अपना शहर चुनें

States

COVID-19 in Maharashtra: महाराष्ट्र में कोरोना की रोकथाम के लिए फिर लगाई गईं पाबंदियां, जानें अपने सारे सवालों के जवाब

91 जिलों में कोरोना मरीज मिलने की रफ्तार बढ़ी है. इनमें 34 जिले महाराष्ट्र के ही हैं.
91 जिलों में कोरोना मरीज मिलने की रफ्तार बढ़ी है. इनमें 34 जिले महाराष्ट्र के ही हैं.

महाराष्ट्र के कई शहरों में कोरोना वायरस (Coronavirus case in Maharashtra) के नए मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सरकार ने कई जिलों में पाबंदियां लगाई हैं. पुणे में 28 फरवरी तक स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं. नासिक में रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 3:03 PM IST
  • Share this:
देश में कोरोना वायरस एक बार फिर जोर पकड़ती दिख रही है. 91 जिलों में मरीज मिलने की रफ्तार बढ़ी है. इनमें 34 जिले महाराष्ट्र के ही हैं. इसके अलावा कर्नाटक के 16, हरियाणा, पंजाब, छत्तीसगढ़, गुजरात और बिहार के 4-4, जबकि केरल के दो जिले शामिल हैं. महाराष्ट्र के कई शहरों में कोरोना वायरस (Coronavirus case in Maharashtra) के नए मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सरकार ने कई जिलों में पाबंदियां लगाई हैं. पुणे में 28 फरवरी तक स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं. नासिक में रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है. इसके अलावा यवतमाल, अमरावती और अचलपुर में लॉकडाउन की घोषणा की गई है.

आइए जानते हैं कि महाराष्ट्र में कोरोना से अभी क्या है ताजा हालात और राज्य सरकार ने उठाए क्या कदम:-

  • कोरोना के नए मामले आने के बाद महाराष्ट्र के किन जिलों में पाबंदियां लगाई गई हैं?

    अमरावती, मुंबा, नागपुर, पुणे, पिंपरी, चिंचवाड, नासिक, औरंगाबाद, ठाणे, नवी मुंबई, कल्याण-डोम्बिवली, अकोला, यावतमाल, वसीम और बुलढाणा में पाबंदियां लगाई गई हैं.

  • किन जिलों में संपूर्ण लॉकडाउन लगा है?

    महाराष्ट्र के अमरावती और अचलपुर में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है, जो आज (22 फरवरी) रात 8 बजे से 1 मार्च सुबह 8 बजे तक लागू रहेगा. यवतमाल, अकोला और अकोट में कल (22 फरवरी) सुबह 6 बजे से 1 मार्च की सुबह 6 बजे तक संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा. हालांकि, इन जिलो में इमरजेंसी सेवाएं चालू रहेगी.


  • राज्य सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन में क्या है?

    राज्य सरकार ने रविवार को महाराष्ट्र के लोगों को कोरोनो वायरस गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने को कहा है इसमें सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहने रहना, सामाजिक दूरी का ध्यान और सैनिटाइजेशन शामिल है. 22 फरवरी से राज्य में सभी धार्मिक, सामाजिक और राजनीतिक समारोहों पर रोक लगा दी गई है. राजनीतिक सभाओं और जन-आंदोलन, धरना प्रदर्शन पर भी रोक रहेगी.


  • क्या महाराष्ट्र में राज्यव्यापी तालाबंदी है?

    नहीं, राज्य में तालाबंदी नहीं की गई है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों से कोविड गाइडलाइन का पालन करने की अपील की है, ताकि इस महामारी को दोबारा फैलने से रोका जा सके. सीएम ने कहा कि राज्य में एक सप्ताह से 15 दिनों तक स्थिति की समीक्षा के बाद सरकार यह तय करेगी कि एक और लॉकडाउन लगाया जाएगा या नहीं.


  • क्या राज्य में कोरोना की दूसरी लहर आ रही है?

    बेशक महाराष्ट्र में कोरोना ने फिर से पैर पसारे हैं, लेकिन ये महामारी की दूसरी लहर है; इस बारे में अभी एक्सपर्ट कुछ नहीं कर रहे हैं. 15 दिनों के बाद हालात का जायजा लेने के बाद ही निश्चित तौर पर कुछ कहा जा सकेगा.


  • मुंबई के लिए क्या गाइडलाइन हैं?

    बीएमसी की नई गाइडलाइन के मुताबिक, अगर किसी बिल्डिंग में पांच या इससे ज्यादा कोरोना के मरीज पाए जाएंगे, तो बिल्डिंग को सील कर दिया जाएगा. सभी एसिम्पटोमैटिक मरीजों के हथेली पर होम क्वॉरंटाइन का स्टैम्प लगाकर घर पर ही इलाज किया जाएगा. इन मरीजों की जानकारी संबंधित सोसाइटी को भी दी जाएगी. मरीजों की निगरानी के लिए वार्ड वॉर रूम भी बनाए गए हैं. इसके साथ ही शादी, जिम, क्लब, नाइट क्लब, रेस्टोरेंट्स, सिनेमा हॉल में मास्क पहनना अनिवार्य है. सभी धार्मिक स्थलों, पार्क, प्ले ग्राउंड, शॉपिंग मॉल्स और प्राइवेट ऑफिसों में भी मास्क पहनना जरूरी है. अगर किसी ने मास्क नहीं पहना या एक जगह पर 50 से ज्यादा लोग इकट्ठा हुए पाए गए, तो संबंधित व्यक्ति पर जुर्माना लगाया जाएगा.


  • क्या मुंबई में मास्क नहीं पहनने पर कोई चालान काटा जा रहा है?

    मुंबई पुलिस ने रविवार को अपने ट्वीट में कहा कि अब सार्वजनिक जगहों पर मास्क नहीं पहनने वालों का चालान काटा जा सकता है. मुंबई पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंहने ट्वीट किया, 'हर बार जब हमने आपको हेलमेट पहनाया या सीट बेल्ट लगाई, तो यह आपके जीवन और सुरक्षा के मूल्य को याद दिलाने के लिए था. ऐसा मास्क के लिए भी है. कृपया ध्यान रखें. आप हमारे लिए मायने रखते हैं.'


  • पुणे में क्या क्या पाबंदियां हैं?

    पुणे जिला प्रशासन ने गैर-जरूरी गतिविधियों के लिए लोगों के आंदोलन पर 11 बजे से सुबह 6 बजे तक प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है. स्कूल, कॉलेज और निजी कोचिंग कक्षाएं 28 फरवरी तक बंद रहेंगी, जबकि होटल और रेस्तरां को हर दिन रात 11 बजे तक अपनी सर्विस बंद करनी होगी.


  • क्या अमरावती में तालाबंदी है?

    जी हां, महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र में अमरावती जिले में 22 फरवरी रात 8 बजे से एक सप्ताह के लॉकडाउन लगाया गया है. लॉकडाउन 1 मार्च को सुबह 8 बजे तक लागू रहेगा.


  • अमरावती में लॉकडाउन के क्या दिशा-निर्देश हैं?

    आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को छोड़कर सभी दुकानें, सरकारी और निजी शिक्षण संस्थान, निजी कोचिंग क्लासेस, ट्रेनिंग स्कूल बंद रहेंगे. लोग रोजमर्रा की जरूरत के सामान सुबह 9 से शाम 5 बजे तक खरीद सकते हैं. अमरावती में सिनेमा घर, जिम, स्विमिंग पुल, पार्क बंद रहेंगे. लॉकडाउन के दौरान किसी भी शैक्षिक, सांस्कृतिक या धार्मिक कार्यक्रम पर रोक रहेगी. लॉकडाउन लगाने से पहले जिन इंडस्ट्रीज ने परमिशन ले ली थी, वो खुली रहेंगी. सभी सरकारी दफ्तरों और बैंकों में 15 फीसदी स्टाफ के साथ काम होता रहेगा. होटल और रेस्टोरेंट्स सिर्फ टेक अवे ऑर्डर ले सकेंगे. गुड्स ट्रांसपोर्ट को आवाजाही की परमिशन दी गई है. वहीं, अलग-अलग ट्रांसपोर्ट पर सवारियों की संख्या भी तय की गई है. दूसरे राज्य में किसी गाड़ी को 50 फीसदी सवारी के साथ जाने की अनुमति है.


  • नागपुर में क्या दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं?

    नागपुर नगर निगम (एनएमसी) ने शुक्रवार को मामलों में अचानक उछाल पर अंकुश लगाने के लिए कोविड-19 के गाइडलाइन जारी किए हैं. अब, होटल केवल 50% क्षमता के साथ काम करेंगे. पांच से अधिक पॉजिटिव केस वाले इमारतों को सील किया जाएगा. अंतिम संस्कार के लिए 20 से अधिक लोगों को अनुमति नहीं दी जाएगी.


  • महाराष्ट्र जाने वाले यात्रियों के लिए क्या दिशा-निर्देश हैं?

    केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार, ब्राजील से भारत आने वाले सभी यात्रियों को अनिवार्य क्वॉरंटाइन में रहना होगा. भारत सरकार के निर्देशों के अनुरूप, MCGM ने ब्राजील से मुंबई आने वाले सभी यात्रियों को सात दिन तक अनिवार्य क्वॉरनटाइन में रखने का फैसला किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज