Home /News /nation /

महाराष्ट्र: सिद्धिविनायक, शिरडी मंदिर आज से खुलेंगे, नियमों का पालन जरूरी

महाराष्ट्र: सिद्धिविनायक, शिरडी मंदिर आज से खुलेंगे, नियमों का पालन जरूरी

महाराष्‍ट्र में सभी धार्मिक स्‍थल 7 अक्‍टूबर से आम जनता के लिए खुल गए हैं.

महाराष्‍ट्र में सभी धार्मिक स्‍थल 7 अक्‍टूबर से आम जनता के लिए खुल गए हैं.

महाराष्‍ट्र के विश्‍वप्रसिद्ध सिद्धिविनायक (Siddhivinayak Temple) और शिरडी मंदिर (Shirdi Sai Baba Mandir) सहित सभी धार्मिक स्‍थल 7 अक्‍टूबर से आम जनता के लिए खुल जाएंगे. महाराष्‍ट्र सरकार ने लोगों को कोविड-19 की गाइडलाइन (Covid-19 Guidelines) का सख्‍ती से पालन करने को कहा है. मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने कहा है कि कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए सतर्कता बरतें.

अधिक पढ़ें ...

    मुंबई.  महाराष्‍ट्र के विश्‍वप्रसिद्ध सिद्धिविनायक (Siddhivinayak Temple) और शिरडी मंदिर (Shirdi Sai Baba Mandir) सहित सभी धार्मिक स्‍थल 7 अक्‍टूबर से आम जनता के लिए खुल जाएंगे. यह नवरात्रि का पहला दिन होगा. हालांकि महाराष्‍ट्र सरकार ने लोगों को कोविड-19 की गाइडलाइन (Covid-19 Guidelines)  का सख्‍ती से पालन करने को कहा है. मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने कहा है कि कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए सतर्कता बरतें. महाराष्ट्र सरकार ने 4 अक्टूबर से ग्रामीण क्षेत्रों में कक्षा 5 से 12 के लिए और शहरी क्षेत्रों में 8 से 12 तक के स्कूलों को फिर से खोलने की घोषणा की है.

    जारी की गई चेतावनी में सरकार ने कहा है कि सभी धार्मिक स्‍थलों में लोगों को फेस मास्‍क पहनना और हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करना होगा. इन उपायों के लिए संबंधित धार्मिक स्‍थल का प्रबंधन जिम्‍मेदार होगा. किसी प्रकार का प्रसाद नहीं बांटा जाएगा, पवित्र जल का छिड़काव नहीं होगा. मूर्तियों, पवित्र पुस्‍तकों या वस्‍तुओं को नहीं छुआ जाएगा. सोशल डिस्‍टेंस बनाए रखने के लिए व्‍यवस्‍था करनी होगी. दो व्‍यक्तियों के बीच 6फीट का अंतर रखना होगा. राज्य सरकार ने वरिष्ठ नागरिकों, गर्भवती महिलाओं और 10 साल से कम उम्र के बच्चों को घर पर रहने की सलाह दी है. आदेश में कहा है कि प्रबंधन के लिए यदि संभव हो तो श्रद्धालुओं के लिए अलग से प्रवेश और निकास द्वार बनाए जाएं. भीड़ से बचने के उपाय किए जाएं. लोगों को एक-दूसरे का अभिवादन करते समय शारीरिक संपर्क से बचना चाहिए.

    ये भी पढ़ेंं :   21 हजार करोड़ के ड्रग्स मामले में NIA की एंट्री, टेरर लिंक की भी होगी जांच

    सिद्धिविनायक: एप पर कराएं प्री बुकिंग फिर कर सकेंगे दर्शन

    श्री सिद्धिविनायक गणपति मंदिर ट्रस्ट ने घोषणा की है कि मुंबई का सिद्धिविनायक मंदिर, तीर्थयात्रियों के लिए फिर से खुल जाएगा. ट्रस्ट के अध्यक्ष आदेश बांदेकर ने कहा कि सभी भक्तों को श्री सिद्धिविनायक मंदिर ट्रस्ट ऐप पर प्री-बुकिंग करनी होगी, इससे एक क्यूआर कोड मिलेगा और इसके माध्यम से ही मंदिर के अंदर प्रवेश दिया जाएगा. उन्‍होंने कहा कि हर घंटे केवल 250 भक्तों को दर्शन के लिए क्यूआर कोड दिए जाएंगे. उन्होंने कहा कि भक्तों को सामाजिक दूरी, मास्क पहनना आदि जैसे उपाय करना होगा. साथ ही सभी लोगों को थर्मल स्कैनर से तापमान की जांच के बाद ही मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी. बांदेकर ने कहा कि भक्तों के लिए ऐप के जरिए पंजीकरण 6 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे से शुरू हो गया है. उसके बाद, प्रत्येक गुरुवार को, ऐप अगले सप्ताह के लिए पंजीकरण लेगा.

    शिरडी साई बाबा मंदिर में ऑनलाइन स्‍लॉट बुक कराना होगा

    शिरडी साई बाबा मंदिर में भी कोविड -19 सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करना होगा. इसके बाद ही श्रद्धालुओं को प्रवेश की अनुमति मिलेगी. श्री साई बाबा संस्थान ट्रस्ट ने एक ऑनलाइन बुकिंग विंडो की व्‍यवस्‍था की है. इसके जरिए ही स्‍लॉट बुक होगा और फिर दर्शन के लिए श्रद्धालु जा सकेंगे. संस्‍थान ने कहा है कि लंबी कतार से बचने के लिए यह उपाय किया गया है.

    ये भी पढ़ें :   OPNION: ये मोदी का स्टाइल है, 20 साल से असरदार गवर्नेंस का मोदी मॉडल

    महाराष्ट्र में मिली लॉकडाउन से छूट
    महाराष्ट्र सरकार ने चरणबद्ध तरीके से कोविड-19 लॉकडाउन से छूट दी है. राज्य सरकार ने पहले लोकल ट्रेनों को फ्रंटलाइन और आवश्यक सेवा कर्मचारियों के लिए खोलने की अनुमति दी थी और शर्त रखी थी कि यह सुविधा केवल उन नागरिकों के लिए होगी जिन्हें पूरी तरह से टीका लगाया गया है. यानी, वे लोग जो कोविड वैक्सीन की दोनों खुराक प्राप्त कर चुके हैं और 15 अगस्त से दूसरे शॉट के 14 दिन बाद पूरे कर चुके हैं. इसके बाद रेस्टोरेंट को कोविड दिशा-निर्देशों के साथ 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोलने की अनुमति दी है. काम करने वाले सभी कर्मचारियों को पूरी तरह से टीका लगा होना चाहिए. सभी रेस्तरां पूरे दिन रात 10 बजे तक संचालित हो सकते हैं. हालांकि, पार्सल सेवाओं को 24 घंटे की अनुमति है. सभी आवश्यक और गैर-आवश्यक दुकानें सभी दिनों में रात 10 बजे तक संचालित हो सकती हैं. इनमें काम करने वाले सभी लोगों का पूर्ण टीकाकरण जरूरी है. जिम, योग केंद्र, सैलून, स्पा, ब्यूटी पार्लर सभी दिन सुबह 10 बजे तक 50 प्रतिशत क्षमता से संचालित हो सकते हैं. सभी कर्मचारियों को पूरी तरह से टीका लगा होना चाहिए.

    कार्यालयों के कर्मचारियों की कुल संख्या के 25% पर काम करने की अनुमति है. वहीं, शिफ्ट में काम करने वाले निजी कार्यालय के कर्मचारी, नियमों का पालन करते हुए 24 घंटों में किसी भी समय अपने काम कर सकते हैं. होटल/मैरिज हॉल जैसे बंद परिसरों में अधिकतम 100 लोगों के साथ और खुली हवा में अधिकतम 200 लोगों के साथ विवाह की अनुमति है. बैडमिंटन, टेबल टेनिस, स्क्वाश, पैरेलल बार, मल्लखंब जैसे सभी इनडोर खेलों की अनुमति है, जिसमें प्रति खेल में केवल दो खिलाड़ियों की अनुमति है. खिलाड़ि‍यों, कर्मचारियों समेत सभी का पूर्ण टीकाकरण करना जरूरी है.

    अधिक कोरोना मामले आने पर अहमदनगर में पाबंदी 

    अधिक मामलों के कारण, अहमदनगर जिले के 10 से अधिक COVID-19 मामलों वाले 61 गांवों में सोमवार से 13 अक्टूबर तक सख्त लॉकडाउन जैसे प्रतिबंध लगाए गए थे. अहमदनगर के कलेक्टर राजेंद्र भोसले ने बताया कि ये गांव अकोला, कर्जत, कोपरगांव, नेवासा, पारनेर, पाथर्दी, रहाटा, संगमनेर, शेवगांव, श्रीगोंडा और श्रीरामपुर तहसील में हैं. उन्‍होंने बताया कि जिले में प्रतिदिन 500-800 मामले सामने आ रहे हैं और सकारात्मकता दर 5 प्रतिशत से अधिक है. इसलिए 10 से अधिक एक्टिव केस वाले गांवों में एहतियाती उपाय लागू करने के निर्देश जारी किए गए हैं. चूंकि कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन नहीं किया जा रहा था, इसलिए हमने 11 तहसीलों के 61 गांवों में सख्त प्रतिबंध लगाए हैं. सरकारी आदेश के अनुसार, मेडिकल स्टोर, क्लीनिक और डायग्नोस्टिक लैब जैसी आवश्यक दुकानों को छोड़कर सभी दुकानें 4 अक्टूबर से 13 अक्टूबर तक बंद रहेंगी, जबकि इन गांवों में 5 से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर रोक लगा दी गई है. आपातकालीन सेवाओं, कृषि उपज के परिवहन, अन्य आवश्यक सेवाओं को इससे बाहर रखा गया है. किराना दुकानों को सुबह 8 से 11 बजे के बीच काम करने की अनुमति है. इस दौरान इन इलाकों के सभी धार्मिक स्थल और स्कूल बंद रहेंगे.

    Tags: CM Uddhav Thackeray, Covid-19 Guidelines, Shirdi Sai Baba Mandir, Siddhivinayak Temple

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर