महाराष्ट्र: कांग्रेस नेता नाना पटोले के फोन टैपिंग के आरोपों की जांच के लिए समिति का गठन

कांग्रेस नेता नाना पटोले का फाइल फोटो....

पटोले ने इस साल की शुरुआत में आरोप लगाया था कि देवेंद्र फडणवीस नीत पूर्ववर्ती सरकार में 2016-17 में उनके साथ ही राकांपा, भाजपा और शिवसेना के अनेक महत्वपूर्ण नेताओं तथा कई आईएएस एवं आईपीएस अधिकारियों के फोन की टैपिंग कराई गयी. कांग्रेस ने इस मामले में उच्चस्तरीय जांच की मांग की थी.

  • Share this:
    मुंबई. महाराष्ट्र सरकार ने कांग्रेस नेता नाना पटोले द्वारा राजनीतिक उद्देश्यों के लिए कई प्रसिद्ध व्यक्तियों के फोन टैपिंग के आरोपों की जांच के लिए डीजीपी महाराष्ट्र की अध्यक्षता में एक 3 सदस्यीय जांच समिति का गठन किया. यह कमेटी मामले की जांच करेगी और 3 महीने में रिपोर्ट देगी. शुक्रवार को महाराष्ट्र के गृह विभाग ने फोन टैपिंग प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच समिति के गठन के संबंधन में शासनादेश जारी किया है.

    इस आदेश के अनुसार सरकार ने जांच समिति को 2015 से 2019 के फोन टैपिंग प्रकरण की पड़ताल कर राजनीतिक उद्देश्य से जनप्रतिनिधियों का फोन गैर कानूनी तरीके से टैक करने को लेकर जांच करनी होगी. यदि फोन टैपिंग हुई होगी, तो जांच समिति को संबंधित लोगों के खिलाफ जिम्मेदारी निश्चित करनी होगी. पटोले ने इस साल की शुरुआत में आरोप लगाया था कि देवेंद्र फडणवीस नीत पूर्ववर्ती सरकार में 2016-17 में उनके साथ ही राकांपा, भाजपा और शिवसेना के अनेक महत्वपूर्ण नेताओं तथा कई आईएएस एवं आईपीएस अधिकारियों के फोन की टैपिंग कराई गयी. कांग्रेस ने इस मामले में उच्चस्तरीय जांच की मांग की थी.



    पटोले के आरोपों पर राज्य के गृह मंत्री दिलीप वाल्से पाटिल ने उच्चस्तरीय जांच की घोषणा राज्य विधानसभा में की थी. उन्होंने कहा, ‘‘ इस मामले की उच्चस्तरीय जांच कराई जाएगी और कार्रवाई की जाएगी. ’’ उन्होंने कहा कि जांच रिपोर्ट अगले विधानसभा सत्र में सदन में पेश की जाएगी. मंत्री ने कहा कि पुलिस अधिकारियों को अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) से टेलीफोन बातचीत पर निगरानी रखने की अनुमति मांगते समय फोन नंबर और कारण बताने होते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.