Home /News /nation /

महाराष्ट्र सरकार ने इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन नियम में किया बदलाव, अल्ट्रा रिस्क वाले 6 देशों के लिए रखी शर्त, जानें खास बातें

महाराष्ट्र सरकार ने इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन नियम में किया बदलाव, अल्ट्रा रिस्क वाले 6 देशों के लिए रखी शर्त, जानें खास बातें

उड़ान में सवार होते समय पूरी तरह से टीकाकरण की रिपोर्ट दिखानी होगी

उड़ान में सवार होते समय पूरी तरह से टीकाकरण की रिपोर्ट दिखानी होगी

Maharashtra,Omicron,institutional quarantine: जोखिम देशों से आने वाले यात्रियों को मुंबई (Mumbai Corona Update) आने पर संस्थागत क्वारंटीन की जरूरत नहीं होगी लेकिन यात्रियों को हवाई अड्डे पर आरटीपीसीआर टेस्ट से गुजरना होगा. इस टेस्ट के लिए यात्रियों को खुद ही भुगतान करना होगा. यदि कोई यात्री पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे अलग रहने की सुविधा दी जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: बुधवार को स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया (Mansukh Mandaviya) ने देश को बताया था कि भारत में फिलहाल कोविड के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron New Corona Variant) का एक भी मामला नहीं, लेकिन इस बीच तमाम राज्य सरकारें अपने यात्रा नियमों में बदलाव कर रही हैं. गुरुवार को महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने ओमिक्रॉन के संक्रमण (Omicron Infection) से राज्य को बचाने के लिए इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन नियमों में बदलाव किया है. फिलहाल ये बदलाव छह अल्ट्रा रिस्क वाले देशों से आने वाले यात्रियों के लिए होंगे. महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा कि राज्य ने अपने पुराने मामलों को देखते हुए पहले से ही सतर्क है.

    गौरतलब है कि कोविड का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन सबसे पहले अफ्रीका से ही सामने आया था इसलिए ऐहतियात के तौर पर दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना, नामीबिया, लासथो, जिम्बाब्वे और इस्वातिनी से आने वाले यात्रियों के लिए नए यात्रा नियम लागू होंगे. इन देशों से भारत आने वाले लोगों को अनिवार्य रूप से 7 दिनों का क्वारंटीन पूरा करना होगा.

    जोखिम देश वाले यात्रियों के लिए ये नियम
    नए इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन नियम उन यात्रियों पर भी लागू होंगे अगर किसी ने भारत आने से 15 दिन पहले इन देशों की यात्रा की हो या फिर कोई यात्री बीमार हो. क्वारंटीन की अवधि पूरा होने के बाद यात्रियों को अपना RTPCR टेस्ट कराना होगा और अगर रिपोर्ट नेगेटिव आती है. तो उन्हें घर जाने की अनुमति दी जाएगी लेकिन वहां भी सात दिनों का होम क्वारंटीन पीरियड पूरा करना होगा.

    यात्री को परीक्षण का करना होगा भुगतान
    जोखिम देशों से आने वाले यात्रियों को मुंबई आने पर संस्थागत स्वारंटीन की जरूरत नहीं होगी, लेकिन यात्रियों को हवाई अड्डे पर आरटीपीसीआर टेस्ट से गुजरना होगा. इस टेस्ट के लिए यात्रियों को खुद ही भुगतान करना होगा. यदि कोई यात्री पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे अलग रहने की सुविधा दी जाएगी. ऐसे यात्री के सैंपल जीनोमिक परीक्षण के लिए भेजे जाएंगे और नेगेटिव रिपोर्ट आने पर सात दिन का होम क्वारंटीन पूरा करना होगा. इसके बाद आठवें दिन दूसरी जांच की जाएगी.

    दिखानी होगी टीकाकरण रिपोर्ट
    सरकार ने घरेलू यात्रियों को भी दिशा निर्देश दिए हैं. उड़ान में सवार होते समय पूरी तरह से टीकाकरण की रिपोर्ट दिखानी होगी या फिर 72 घंटे पहले की आरटी-पीसीआर टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी. महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि कोविड संक्रमण को लेकर हम बेहद सतर्क हैं. उन्होंने कहा कि लोगों की सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है.

    Tags: Covid in Maharashtra, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर