लाइव टीवी

महाराष्ट्र सरकार इंदुरीकर महाराज के खिलाफ मामला दर्ज नहीं कराएगी : मंत्री

भाषा
Updated: February 18, 2020, 12:21 PM IST
महाराष्ट्र सरकार इंदुरीकर महाराज के खिलाफ मामला दर्ज नहीं कराएगी : मंत्री
मंत्री बच्चू कडु ने कहा है कि इंदुरीकर महाराज अपने कीर्तन के जरिये लोगों में ज्ञान फैला रहे हैं. हमें उनके आशय को समझना चाहिए.'

स्वयंसेवी संस्था महाराष्ट्र अंधश्रद्धा निर्मूलन संस्था का आरोप है कि इंदुरीकर महाराज की टिप्पणी ने गर्भाधान पूर्व और प्रसव पूर्व निदान तकनीक (PCPNDT) अधिनियम का उल्लंघन किया है.

  • भाषा
  • Last Updated: February 18, 2020, 12:21 PM IST
  • Share this:
औरंगाबाद. महाराष्ट्र सरकार (Government of Maharashtra) के मंत्री बच्चू कडु (Bacchu kadu) ने कहा है कि राज्य सरकार मराठी कीर्तनकार निवृत्ति महाराज इंदुरीकर (Maharaj Indurikar) की यौन संबंध बनाने और बच्चे के लिंग निर्धारण संबंधी टिप्पणी के लिए उनके खिलाफ मामला दायर नहीं कराएगी. अंधविश्वास समाप्त करने की दिशा में काम करने वाली स्वयंसेवी संस्था महाराष्ट्र अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति ने पिछले सप्ताह इंदुरीकर महाराज के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करने की मांग की थी.

संस्था का आरोप है कि इंदुरीकर महाराज की टिप्पणी ने गर्भाधान पूर्व और प्रसव पूर्व निदान तकनीक (PCPNDT) अधिनियम का उल्लंघन किया है. गौरतलब है कि इंदुरीकर ने हाल ही में अहमदनगर जिले में अपने कीर्तन के दौरान कथित तौर पर कहा था कि सम संख्या वाली तारीख पर यौन संबंध बनाने से बेटे का जन्म होता है और विषम संख्या वाली तारीख पर यौन संबंध बनाने से बेटी पैदा होती हैं.

उस्मानाबाद में सोमवार शाम को कडु ने संवाददाताओं से कहा, 'इंदुरीकर महाराज अपने कीर्तन के जरिये लोगों में ज्ञान फैला रहे हैं. अगर वह कुछ गलत करेंगे तो कानून अपना काम करेगा, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि उनके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया जाए. हमें ऐसी टिप्पणी करने से पहले उनके आशय को समझने की कोशिश करनी चाहिए.'

ये भी पढ़ें - भारत में इस वजह से महंगी हो रही हैं बुखार समेत ये दवाएं, इतने फीसदी तक बढ़े दाम



               RJD ने लगाए पोस्टर, लिखा- 'पंद्रह साल में पचपन घोटाले' का जवाब दे नीतीश सरकार

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 12:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर