जरूरत से ज्यादा योग्य महिला को नहीं मिली नौकरी, हाईकोर्ट से भी झटका

मद्रास हाईकोर्ट के न्यायाधीश एस वैद्यनाथन ने कहा कि इन पदों के लिए विज्ञापन में स्पष्ट तौर पर बताया गया था कि जरूरत से अधिक योग्यता वाले उम्मीदवार आवेदन नहीं कर सकते.

News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 1:08 PM IST
जरूरत से ज्यादा योग्य महिला को नहीं मिली नौकरी, हाईकोर्ट से भी झटका
सीएमआरएल में निकली वैकेंसी के लिए महिला ने अप्लाई किया था. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 1:08 PM IST
चेन्नई में एक महिला को जरूरत से अधिक योग्यता रखना भारी पड़ गया. योग्यता अधिक होने की वजह से चेन्नई मेट्रो ने नौकरी के लिए महिला का आवेदन खारिज कर दिया. इसके बाद महिला ने चेन्नई मेट्रो के फैसले को मद्रास हाईकोर्ट में चुनौती दी, लेकिन अब हाईकोर्ट ने भी चेन्नई मेट्रो के फैसले को बरकरार रखा है. कोर्ट ने कहा कि महिला आर लक्ष्मी प्रभा की योग्यता जरूरत से अधिक है.

सीएमआरएल (CMRL) के विज्ञापन का उल्लेख करते हुए न्यायमूर्ति एस वैद्यनाथन ने कहा कि जिन उम्मीदवारों की योग्यता किसी पद के लिए मांगी गई आवश्यकता से अधिक है, वे उस पद पर आवेदन करने के योग्य नहीं माने जाएंगे. न्यायाधीश ने कहा कि इन पदों के लिए विज्ञापन में स्पष्ट तौर पर बताया गया था कि जरूरत से अधिक योग्यता वाले उम्मीदवार आवेदन नहीं कर सकते.



2013 में निकले थे पद
बता दें कि 1 फरवरी 2013 को चेन्नई मेट्रो रेल लिमिटेड (सीएमआरएल) में ट्रेन ऑपरेटर, स्टेशन कंट्रोलर, जूनियर इंजीनियर (स्टेशन) के पदों पर आवेदन निकले थे. आर लक्ष्मी प्रभा नाम की महिला ने इन पदों के लिए आवेदन किया था. उन्होंने 31 मार्च 2013 को आयोजित ऑनलाइन परीक्षा को सफलतापूर्वक पास भी किया था, प्रभा के पास इंजीनियरिंग की डिग्री थी. इस आधार पर CMRL ने महिला का आवेदन रद कर दिया था.

महिला का कहना, आवेदन के बाद की डिग्री
हालांकि, प्रभा ने बताया कि 21 जून 2013 को उन्होंने B.E. कोर्स पूरा किया था. जिस समय सीएमआरएल पदों के लिए उसने आवेदन किया, उस समय उनके पास डिग्री नहीं थी. उन्होंने सिर्फ ‘इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग’ में डिप्लोमा किया था. प्रभा ने तर्क दिया कि उसने अपनी इंजीनियरिंग की डिग्री से संबंधित कोई जानकारी नहीं छिपाई, इसलिए उनकी नियुक्ति के लिए उसकी उम्मीदवारी पर विचार किया जाना चाहिए.

CMRL ने विज्ञापन का दिया हवाला
Loading...

वहीं, कोर्ट में चेन्नई मेट्रो रेल लिमिटेड (सीएमआरएल) ने अपने हलफनामे में कहा कि उसने ट्रेन ऑपरेटर, स्टेशन कंट्रोलर, जूनियर इंजीनियर (स्टेशन) के पदों पर आवेदन के लिए विज्ञापन द्वारा एक सामान्य निर्देश दिया था कि इन पदों के लिए B.E, B.Tech या अन्य किसी भी उच्च योग्यता वाले उम्मीदवार योग्य नहीं हैं. इसी आधार पर कोर्ट ने महिला की याचिका खारिज कर दी.

ये भी पढ़ें- जल संकट से जूझ रही चेन्नई की आज बुझेगी प्यास, पानी लेकर पहुंचेगी ट्रेन
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...