COVID-19: सोमवार से राज्य के अंदर फ्री बस सेवा देगी महाराष्ट्र सरकार

बस की हर सीट पर मात्र 1 यात्री को बैठने की अनुमति होगी (सांकेतिक फोटो)

परिवहन मंत्री (Transport Minister) ने बताया कि एक सीट पर सिर्फ एक ही व्यक्ति को बैठने की अनुमति होगी और हर यात्री को मास्क (mask) पहनना होगा और बस पर सवार होने से पहले अपने हाथ साफ करने होंगे.

  • Share this:
    मुंबई. महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने सोमवार से राज्य में फंसे लोगों की मदद करने के लिए मुफ्त बस सेवा की शुरुआत करने का फैसला किया है. ये बसें लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान लोगों को राज्य के अंदर ही अन्य जिलों में फंसे लोगों को उनके गृह जिले तक लेकर जाएंगीं. इस बात की जानकारी महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री (Transport Minister) अनिल पब ने शनिवार को दी.

    राज्य परिवहन (ST) बस सेवा मांग के आधार पर संचालित की जाएगी. इसको लेकर जारी एक बयान में कहा गया, राज्य के अन्य हिस्सों के लोगों, जिसमें मजदूर (Labours), छात्र और श्रद्धालु शामिल होंगे, को विशेष परिस्थितियों का ध्यान रखते हुए लेकर जाएगी और यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कोरोना वायरस का प्रसार न हो.

    कंटेनमेंट जोन में रहने वालों को नहीं मिलेगा सेवा का लाभ
    हालांकि मंत्री ने यह भी बताया कि जो लोग वर्तमान में कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) में रह रहे हैं, वे इस सेवा का लाभ नहीं उठा सकेंगे.

    ऐसा होता है कि लोग उन शहरों में फंसे हुए हैं जहां पुलिस कमिश्नरी है और वे अपने जिलों या तालुका में इन बसों की सहायता से वापस जाना चाहते हैं तो उन्हें इस यात्रा को करने के लिए संबंधित नोडल अधिकारी (डिप्टी कमिश्नर) से इसकी अनुमित लेनी होगी.

    कलेक्टर से या ऑनलाइन अनुमति ले सकेंगे जाने वाले यात्री
    वहीं बयान में यह भी कहा गया है कि अन्य जगहों पर, जो लोग अपने घर जाना चाहते हैं, उन्हें राज्य के कलेक्टर/ तहसीलदार से अनुमति हासिल करनी होगी. ऐसे 22 लोगों की एक लिस्ट संबंधित नोडल अफसर के पास जमा की जाएगी और उसी के मुताबिक एक बस का प्रबंध किया जाएगा.

    इसमें यह भी कहा गया है कि जो लोग व्यक्तिगत स्तर पर यात्रा करना चाहते हैं, उन्हें पोर्टल पर जाकर अनुमति लेनी होगी, जो कि सोमवार से शुरू हो जाएगा.

    अनुमति मिलने के बाद, ऐसे लोग अपनी जानकारी के साथ ऑनलाइन अप्लाई कर सकेंगे. साथ ही अनुमति मिल जाने पर उसे अपलोड कर सकेंगे. जब ऐसे 22 लोग हो जाएंगे तो उनके लिए भी एक बस का इंतजाम किया जाएगा.

    एक सीट पर बैठ सकेगा सिर्फ एक व्यक्ति, किसी खाने-पीने की दुकान पर नहीं रुकेगी बस
    परब ने यह भी बताया कि एक सीट पर सिर्फ एक ही व्यक्ति को बैठने की अनुमति होगी और हर यात्री को मास्क पहनना होगा और बस पर सवार होने से पहले अपने हाथ साफ करने होंगे.

    बसों को भी सैनिटाइजर का छिड़काव कर कीटाणुमुक्त किया जाएगा और सामाजिक दूरी से जुड़े सभी नियमों का यात्रा के दौरान पालन करना होगा.

    ये बसें किसी भी खाने की दुकान पर नहीं रुकेंगीं और यात्रियों को अपने खाने का प्रबंध खुद ही करना होगा.

    यह भी पढ़ें: सैलरी की मांग को ले सैकड़ों की तादाद में मजदूर पहुंचे फैक्ट्री, किया प्रदर्शन

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.