लाइव टीवी

महाराष्ट्र: मनसे को मिली मजबूती, पूर्व शिवसेना विधायक हर्षवर्धन जाधव और प्रकाश महाजन की वापसी

भाषा
Updated: February 8, 2020, 7:35 PM IST
महाराष्ट्र: मनसे को मिली मजबूती, पूर्व शिवसेना विधायक हर्षवर्धन जाधव और प्रकाश महाजन की वापसी
पूर्व शिवसेना विधायक हर्षवर्धन जाधव और प्रकाश महाजन ने MNS की सदस्यता ले ली है (फाइल फोटो)

शिवसेना (Shiv Sena) के पूर्व विधायक हर्षवर्धन जाधव (Harshvardhan Jadhav) और प्रकाश महाजन (Prakash Mahajan) ने ठाकरे के दादर निवास पर मनसे की सदस्यता ली.

  • Share this:
मुंबई. शिवसेना (Shiv Sena) के पूर्व विधायक हर्षवर्धन जाधव (Former MLA Harshvardhan Jadhav) और दिवंगत भाजपा नेता प्रमोद महाजन (Pramod Mahajan) के भाई प्रकाश महाजन शनिवार को औपचारिक रूप से राज ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) में लौट आए.

हर्षवर्धन जाधव (Harshvardhan Jadhav) और प्रकाश महाजन (Prakash Mahajan) ने ठाकरे के दादर निवास पर मनसे की सदस्यता ली.

राज ठाकरे के हिंदुत्व के साथ होने के चलते यह कदम उठाने को हुए प्रेरित: जाधव
वर्ष 2009 में मनसे (MNS) के टिकट पर औरंगाबाद जिले के कन्नड विधानसभा सीट (Kannad Assembly Seat) से पहली बार विधायक चुने गए जाधव ने कहा कि वह पार्टी में वापसी से खुश हैं. उन्होंने कहा कि ठाकरे के हिन्दुत्व के साथ होने की वजह से वह यह कदम उठाने के लिए प्रेरित हुए.

जाधव ने कहा, ‘‘मैं निश्चित रूप से पार्टी का जनाधार (औरंगाबाद जिले में) बढ़ाने के लिए काम करूंगा. हम निश्चित तौर पर औरंगाबाद नगर निगम (Aurangabad Municipal Corporation) का चुनाव जीतेंगे.’’

जाधव माने जाते हैं AIMIM प्रत्याशी से शिवसेना उम्मीदवार की हार के जिम्मेदार
जाधव ने औरंगाबाद (Aurangabad) से शिवसेना के पूर्व सांसद चंद्रकांत खैरे (Former MP Chandrakant Khaire) को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि वह भविष्य में कभी भी लोकसभा चुनाव नहीं जीत सकेंगे.उल्लेखनीय है कि जाधव ने 2019 लोकसभा चुनाव में औरंगाबाद से बतौर निर्दलीय किस्मत आजमाई थी और उन्हें करीब तीन लाख मत मिले थे. जाधव को ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिममीन (AIMIM) प्रत्याशी इम्तियाज जलील से खैरे को मिली हार के लिए जिम्मेदार माना जाता है जो महज 4,492 मतों के मामूली अंतर से हारे थे.

राज ठाकरे एकमात्र नेता जो 'हिंदुत्व' के मुद्दे को आगे ले जा सकें: प्रकाश महाजन
महाजन ने इस मौके पर कहा कि राज ठाकरे (Raj Thackeray) ही एकमात्र नेता है जो शिवसेना (Shiv Sena) संस्थापक बाल ठाकरे के बाद हिंदुत्व के मुद्दे को आगे ले जा सकते हैं.

मनसे में औपचारिक वापसी के बाद उन्होंने कहा, ‘‘जब हिंदुत्व को उनकी जरूरत है तब राज ठाकरे हिंदुत्व (Hindutva) के नायक के रूप में उभरेंगे.

यह भी पढ़ें: उद्धव सरकार के लिए मुश्किलें पैदा कर सकती है मुस्लिम आरक्षण की मांग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 8, 2020, 7:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर