'सीएम पद पर शिवसेना से बात नहीं हुई थी', पढ़े देवेंद्र फडणवीस की 5 बड़ी बातें

देवेंद्र फडणवीस ने इस्‍तीफा सौंप दिया है.
देवेंद्र फडणवीस ने इस्‍तीफा सौंप दिया है.

अजित पवार (Ajit Pawar) के साथ बातचीत के बाद मंगलवार को देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने राज्‍यपाल से मुलाकात करके सीएम पद से इस्‍तीफा दे दिया है. अभी तीन दिन पहले ही फडणवीस ने सीएम पद की शपथ ली थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2019, 5:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. महाराष्‍ट्र (Maharashtra) की सियासत में लगातार उलटफेर जारी है. अभी तीन दिन पहले सीएम पद की शपथ लेने वाले देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने मंगलवार को इस्‍तीफा दे दिया. इस दौरान देवेंद्र फणडवीस ने कहा कि हमने शिवसेना (Shiv Sena) के साथ मिलकर चुनाव लड़ा. जिसमें हमें बहुमत मिला था. ये बहुमत गठबंधन का था जिसमें बीजेपी (BJP) का हिस्‍सा ज्‍यादा था. ऐसा कभी नहीं कहा गया था कि सीएम शिवसेना का होगा. फडणवीस ने अजित पवार के साथ न देने का हवाला देते हुए इस्‍तीफा देने का ऐलान कर दिया.

 

पढ़ें फडणवीस के भाषण की 5 खास बातें



'सीएम पद पर नहीं हुई थी बात'
देवेंद्र फडणवीस ने इस्‍तीफा देने का ऐलान करते हुए कहा कि हमनें जनादेश का सम्‍मान किया है. चुनाव के समय हर मंच पर यही कहा जा रहा था कि गठबंधन बीजेपी के नेतृत्‍व में हो रहा है. शिवसेना के सीएम बनने पर कभी बात नहीं हुई थी.

 

अजित पवार से बात करके ही सरकार का गठन किया था
देवेंद्र फडणवीस ने कहा अजित पवार ने सरकार बनाने में हमारा साथ दिया था. हमनें उसने बातचीत करने के बाद ही सरकार का गठन किया था. आज सुप्रीम कोर्ट का आदेश जाने के बाद अजित पवार ने मुझसे मुलाकात की और कहा कि वह इस गठबंधन के साथ और नहीं रह कसते. उन्‍होंने अपना इस्‍तीफा सौंप दिया. उनके इस्‍तीफा देने के बाद हमारे पास बहुमत नहीं था और मैं राज्‍यपाल से मिलकर अपना इस्‍तीफा सौंपूंगा.

फडणवीस ने कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी पर साधा निशाना
देवेंद्र फडणवीस ने कहा ऑटो भी तीन पहियों पर चलता है लेकिन अगर तीन पहिए तीन अलग दिशाओं में काम करते हैं तो हमें पता है क्या होता है. यही शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन के साथ होने वाला है.

हमनें ऐलान किया था कि हम किसी को नहीं तोड़ेंगे: फडणवीस
देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि हमने पहले दिन से ही साफ तौर पर कहा था कि हम किसी को नहीं तोड़ेंगे और न ही हॉर्स ट्रेडिंग करेंगे. जो लोग सरकार बनाने जा रहे हैं, मैं उन्‍हें शुभकामनाएं देता हूं. मैं आश्वस्त हूं कि वह अच्छी सरकार बनाएंगे लेकिन मुझे डर है कि यह सरकार अपने ही वजन से दब जाएगी.

शिवसेना 
देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि शिवसेना के नेताओं ने कल सोनिया गांधी की शपथ ली थी. सत्ता में आने के लिए सेना इतनी लाचार हो रही है. मैं उनकी इस लाचारी के लिए भी बधाई देता हूं. सिर्फ बीजेपी को हटाने के लिए यह लोग साथ आ गए हैं. बीजेपी विपक्ष में भी तत्परता से काम करेगी. हम इस तीन पहियों वाली सरकार में लोगों की आवाज बनेंगे.

ये भी पढ़ें:
जानिए, संस्कृत से क्या है पाकिस्तान और उर्दू का ताल्लुक
तब औरंगजेब ने संस्कृत में रखे थे दो आमों के नाम
क्यों जल रहा है ईरान? आखिर कुछ ही घंटों में कैसे मारे गए 200 से ज्यादा युवा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज