गुड़ी पड़वा पर महाराष्ट्र सरकार की गाइडलाइंस, पांच से ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर बैन

गाइडलाइंस के मुताबिक सार्वजनिक रूप से किसी भी तरह की भीड़ को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं दी जाएगी. फाइल फोटो

गाइडलाइंस के मुताबिक सार्वजनिक रूप से किसी भी तरह की भीड़ को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं दी जाएगी. फाइल फोटो

Gudhi Padwa Guidelines: गाइडलाइंस के मुताबिक सार्वजनिक रूप से किसी भी तरह की भीड़ को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 12:20 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच गुड़ी पड़वा को लेकर गाइडलाइंस जारी की है. गुड़ी पड़वा (Gudhi Padwa) का त्यौहार राज्य में मंगलवार को मनाया जाएगा. सरकार की ओर से जारी किए गए निर्देश में कहा गया है कि गुड़ी पड़वा का त्यौहार सुबह 7 बजे से रात 8 बजे के बीच साधारण तरीके से मनाएं. गाइडलाइंस के मुताबिक सार्वजनिक रूप से किसी भी तरह की भीड़ को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं दी जाएगी. ना ही पांच से ज्यादा लोग एक जगह इकट्ठा हो सकेंगे और ना ही ट्रेडमार्क बाइक रैली की इजाजत रहेगी.

10वीं और 12वीं की परीक्षा टली

गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार ने इस महीने राज्य बोर्ड द्वारा आयोजित होने वाली 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं टालने का सोमवार को फैसला किया. राज्य में 12वीं बोर्ड की परीक्षा 23 अप्रैल से और 10वीं कक्षा की परीक्षा 30 अप्रैल से शुरू होने वाली थी. राज्य की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने ट्वीट किया, ‘‘महाराष्ट्र में कोविड-19 के मौजूदा हालात के मद्देनजर हमने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को टालने का फैसला किया है.

Youtube Video

नई तारीखों की घोषणा जल्द

मौजूदा हालात परीक्षा आयोजित करने के अनुकूल नहीं हैं. आपका स्वास्थ्य हमारी प्राथमिकता है.’’ उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, ‘‘पेशेवर पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षा के कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए 12वीं कक्षा की परीक्षा मई के अंत में होगी और 10वीं की परीक्षा जून में आयोजित होगी.’’ गायकवाड़ ने कहा कि हालात की निगरानी की जा रही है और स्थगित की गयी परीक्षाओं के लिए तारीखों की घोषणा जल्द की जाएगी.

फैसले को मंजूरी देने के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का शुक्रिया अदा करते हुए गायकवाड़ ने कहा कि छात्रों के भविष्य, स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए विभिन्न वैकल्पिक मूल्यांकन पर भी विचार किया गया. मंत्री ने कहा, ‘‘परीक्षाएं स्थगित करना ही सबसे व्यावहारिक समाधान प्रतीत हुआ.’’





महाराष्ट्र में रविवार को कोविड-19 के एक दिन में सर्वाधिक 63,294 मामले आए थे. राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 34,07,245 हो गयी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज