कोरोना को 'पटखनी' देने की राह पर महाराष्ट्र, 14 हजार नए मामले, 10 मार्च के बाद सबसे कम

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या तेजी से कम हो रही है. (फाइल फोटो)

महामारी (Covid-19 Pandemic) की पहली और फिर दूसरी लहर में जबरदस्त रूप से प्रभावित रहे राज्य में ब्लैक फंगस के केस भी बड़ी संख्या में आए हैं. अब नए मामलों की संख्या सबूत दे रही है कि कोरोना की रफ्तार काबू में आ रही है.

  • Share this:
    मुंबई. देश में कोरोना (Covid-19) से सर्वाधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र (Maharashtra) अब महामारी को 'पटखनी' देने की राह पर तेजी से आगे बढ़ता दिख रहा है. महामारी की पहली और फिर दूसरी लहर में जबरदस्त रूप से प्रभावित रहे राज्य में ब्लैक फंगस के केस भी बड़ी संख्या में आए हैं. अब नए मामलों की संख्या सबूत दे रही है कि कोरोना की रफ्तार काबू में आ रही है.

    राज्य में मंगलवार को कोविड-19 के 14,123 नए मामले आए, जो 10 मार्च के बाद से सबसे कम है और 477 संक्रमित लोगों की मौत हुई हैं. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. विभाग ने बताया कि 14,123 नए मामलों के साथ, राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 57,61,015 हो गए, जबकि मृतकों की संख्या बढ़कर 96,198 हो गई. राज्य में 10 मार्च को कोविड​​-19 के 13,659 मामले आए थे, जहां पिछले कुछ सप्ताह से मामलों में गिरावट देखी जा रही है. एक दिन पहले, महाराष्ट्र में कोविड-19 के 15,077 नए मामले आए थे.

    मुंबई शहर में 830 नए मामले आए और 23 मौतें
    विभाग के एक बयान में कहा गया है कि दिन में 35,949 रोगियों को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई, जिससे राज्य में ठीक होने वालों की संख्या बढ़कर 54,31,319 हो गई. राज्य में अब 2,30,681 रोगियों की उपचार चल रहा है. विभाग ने कहा कि मुंबई शहर में 830 नए मामले आए और 23 मौतें हुईं, जिससे महानगर में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 7,06,118 हो गए और मृतकों की संख्या बढ़कर 14,849 हो गई.

    धरावी से सुखद खबर
    मुंबई के स्लम-बहुल धारावी क्षेत्र में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के केवल तीन नए मामले आए. बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के एक अधिकारी ने बताया कि इस इलाके में अब तक कुल 6,825 मामले आए हैं. उन्होंने बताया कि धारावी में 17 रोगियों का उपचार चल रहा है, जबकि 6,449 मरीज ठीक हो चुके हैं.