लाइव टीवी
Elec-widget

महाराष्ट्र के 18वें मुख्यमंत्री बने उद्धव ठाकरे, कार्यक्रम में पहुंचे शरद पवार, राज ठाकरे समेत ये नेता

News18Hindi
Updated: November 28, 2019, 9:32 PM IST
महाराष्ट्र के 18वें मुख्यमंत्री बने उद्धव ठाकरे, कार्यक्रम में पहुंचे शरद पवार, राज ठाकरे समेत ये नेता
उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के 18वें मुख्यमंत्री बन गए हैं. ठाकरे ने मुंबई के शिवाजी पार्क में सीएम पद की शपथ ली (साभार: ट्विटर)

उद्धव बालासाहेब ठाकरे (Uddhav Balasaheb Thackeray) ने गुरुवार को महाराष्ट्र (Maharashtra) के 18वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. उद्धव ठाकरे के साथ शिवसेना (Shivsena), एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) के दो-दो मंत्रियों ने भी शपथ ली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 9:32 PM IST
  • Share this:
मुंबई. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने गुरुवार को महाराष्ट्र (Maharashtra) में शिवसेना (Shivsena), एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) के ‘महाराष्ट्र विकास अघाड़ी’ गठबंधन सरकार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. उद्धव ठाकरे के साथ शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के दो-दो मंत्रियों ने भी शपथ ली. जहां शिवसेना की ओर से एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) और सुभाष देसाई (Subhash Desai) तो एनसीपी से जयंत पाटिल (Jayant Patil) और छगन भुजबल (Chagan Bhujbal) ने भी मंत्री पद की शपथ ली. कांग्रेस की तरफ से राज्य कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहेब थोराट (Balasaheb Thorat) और नितिन राउत (Nitin Raut) ने भी उद्धव कैबिनेट के मंत्री के रूप में शपथ ली. मुंबई के शिवाजी पार्क में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. इस मौके पर तीनों दलों के वरिष्ठ नेता और हजारों कार्यकर्ता मौजूद थे.

शिवाजी पार्क में शपथ ग्रहण के लिए पहुंचने के बाद उद्धव ने सबसे पहले शिवाजी महाराज की मूर्ति को नमन किया. शपथ ग्रहण करने के तुरंत बाद उन्होंने मत्था टेककर जनता का अभिवादन किया और फिर समारोह में मौजूद सभी नेताओं का अभिवादन किया. उद्धव ठाकरे शिवसेना से मुख्यमंत्री बनने वाले तीसरे व्यक्ति हैं. विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के 36 दिन बाद शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की गठबंधन सरकार का गठन हुआ है.

बदल गई थी महाराष्ट्र की सियासी तस्वीर

इससे पहले पिछले शनिवार को नाटकीय घटनाक्रम में महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री पद की, जबकि एनसीपी नेता अजित पवार को उप मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी. महाराष्ट्र की राजनीति में यह एक अप्रत्याशित घटनाक्रम था.

हालांकि, मंगलवार को एनसीपी नेता अजित पवार ने व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए उप मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. इसके बाद, फडणवीस ने अपने पास जरूरी संख्या (विधायकों की) नहीं होने का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया.

शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन ने मंगलवार शाम महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद के लिए उद्धव ठाकरे को अपना नेता चुना. इसके बाद गठबंधन के नेताओं ने राज्यपाल से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा पेश किया.
Loading...


विधानसभा और विधान परिषद के सदस्य नहीं हैं उद्धव
उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र में उन सात नेताओं की जमात में शामिल हो गए हैं जो विधानसभा या विधान परिषद का सदस्य नहीं रहते हुए भी मुख्यमंत्री बने हैं. कांग्रेस नेता ए आर अंतुले, वसंतदादा पाटील, शिवाजीराव निलंगेकर पाटील, शंकरराव चव्हाण, सुशील कुमार शिंदे और पृथ्वीराज चव्हाण उन नेताओं में शामिल हैं जो मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते वक्त राज्य विधानमंडल के किसी सदन के सदस्य नहीं थे. तत्कालीन कांग्रेस नेता एवं मौजूदा एनसीपी प्रमुख शरद पवार का नाम भी इन्हीं नेताओं में शुमार है.

संविधान के प्रावधानों के अनुसार कोई नेता यदि विधानसभा या विधान परिषद का सदस्य नहीं है तो उसे पद की शपथ लेने के छह महीने के भीतर विधानसभा का सदस्य बनना होता है.

ये नेता हुए शामिल
शपथ ग्रहण समारोह में एनसीपी प्रमुख शरद पवार एवं पार्टी नेता अजित पवार और सुप्रिया सुले, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, केसी वेणुगोपाल और मल्लिकार्जुन खड़गे, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, मनसे प्रमुख राज ठाकरे, द्रमुक नेता एमके स्टालिन और कई अन्य नेता मौजूद थे.

(भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें -
बाल ठाकरे ने सचिन तेंदुलकर को दी थी सख्‍त चेतावनी, 'बॉम्‍बे' का किया था विरोध


महाराष्ट्र: सेक्युलर सरकार, 80% जॉब कोटा, एक रुपये में इलाज और किसानों को राहत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 9:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...