Home /News /nation /

mainpuri karhal assembly seat result live update win loss sp singh baghel akhilesh yadav gyanvati yadav kuladip narayan

Karhal Election Result UPDATE: अखिलेश यादव के सामने मुर्झा गया 'कमल', करहल सीट पर दर्ज की जीत

अखिलेश यादव ने दर्ज की जीत

अखिलेश यादव ने दर्ज की जीत

mainpuri Karhal assembly seat result live: मैनपुरी जिले की करहल विधानसभा सीट से अखिलेश यादव ने बड़ी जीत दर्ज की है. अखिलेश के मुकाबले में जहां भाजपा ने केंद्रीय मंत्री डॉ. एसपी सिंह बघेल (Dr. S.P. Singh Baghel) पर दांव खेला था, तो कांग्रेस ने ज्ञानवती यादव (Gyanvati Yadav) को अपना उम्मीदवार बनाया था. बसपा की तरफ से कुलदीप नारायण (Kuladip Narayan) चुनाव में उतरे थे.

अधिक पढ़ें ...

Karhal Vidhan Sabha Chunav Result Live: मैनपुरी जिले की करहल विधानसभा सीट इस बार के यूपी विधानसभा चुनाव में सुपर वीआईपी सीट मानी जा रही थी क्योंकि यहां से समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) चुनावी मैदान में थे. अखिलेश यादव ने बीजेपी को हराकर यहां बड़ी जीत दर्ज की है. उन्होंने बीजेपी के एसपी सिंह बघेल को 67,504 वोटों से हराया है.

अखिलेश ने एस पी सिंह बघेल को बुरी तरह से हराया है. समाजवादियों का गढ़ मानी जाने वाली इस सीट पर बीजेपी और कांग्रेस सिर्फ एक बार ही जीत दर्ज करा पाई हैं. अखिलेश के मुकाबले में जहां भाजपा ने केंद्रीय मंत्री डॉ. एसपी सिंह बघेल (Dr. S.P. Singh Baghel) पर दांव खेला है, तो कांग्रेस ने ज्ञानवती यादव (Gyanvati Yadav) को अपना उम्मीदवार बनाया है. बसपा की तरफ से कुलदीप नारायण (Kuladip Narayan) चुनाव में उतरे हैं.

करहल विधानसभा सीट पर पहला चुनाव साल 1957 में हुआ था. पहले चुनाव में ही इस सीट पर समाजवादियों का कब्‍जा हो गया था. प्रजा सोशलिस्‍ट पार्टी ने तब इस पर जीत दर्ज की थी. कांग्रेस यहां सिर्फ एक बार 1980 में जीत पाई. करहल विधानसभा क्षेत्र से स्‍वतंत्र पार्टी, बीकेडी, लोकदल, जनता पार्टी और जनता दल के उम्‍मीदवार ही जीतते रहे हैं. साल 1993 के बाद से यहां समाजवादी पार्टी का कब्‍जा हुआ. बीच के वर्षों में सिर्फ एक बार साल 2002 में यहां बीजेपी को जीत मिल पाई थी. तब सपा विधायक सोबरन सिंह यादव ने यहां से भाजपा का परचम फहराया था.

करहल विधानसभा सीट मुलायम सिंह यादव के पैतृक कस्‍बे सैफई के करीब है. यह एक वजह भी है, जिसके कारण इसे समाजवादी पार्टी का गढ़ माना जाता है. इसके अलावा करहल विधानसभा सीट पर यादव मतदाताओं का दबदबा रहा है. यहां के कुल 3.55 लाख मतदाताओं में से यादव वोटरों की संख्या 1.25 लाख है. वहीं शाक्‍य 35 हजार, क्षत्रिय 30 हजार और दलित मतदाताओं की संख्‍या कुल 22 हजार है. इसके अलावा ब्राह्मण मतदाताओं की संख्या 16 हजार है.

बाबूराम यादव यहां से सबसे अधिक पांच बार विधायक रहे. पहला चुनाव उन्‍होंने 1985 में लोकदल से जीता था, आखिरी दो चुनाव 1993 और 96 का समाजवादी पार्टी से. निवर्तमान विधायक सोबरन सिंह ने भी लगातार चार बार जीत दर्ज की है. पिछला चुनाव भी उन्‍होंने रिकॉर्ड 38 हजार से अधिक मतों से जीता था. उन्‍हें 104221 वोट मिले थे, वहीं भाजपा की रामा शाक्‍य को 65816 मत मिले थे. 2017 में मोदी लहर के बावजूद करहल में सपा की जबरदस्त जीत हुई थी.

Tags: Assembly elections, Uttar Pradesh Elections

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर