महाराष्ट्र में बढ़ा सियासी पारा! शरद पवार से मिलने पहुंचे देवेंद्र फडणवीस, बाद में बताई वजह

विपक्षी दल के नेता देवेंद्र फडणवीस सोमवार की सुबह शरद पवार से मुलाकात करने पहुंचे थे. (फोटो: Twitter/@Dev_Fadnavis)

विपक्षी दल के नेता देवेंद्र फडणवीस सोमवार की सुबह शरद पवार से मुलाकात करने पहुंचे थे. (फोटो: Twitter/@Dev_Fadnavis)

Devendra Fadnavis- Sharad Pawar Meeting: महाराष्ट्र में नौकरियों और शिक्षा में मराठा आरक्षण (Maratha Reservation) का मुद्दा गरमाया हुआ है. ऐसे में राज्य के दो बड़े नेताओं की बीच इस मुलाकात ने सियासी गलियारों में चर्चा बढ़ा दी हैं.

  • Share this:

मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सत्ता गठबंधन के शीर्ष नेता शरद पवार से मुलाकात की. इस बैठक के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में कई अटकलें लगाई जाने लगी हैं. हालांकि, फडणवीस ने ट्वीट के जरिए यह साफ किया है कि यह महज एक शिष्टाचार मुलाकात थी. फडणवीस सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की सरकार पर लगातार हमलावर बने हुए हैं.

विपक्षी दल के नेता फडणवीस सोमवार की सुबह पवार से मुलाकात करने पहुंचे थे. उन्होंने इस बात की जानकारी ट्वीटर पर भी दी थी. उन्होंने बताया था कि वे हाल में ब्लैडर सर्जरी कराने वाले पवार के स्वास्थ्य की जानकारी लेने पहुंचे थे. पूर्व सीएम ने लिखा, 'पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ नेता श्री शरद पवार जी से उनके घर पर सोमवार सुबह मुलाकात की. यह एक शिष्टाचार बैठक थी.'

Youtube Video

राज्य में नौकरियों और शिक्षा में मराठा आरक्षण का मुद्दा गरमाया हुआ है. ऐसे में राज्य के दो बड़े नेताओं की बीच इस मुलाकात ने सियासी गलियारों में चर्चा बढ़ा दी हैं. फडणवीस और महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल आरक्षण के मुद्दे पर लगातार सरकार पर निशाना साध रहे हैं. हाल ही में मराठा समुदाय को सरकारी नौकरी और शिक्षा में आरक्षण देने वाले कानून को सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया है.
यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र: ठाकरे सरकार का बड़ा फैसला, EWS कोटा में मराठा समुदाय को मिलेगा 10% आरक्षण

बीते महीने सुप्रीम कोर्ट ने इस कोटा को 'असंवैधानिक' बताया था कि 2018 में आया यह कानून आरक्षण के 50 फीसदी की सीमा को पार कर गया है. वहीं, सरकार के खिलाफ रिजर्वेशन के इस मुद्दे को लेकर भारतीय जनता पार्टी 5 जून को प्रदर्शन करने की तैयारी कर रही है. इसके अलावा फडणवीस कोविड के मुद्दे को लेकर पर सरकार की आलोचना कर रहे हैं.




खास बात है कि बीते दो सालों में शिवसेना-राकंपा के बीच गठबंधन में तनाव देखा गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कहा जाता है कि ठाकरे एनसीपी मंत्री जयंत पाटिल के साथ मतभेद को लेकर कई बार पवार से चर्चा कर चुके हैं. राज्य में एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना के गठबंधन की महाअघाड़ी सरकार है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज