Assembly Banner 2021

अनिल देशमुख ने गृहमंत्री पद से दिया इस्‍तीफा, मुंबई के पूर्व CP परमबीर सिंह ने लगाया था वसूली का आरोप

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक देशमुख के अलावा महाराष्ट्र सरकार भी बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देगी. (फाइल फोटो)

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक देशमुख के अलावा महाराष्ट्र सरकार भी बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देगी. (फाइल फोटो)

बता दें कि कुछ देर पहले ही बॉम्बे हाईकोर्ट ने CBI को मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की 15 दिनों के भीतर प्रारंभिक जांच शुरू करने के लिए कहा है.

  • Share this:
मुंबई. मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के आरोपों में घिरे महाराष्‍ट्र  के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है. देशमुख ने मुख्यमंत्री को दिए अपने इस्तीफे में कहा है कि बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के बाद उनका गृह मंत्री के पद पर बने रहना उचित नहीं है इसलिए वह अपना इस्तीफा सौंप रहे हैं. बता दें कि कुछ देर पहले ही बॉम्बे हाईकोर्ट ने CBI को मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की 15 दिनों के भीतर प्रारंभिक जांच शुरू करने के लिए कहा है.

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि हाईकोर्ट के ऑर्डर के बाद गृह मंत्री अनिल देशमुख ने शरद पवार और पार्टी नेताओं से मुलाकात कर कहा कि वह अपने पद पर नहीं रहना चाहते हैं. वह अपना इस्तीफा सौंपने के लिए मुख्यमंत्री के पास गए थे. पार्टी ने मुख्यमंत्री से उनका इस्तीफा स्वीकार करने का अनुरोध किया है.

Youtube Video




सूत्रों के मुताबिक दिलीप वलसे पाटिल नए गृहमंत्री हो सकते हैं. वलसे शरद पवार के काफी करीब हैं. वहीं देशमुख के पास एक्साइज डिपार्टमेंट भी था. सूत्रों के मुताबिक यह विभाग अजित पवार के पास जा सकता है. वहीं जयंत पाटिल, छगन भुजबल, राजेश टोपे का नाम भी नए गृहमंत्री के तौर पर आगे चल रहा है.
बता दें कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने जिस तरह से मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर गृहमंत्री अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए हैं, उसके बाद से महाराष्‍ट्र की सियासत में भूचाल आया हुआ था. परमबीर सिंह ने उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में कहा था कि गृह मंत्री देशमुख ने हर महीने 100 करोड़ रुपये की वसूली की डिमांड रखी थी. हालांकि परमबीर सिंह के आरोपों को अन‍िल देशमुख ने खारिज कर दिया था और राज्‍य के मुख्‍यमंत्री से सभी आरोपों की जांच करने को कहा था. उन्‍होंने कहा कि जब आरोपों की जांच होगी तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा.

बता दें कि इस मामले में आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट में सुनवाई हुई थी. मामले की सुनवाई करते हुए बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने कहा, क्‍योंकि अनिल देशमुख गृहमंत्री हैं इसलिए पुलिस इस मामले में निष्‍पक्ष जांच नहीं कर पाएगी. ऐसे में इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी जाती है.

इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख की बढ़ी मुसीबत, बॉम्बे HC ने दिए CBI जांच के आदेश

परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर क्‍या लगाए आरोप
मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने दावा किया है कि अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को 100 करोड़ रुपये की वसूली का टारगेट दिया था. परमबीर सिंह ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि 100 करोड़ रुपये टारगेट को पूरा करने के लिए मुंबई के बार, पब और रेस्टोरेंट से वसूली करने को कहा गया था. चिट्ठी के मुताबिक, इस टारगेट पर सचिन वाझे ने कहा था कि वो 40 करोड़ रुपये तो पूरा कर सकते हैं लेकिन 100 करोड़ बहुत ज्यादा है. परमबीर सिंह ने दावा किया कि 100 करोड़ का टारगेट पूरा करने के लिए अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को दूसरे तरीके ईजाद करने के लिए कहा था. (अभिषेक पांडेय के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज