माजेरहाट पुल हादसा: KMDA को रेलवे ने पहले ही किया था आगाह

केएमडीए को 27 जुलाई को भेजे गये एक पत्र में पूर्व रेलवे जोन के उप मुख्य अभियंता ने पुल में कई खामियां बताते हुए उसके निरीक्षण की जरूरत बताई थी.

भाषा
Updated: September 5, 2018, 8:40 PM IST
माजेरहाट पुल हादसा: KMDA को रेलवे ने पहले ही किया था आगाह
हादसे के बाद का दृश्य
भाषा
Updated: September 5, 2018, 8:40 PM IST
रेलवे ने माजेरहाट पुल हादसा होने से पहले ही कोलकाता मेट्रोपॉलिटन डेवलपमेंट ऑथोरिटी (केएमडीए) को कमजोर बीम, बाहर निकली हुई सरिया और नींव में पड़ी दरारों को लेकर आगाह किया था.

गौरतलब है कि मंगलवार को 50 साल पुराने माजेरहाट पुल का एक हिस्सा गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि कई लोग मलबे में दबकर घायल हो गए. सियालदा-बज रेलवे लाइन पर माजेरहाट रेलवे स्टेशन के ऊपर से एक पुल गुजरता है.

केएमडीए को 27 जुलाई को भेजे गये एक पत्र में पूर्व रेलवे जोन के उप मुख्य अभियंता ने पुल में कई खामियां बताते हुए उसके निरीक्षण की जरूरत बताई थी. इस पत्र की एक प्रति रेलवे के वरिष्ठ उप अभियंता, सियालदा को भी भेजी गयी थी.

केएमडीए कोलकाता मेट्रोपॉलिटन की योजना और विकास के लिए वैधानिक प्राधिकार है और राज्य के शहरी विकास मंत्री फिरहाद हकीम बोर्ड के अध्यक्ष हैं.

केएमडीए को भेजे गए पत्र में अभियंता ने लिखा है कि पुल का भार उठाने वाले आरसीसी बीम की हालत सही नहीं है और इसे बेहद जल्दी योजनाबद्ध तरीके से बदलने की जरूरत है.

ये भी पढें: कोलकाता में पुल हादसे के लिए ज़िम्मेदार कौन?
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर