Assembly Banner 2021

महात्मा गांधी के पड़पोते सतीश धुपेलिया का कोरोना वायरस संक्रमण से निधन

सतीश धूपेलिया का निधन. (Pic- Facebook)

सतीश धूपेलिया का निधन. (Pic- Facebook)

सतीश धुपेलिया (Satish Dhupelia) का कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) संबंधी जटिलताओं के चलते रविवार को यहां निधन हो गया. वह 66 वर्ष के थे और तीन दिन पहले ही उनका जन्मदिन था.

  • भाषा
  • Last Updated: November 23, 2020, 11:47 AM IST
  • Share this:
जोहानिसबर्ग. महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के दक्षिण अफ्रीका मूल के पड़पोते सतीश धुपेलिया (Satish Dhupelia) का कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) संबंधी जटिलताओं के चलते रविवार को यहां निधन हो गया. वह 66 वर्ष के थे और तीन दिन पहले ही उनका जन्मदिन था. उनके परिवार के सदस्य ने यह जानकारी दी.

धुपेलिया की बहन उमा धुपेलिया-मेस्थरी ने इस बात की पुष्टि की कि उनके भाई की कोविड-19 संबंधित जटिलताओं से मौत हो गई है. उन्होंने बताया कि उनके भाई को निमोनिया हो गया था और उसके उपचार के लिए वह एक माह अस्पताल में थे और वहीं वह संक्रमण की चपेट में आ गए.





उन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट में कहा,‘‘निमोनिया से एक माह पीड़ित रहने के बाद मेरे प्यारे भाई का निधन हो गया. अस्पताल में उपचार के दौरान वह कोविड-19 की चपेट में आ गए थे. सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में उन्होंने कहा,‘‘ आज शाम उन्हें दिल का दौरा पड़ा.’’ उनके परिवार में दो बहने उमा और कीर्ति मेनन हैं, जो यहीं रहती हैं.

ये तीनों भाई बहन मणिलाल गांधी के वारिस हैं, जिन्हें महात्मा गांधी अपने कार्यों को पूरा करने के लिए दक्षिण अफ्रीका में ही छोड़ कर भारत लौट आए थे. धुपेलिया ने अपना ज्यादातर जीवन मीडिया में खासकर वीडियोग्राफर एवं फोटोग्राफर के रूप में बिताया. वह गांधी डेवलपमेंट ट्रस्ट के लिए भी सक्रियता से काम कर रहे थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज