ओडिशा के मंदिर में महात्मा गांधी की पूजा की गई

ओडिशा के मंदिर में महात्मा गांधी की पूजा की गई
सम्बलपुर जिले में भटरा स्थित गांधी मंदिर में लोगों ने की पूजा

महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की जयंती पर सम्बलपुर (Sambalpur) जिले में भटरा स्थित गांधी मंदिर में आंगुतकों का जमावड़ा लगा रहा. राष्ट्रपिता की 6 फीट उंची कांस्य प्रतिमा पर लोगों ने पुष्प चढ़ाए.

  • Share this:
सम्बलपुर (ओडिशा). महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की 150वीं जयंती के अवसर पर बुधवार को सम्बलपुर (Sambalpur) जिले में भटरा स्थित गांधी मंदिर में आंगुतकों का जमावड़ा लगा रहा. वैसे तो भारत के कई गांव शहर में महात्मा गांधी की प्रतिमाएं लगी हुई हैं लेकिन इस गांव में बापू का मंदिर बना हुआ है. इस मंदिर में तिरंगे के नीचे गांधीजी की प्रतिमा है जिसकी उंचाई करीब 6 फीट है. लोगों ने राष्ट्रपिता की कांस्य प्रतिमा पर पुष्प चढ़ाए और उनके सामने भजन गाए. कई सामाजिक संगठनों ने प्रतिमा पर माल्यार्पण किया.



गांधीजी 1928 में आजादी के आंदोलन के समय यहां आए थे. पूर्व विधायक अभिमन्यु कुमार ने कहा कि 1932 में संबल में गांधी के भाषण ने उन्हें प्रेरित किया. वह महापुरुष थे उनके भाषण ने मंदिर बनाने के लिए मुझे प्रेरणा दी. उन्होंने ग्रामीणों को जागरूक किया और छुआछूत जैसी सामाजिक बुराई छोड़ने को कहा था. कुमार ने 1974 में इस मंदिर की स्थापना की थी. भटरा निवासी रोज सुबह-शाम यहां आते हैं और पुजारी के साथ गीता का पाठ होता है और राम धुन गाया जाता है.




मंदिर बनाने के लिए गांववालों अपनी इच्छानुसार दान दिया और निर्माण कार्य शुरू हुआ. मंदिर के पुजारी राधाकांत बैग ने कहा कि इस मंदिर में सभी समुदायों एवं वर्गों के लोग आते हैं.
मंदिर का उद्घाटन प्रदेश की तत्कालीन मुख्यमंत्री नंदिनी सतपथी ने किया था. गांधी जयंती पर यहां का नजारा अलग ही होता है.

ये भी पढ़ें : गांधी जयंती पर सरकार का बड़ा फैसला, जम्मू में खत्म की इन नेताओं की नजरबंदी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading