Assembly Banner 2021

महाराष्ट्र: लोकल ट्रेन में बिना मास्क यात्रा करनेवालों की संख्या में इजाफा, बढ़ी बीएमसी-रेलवे की टेंशन

मुंबई की 'लाइफ लाइन' कही जाने वाली लोकल ट्रेन में सफर करते यात्री. (फाइल फोटो)

मुंबई की 'लाइफ लाइन' कही जाने वाली लोकल ट्रेन में सफर करते यात्री. (फाइल फोटो)

Maharashtra Lockdown: रेलवे का कहना है कि उन्होंने कार्रवाई तेज कर दी है, लेकिन यात्रियों से अपील है कि लोग मास्क के साथ यात्रा करें.

  • Last Updated: April 7, 2021, 1:56 PM IST
  • Share this:

मुंबई. बीएमसी और रेलवे की तमाम कोशिशों के बाद भी लोकल ट्रेनों में बिना मास्क यात्रा करने वालों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. रेलवे द्वारा जारी किए गए आंकड़े के मुताबिक फरवरी के मुकाबले मार्च में बिना मास्क यात्रा करने वालों की संख्या में काफी बढ़ोतरी दर्ज की गई है, जो बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए बीएमसी और रेलवे दोनों की चिंता को बढ़ा रही है.


मार्च में बिना मास्क यात्रा करने वालों की बढ़ती संख्या से चिंता इसलिए भी बढ़ रही है क्योंकि मार्च महीने में ही मुंबई में कोरोना के मामले बेहद तेज रफ्तार से बढ़े हैं. जो इस बात की गवाही दे रहे हैं कि लोगों की लापरवाही की वजह से मुंबई एक बार फिर से कोरोना के संकट से घिरती नजर आ रही है. मार्च में मुंबई में करीब 1 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं और एक्टिव केस की संख्या भी बढ़ी है.


रेलवे और बीएमसी द्वारा जारी किए गए आंकड़े के मुताबिक मध्य रेलवे में जहां फरवरी महीने में  करीब 4500 यात्री बिना मास्क यात्रा करते हुए पकड़े गए हैं, तो मार्च में यह संख्या 6000 के आंकड़े को छू गई है. फरवरी और मार्च महीने के आंकड़ों की बात करें तो कुल 10000 से ज्यादा लोग पकड़े जा चुके हैं, जिनसे करीब 22 लाख रुपये वसूले गए हैं. वहीं पश्चिम रेलवे में फरवरी में जहां 4017 लोग बिना मास्क यात्रा करते हुए पकड़े गए, वहीं मार्च में यह आंकड़ा 7000 के आंकड़े को छू गया है. मध्य और पश्चिम रेलवे के आंकड़े को मिलाकर देखें तो मार्च महीने में करीब 13000 लोग बिना मास्क यात्रा करते हुए पकड़े गए हैं.


Youtube Video

एक तरफ जहां हर दिन मुंबई में कोरोना के आंकड़े नए रिकॉर्ड बना रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ बिना मास्क के यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या बीएमसी और रेलवे दोनों को चिंता में डाल रही है. रेलवे का कहना है कि उन्होंने कार्रवाई तेज कर दी है, लेकिन यात्रियों से अपील है कि लोग मास्क के साथ यात्रा करें. मध्य रेलवे के सीपीआरओ शिवाजी सुतार ने बताया कि फरवरी के मुकाबले मार्च में बिना मास्क यात्रा करने वालों की संख्या तेजी से बढ़ी है. बिना मास्क वालों के खिलाफ हमारी कार्रवाई तेज कर दी गई है, लेकिन हम लगातार लोगों से अपील कर रहे हैं कि लोग मास्क पहनकर यात्रा करें.






बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने कड़े नियम और पाबंदियां तो लगा दी हैं, लेकिन यह देखना अहम है कि लोग इसका पालन कितना करते हैं, क्योंकि अगर मामले बढ़ते रहे तो लॉकडाउन की स्थिति दोबारा आ सकती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज