महाराष्ट्र: विशाल पत्थर गिरने से कार चकनाचूर, लेकिन बाल-बाल बचे दोनों सवार, मुंबई सहित तीन जिलों में बारिश का रेड अलर्ट

मुंबई के पारले में भारी बारिश के बाद सड़कों पर जलजमाव से गुजरती गाड़ियां. (पीटीआई फाइल फोटो)

Maharashtra Rain: अधिकारियों ने कहा, ‘जब पत्थर कार पर गिरा तब दोनों लोग चाय पीने के लिए उससे उतर चुके थे. उन्होंने अपनी आंखों के सामने यह घटना होती देखी.’

  • Share this:
    ठाणे. महाराष्ट्र में दो व्यक्ति उस समय बाल-बाल बच गए जब वे ठाणे और अहमदनगर जिलों की सीमाओं पर स्थित मालशेज घाट क्षेत्र में चाय पीने के लिए अपनी कार से उतरे और तभी एक विशाल पत्थर उनकी कार पर गिर गया.

    अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि यह घटना शुक्रवार की है जिसमें कार पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गयी. उन्होंने कहा, ‘जब पत्थर कार पर गिरा तब दोनों लोग चाय पीने के लिए उससे उतर चुके थे. उन्होंने अपनी आंखों के सामने यह घटना होती देखी.’

    मुंबई में मूसलाधार बारिश से कई सड़कें तालाब में तब्दील, तीन दिनों में दूसरी बार डूबा अंधेरी सब-वे

    उन्होंने बताया कि इस घटना से कुछ समय के लिए यातायात बाधित हो गया, लेकिन राजमार्ग बचाव दल घटनास्थल पर पहुंचा और उन्होंने अहमदनगर की ओर जाने वाले वाहनों के लिए रास्ता साफ कराया.

    मुंबई: 11 दिनों में ही हो गई महीने भर जितनी बारिश, IMD ने रविवार तक के लिए जारी किया हाई अलर्ट

    इस बीच मुंबई और इसके पड़ोसी क्षेत्रों के दूरदराज इलाकों में रविवार को अत्यंत बारिश की ‘अत्यधिक संभावना’ है. मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार शाम में एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी. विभाग ने महाराष्ट्र के रत्नागिरि और रायगढ़ जिलों के लिए भी ऐसा ही ‘रेड अलर्ट’ जारी किया है. आईएमडी ने कहा कि मुंबई और पड़ोसी ठाणे के कुछ स्थानों में शनिवार को भी भारी बारिश हो सकती है. 24 घंटे के भीतर 204.55 मिमी से ज्यादा बारिश को अत्यंत भारी बारिश माना जाता है.

    आईएमडी के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा, ‘मुंबई, ठाणे, रायगढ़ और रत्नागिरि जिलों में रविवार को दूरदराज इलाक़ों में अत्यंत भारी बारिश हो सकती है. रायगढ़ और रत्नागिरि जिलों में शनिवार के लिए भी इसी तरह का अलर्ट जारी है.’

    वहीं, महाराष्ट्र के 36 में से 21 जिलों में एक से 10 जून के बीच 60 प्रतिशत अधिक वर्षा हुई. भारत मौसम विज्ञान विभाग ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. एक से 10 जून के बीच इन जिलों में ‘काफी अधिक’ बारिश हुई जो इस अवधि के औसत से साठ प्रतिशत अधिक है. मुंबई के अलावा तटीय जिले ठाणे, रायगढ और पालगढ़ भारी बारिश वाले जिलों में शामिल हैं. रत्नागिरि ,बुलढ़ाना,नागपुर और भंडारा में ‘अधिक’ वर्षा हुई वहीं आठ जिलों में सामान्य वर्षा हुई.

    मध्य महाराष्ट्र के अकोला और लातूर केवल दो जिले ऐसे हैं जहां कम वर्षा हुई. आईएमडी पुणे के वरिष्ठ वैज्ञानिक के एस होसालिकर ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा कि इनमें से अधिकतर मॉनसून पूर्व वर्षा थी ‘लेकिन इनकी तीव्रता अधिक थी और इस दौरान गरज के साथ बौछारें पड़ी और बिजली चमकी.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.