कठुआ मामला: सीएम महबूबा ने मंजूर किए BJP के दो मंत्रियों के इस्तीफे

कठुआ मामला: सीएम महबूबा ने मंजूर किए BJP के दो मंत्रियों के इस्तीफे
महबूबा मुफ्ती (फ़ाइल फोटो)

दोनों मंत्रियों का शनिवार को कहना था कि उन्हें पार्टी ने कठुआ भेजा था ताकि जमीनी स्थिति समझी जा सके. दोनों मंत्री बलात्कार के आरोपियों के समर्थन में आयोजित इस रैली में मौजूद थे जहां तिरंगे भी फहराए गए.

  • Share this:
जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने रविवार को भाजपा के दो विवादित मंत्रियों के इस्तीफे मंजूर किए. कठुआ में आठ साल की मुस्लिम लड़की के बलात्कार और हत्या के संबंध में गिरफ्तार हुए आरोपियों के समर्थन में आयोजित एक रैली आयोजित की गयी. जिसमें भाजपा के दो विवादित मंत्री, लाल सिंह और चन्द्र प्रकाश भी शामिल हुए थे.

अधिकारियों ने कहा कि सिंह और गंगा के इस्तीफे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सत शर्मा से रविवार की सुबह मिले. जिन्हें तुरंत मंजूर कर लिया गया और प्रोसेस से जुड़ी फॉर्मेलिटीज़ को पूरा करने के लिए उन्हें राज्यपाल एन एन वोहरा के पास भेजा गया.

इन इस्तीफों के साथ राज्य सरकार में मंत्रियों की संख्या घटकर 22 हो गई है जिसमें भाजपा के नौ मंत्री हैं.



उन्होंने कहा कि मंत्रिपरिषद में तीन पद खाली हैं क्योंकि पीडीपी ने पिछले महीने वित्त मंत्री हसीब द्राबू को पद से हटा दिया था. जम्मू में शनिवार को पार्टी के विधायकों के साथ सलाह मशविरा करने वाले भाजपा महासचिव राम माधव ने घोषणा की थी कि आगे की कार्रवाई के लिए इस्तीफे आगे बढाए जाएंगे.
रैली का आयोजन एक बच्ची के बलात्कार और हत्या के संबंध में एक मंदिर का रख रखाव करने वाले के भतीजे को गिरफ्तार करने के बाद किया गया था. जांच के दौरान, पुलिस ने रख रखाव करने वाले को गिरफ्तार कर के आरोप लगाया था कि वह इस लड़की के बलात्कार और हत्या का मुख्य साजिशकर्ता था. पुलिस ने दावा किया था कि अपराध की मंशा घुमंतू समुदाय को आतंकित करना और उन्हें गांव से बाहर करना था.

लड़की का 10 जनवरी को अपहरण किया गया था और उसका शव 17 जनवरी को मिला. जांच के दौरान क्राइम ब्रांच ने आरोप लगाया कि उसे नशीली दवा दी गई और उसकी हत्या से पहले उसके साथ बार बार बलात्कार किया गया.

दोनों मंत्रियों का शनिवार को कहना था कि उन्हें पार्टी ने कठुआ भेजा था ताकि जमीनी स्थिति समझी जा सके. दोनों मंत्री बलात्कार के आरोपियों के समर्थन में आयोजित इस रैली में मौजूद थे जहां तिरंगे भी फहराए गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज