अब मुंबई की सड़कों में पूरी क्षमता के साथ दौड़ेंगी सरकारी बसें

अब तक बसों में यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही बिठाना होता था.
अब तक बसों में यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही बिठाना होता था.

महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra government)ने मुंबई की जनता को सौगात देते हुए सोशल डिस्टेंसिंग (SOCIAL DISTANCING) की वजह से यात्रियों की संख्या में लगाए गए प्रतिबंध को वापस ले लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 11:42 PM IST
  • Share this:
मुंबई. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई की लाइफलाइन मानी जाने वाली बेस्ट बसें या सरकारी बसें (BEST BUSES) अब पूरी क्षमता के साथ सड़कों में सरपट दौड़ेंगी. दरअसल, कोरोना (CORONA) महामारी की वजह से इन बसों में सोशल डिस्टेंसिंग के मानक पूरे करने के तहत यात्रियों को संख्या को सीमित कर दिया गया था. लेकिन आज महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra government)ने मुंबई की जनता को सौगात देते हुए सोशल डिस्टेंसिंग (SOCIAL DISTANCING) की वजह से यात्रियों की संख्या में लगाए गए प्रतिबंध को वापस ले लिया है. हालांकि सभी यात्रियों को सफर के दौरान सेनेटाइजर साथ में रखना और मास्क पहनना जरूरी होगा.

इससे पहले लॉकडाउन में ढिलाई होने के बाद केवल जरूरी सेवा देने वाले लोग ही इन बसों में यात्रा कर सकते थे. लेकिन अब बसों में पहले की तरह आम मुंबईवासी भी यात्रा कर सकेगा. बसों की संख्या भी सीमित कर दी गई थी. केवल 2700 बसें ही सड़कों में चल रहीं थीं. लेकिन अब सारी बसों को सेवाएं देने की अनुमति होगी.


इससे पहले महाराष्ट्र सरकार ने गुरुवार को महाराष्ट्र और गोवा बार काउंसिल से संबद्ध वकीलों को 'पीक-ऑवर' छोड़कर मुंबई लोकल में सफर करने की छूट दे दी थी. वकीलों के साथ यह छूट रजिस्टर्ड क्लर्क्स को भी दी गई थी. लेकिन वकील या क्लर्क अभी लोकल ट्रेनों से यात्रा अपने काम के सिलसिले में ही कर सकेंगे. राज्य सरकार का यह निर्णय बॉम्बे हाईकोर्ट के निर्देश के आधार पर लिया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज