Home /News /nation /

मेवात के काजियों का ऐलान: लड़के के घर शौचालय नहीं तो निकाह नहीं

मेवात के काजियों का ऐलान: लड़के के घर शौचालय नहीं तो निकाह नहीं

 फोटो: यूनुस अलवी

फोटो: यूनुस अलवी

मौलाना याहया करीमी ने कहा कि इस्लाम में सफाई को आधा ईमान कहा गया है, खुले में शौच करने को मना किया गया है. महिलाओं के खुले में शौच के लिए जाने से बेपदर्गी होती है.

हरियाणा के सबसे पिछड़े जिले नूंह (मेवात) में 110 गांवों ने मिलकर एक एेतिहासिक फैसला लिया है. इसके तहत यदि दूल्‍हे के घर शौचालय नहीं होगा तो वे उसका निकाह नहीं पढ़वाएंगे.

पुन्हाना ब्‍लॉक के गांव तिरवाड़ा में 110 गांवों की मस्जिदों के इमामों की मौजूदगी में यह फैसला लिया गया. इसका आयोजन जमीयत-ए- उलेमा हिंद हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब और चंडीगढ़ जोन के आह्वान पर किया गया था. इसमें एक हजार से ज्‍यादा इमाम मौजूद रहे. उनसे खुले में शौच, बारात में नाच-गाने और शराब पर प्रतिबंध लगाने के लिए सहमति दी.

इस जोन के अध्‍यक्ष मौलाना याहया करीमी ने कहा कि सभी मस्जिदों के इमामों, मौलवियों, काजियों ने फैसला लिया है कि जिस दूल्हा और दुल्हन के घर में शौचालय नहीं होगा उसका निकाह नहीं पढ़वाया जाएगा. शौचालयों से संबंधित मामले पर गांव के सरपंच से लिखवाकर लाना होगा.

करीमी ने कहा इस्लाम में सफाई को आधा ईमान कहा गया है और खुले में शौच करने को मना किया गया है. महिलाओं के खुले में शौच के लिए जाने से बेपदर्गी होती है.

mewat

साथ ही बाराती शराब पीकर आएंगे और नाच-गाना हुआ, डीजे बजा तो भी यह फैसला लागू किया जाएगा. करीमी ने कहा कि इस्लाम धर्म हो या हिंदू सभी में शराब को बुरा माना गया है. कई बुराईयों की जड़ शराब है. जिसकी वजह से झगड़े होते हैं. यहां तक कि बहुत से परिवार तो शराब की वजह से खत्म हो गए हैं.

जमीयत-ए-उलेमा हिंद के पदाधिकारी मौलाना तैयब हुसैन, मुफ़्ती सलीम, मौलाना मजीद सिंगारिया का कहना है कि अभी ये शुरुआत मेवात से की है. इसके बाद राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पंजाब में भी इस फैसले को लागू करवाने की कोशिश की जाएगी.

मालूम हो कि मेवात में रेप के ज्‍यादातर मामले खुले में शौच की वजह से हैं. ऐसे मामले आए दिन दर्ज होते हैं. इसलिए यह फैसला महिलाओं की सुरक्षा और मान-सम्‍मान से भी जुड़ा है.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर