी है कि इनफर्टिलिटी ट्रीटमेंट के जरिए बच्चा हो सकता है.'

हाईकोर्ट के जजों ने सुप्रीम कोर्ट के 1978 में दिए गए एक फैसले का भी ज़िक्र किया जिसमें कहा गया था कि जेल के अंदर या बाहर कैदी को आज़ादी देना उनका अधिकार है. साथ ही कोर्ट ने कहा कि  मनोवैज्ञानिकों और मनोचिकित्सकों का भी मानना है कि वैवाहिक रिश्तों के बढ़ावा देने से टेंशन कम होती है.

कोर्ट ने ये भी कहा है कि अगर ज़रुरत पड़ी तो फिर इस छुट्टी को दो हफ्ते के लिए और बढ़ा दिया जाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 25, 2018, 10:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...