Home /News /nation /

सुप्रीम कोर्ट ने चौपाटी पर 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम को दी मंजूरी

सुप्रीम कोर्ट ने चौपाटी पर 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम को दी मंजूरी

NEW DELHI, INDIA - SEPTEMBER 25: Prime Minister Narendra Modi arrives to unveil the logo at the launch of 'Make in India' campaign on September 25, 2014 in New Delhi, India. Make in India campaign is launched to enticing investment and promoting India as the next manufacturing powerhouse. (Photo by Arvind Yadav/Hindustan Times via Getty Images)

NEW DELHI, INDIA - SEPTEMBER 25: Prime Minister Narendra Modi arrives to unveil the logo at the launch of 'Make in India' campaign on September 25, 2014 in New Delhi, India. Make in India campaign is launched to enticing investment and promoting India as the next manufacturing powerhouse. (Photo by Arvind Yadav/Hindustan Times via Getty Images)

सुप्रीम कोर्ट ने बंबई हाईकोर्ट के एक आदेश पर आज रोक लगाते हुए महाराष्ट्र सरकार को ‘मेक इन इंडिया वीक’ कार्यक्रम की शुरुआत करने के लिए मुंबई के गिरगांव चौपाटी समुद्र तट पर एक समारोह आयोजित करने की अनुमति दी।

    नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बंबई हाईकोर्ट के एक आदेश पर आज रोक लगाते हुए महाराष्ट्र सरकार को ‘मेक इन इंडिया वीक’ कार्यक्रम की शुरुआत करने के लिए मुंबई के गिरगांव चौपाटी समुद्र तट पर एक समारोह आयोजित करने की अनुमति दी। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री भी शामिल होंगे। जस्टिस एम वाई इकबाल अैर जस्टिस अरुण मिश्रा की एक पीठ ने राज्य की ओर से पेश हुए अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी की यह बात स्वीकार कर ली कि प्रस्तावित कार्यक्रम ‘‘भारत का गौरव’’ है और प्रशासन ने तट पर कोई स्थायी ढांचा बनाने का प्रस्ताव नहीं रखा है।

    रोहतगी ने उस आशंका का भी विरोध किया कि इस प्रकार का समारोह आयोजित किए जाने से दक्षिण मुंबई में यातायात बधित होगा। उन्होंने कहा कि मैं राज्य का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं। क्या आपको लगता है कि राज्य यातायात के सुचारू संचालन को बाधित करेगा? उन्होंने कहा कि इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, 56 देशों के प्रतिनिधि मंडलों और कई प्रतिनिधियों को भाग लेना है।

    इसके बाद पीठ ने कहा कि हम नोटिस जारी करते हैं। इस बीच अपील समारोह आयोजित करने की स्वीकृति मांगने के संदर्भ में अंतरिम राहत दी जाती है। सुप्रीम कोर्ट ने समुद्र तट पर समारोह आयोजित करने की अनुमति देने से इनकार करने के बंबई हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार की अपील पर सुनवाई करने पर एक फरवरी को सहमति जताई थी। राज्य ने अपनी याचिका में कहा था कि 13 से 18 फरवरी के बीच आयोजित किए जाने वाले इस समारोह का मकसद महाराष्ट्र में निवेश को आकर्षित करना है और पहले भी गिरगांव तट पर कुछ समारोह आयोजित करने की अनुमति दी गई है। हाईकोर्ट ने राज्य को समुद्र तट पर समारोह आयोजित करने की अनुमति देने से 28 जनवरी को इनकार कर दिया था।

    समुद्र तट पर गतिविधियों पर नजर रखने के मकसद से वर्ष 2001 में अदालत द्वारा नियुक्त समिति ने समारोह आयोजित करने के लिए सरकार से अदालत की अनुमति लेने को कहा था जिसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। अदालत के नियुक्त समिति ने वर्ष 2005 में इस संबंध में दिशानिर्देश दायर किए थे कि समुद्र तट पर किन गतिविधियों और समारोहों की अनुमति दी जा सकती है।

    हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को अनुमति देने से इनकार करते हुए कहा था कि सरकार को समुद्र तट पर इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित करने की अनुमति देना समिति के दिशानिर्देशों के तहत ‘‘दोषपूर्ण’’ होगा।

    Tags: Bombay high court

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर