Home /News /nation /

maharashtra eknath shinde uddhav thackeray shiv sena speaker election no mla forced to support him bjp rks

एकनाथ शिंदे: कभी सीएम नहीं बनना चाहता था, नसीब इस मुकाम पर ले आया

एकनाथ शिंदे ने कहा, कभी सीएम नहीं बनना चाहता था (ANI)

एकनाथ शिंदे ने कहा, कभी सीएम नहीं बनना चाहता था (ANI)

विधानसभा अध्यक्ष चुनाव में रविवार को विधायकों की संख्या की पहली परीक्षा पास करने के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि वे कभी सीएम नहीं बनना चाहते थे. उनका नसीब उन्हें इस मुकाम पर ले आया है.

मुंबई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव के बाद रविवार को विधानसभा को संबोधित किया और कहा कि ‘हर कोई भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के मुख्यमंत्री बनने की उम्मीद कर रहा था, जबकि वे इस पद को कभी पाना नहीं चाहते थे. यह उनकी नियति थी.’ एकनाथ शिंदे ने कहा कि बागी विधायकों को उन पर पूरा भरोसा था और यह बहुत बड़ी बात है, क्योंकि वह पार्टी के एक छोटे से कार्यकर्ता हैं.

हिन्दुस्तान टाइम्स की एक खबर के मुताबिक उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी सरकार को गिराने वाले विद्रोह के बारे में शिंदे ने कहा कि ‘एक आम कार्यकर्ता के लिए यह बहुत बड़ी बात थी कि मंत्रियों सहित कई विधायकों ने सरकार छोड़ दी.’ कई बागी विधायकों के संपर्क में रहने का दावा करने वाले उद्धव खेमे पर निशाना साधते हुए शिंदे ने कहा कि ‘मेरे जैसे आम कार्यकर्ता के लिए यह बहुत बड़ी बात थी जो बालासाहेब ठाकरे और आनंद दिघे की विचारधारा के प्रति समर्पित था.’

शिंदे ने कहा कि ‘कुछ ने कहा कि हम कुछ विधायकों के संपर्क में हैं, कभी ये संख्या 5, फिर 10, 20 और 25 होती है. फिर भी सारे अनुमान गलत साबित हुए.’ शिंदे ने कहा कि ‘बीजेपी के पास 115 विधायक हैं और मेरे पास 50 हैं. लेकिन फिर भी बीजेपी ने बड़ा दिल दिखाया और मुझे सीएम पद दिया. मैं पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा को धन्यवाद देना चाहता हूं. मुझे सीएम पद की कोई उम्मीद नहीं थी.’ शिंदे ने कहा कि अब एक भाजपा-शिवसेना सरकार ने बालासाहेब ठाकरे के सिद्धांतों के आधार पर कार्यभार संभाला है. बालासाहेब का एक सैनिक मुख्यमंत्री बन गया है.

एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री, देवेंद्र फडणवीस नहीं होंगे सरकार में शामिल

गुरुवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद एकनाथ शिंदे के सामने स्पीकर का चुनाव पहली बड़ी चुनौती थी. पहली बार विधायक बने भाजपा के राहुल नार्वेकर को 288 सदस्यीय सदन में 164 वोट हासिल हुए. नार्वेकर के खिलाफ उद्धव ठाकरे-एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन ने राजन साल्वी को मैदान में उतारा था. जो 106 वोट हासिल करने में सफल रहे. समाजवादी पार्टी और एआईएमआईएम ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया.

Tags: Eknath Shinde, Maharashtra, Shiv sena, Uddhav thackeray

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर