लाइव टीवी

मलयालम कवि अक्कितम अच्युतन नंबूदरी को मिलेगा 2019 का ज्ञानपीठ पुरस्कार

News18Hindi
Updated: November 30, 2019, 9:57 AM IST
मलयालम कवि अक्कितम अच्युतन नंबूदरी को मिलेगा 2019 का ज्ञानपीठ पुरस्कार
मलयालम भाषा के कवि अक्कितम अच्युतन नंबूदरी

मलयालम कवि अक्कितम अच्युतन नंबूदरी (Akkitham Achuthan Namboothir) का जन्म 8 मार्च 1926 को केरल के पलक्कड़ जिले में हुआ था और बचपन से ही उनकी रुचि साहित्य और कला की ओर थी. कविता के अलावा अक्कितम ने नाटक और उपन्यास भी लिखे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2019, 9:57 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. साहित्य जगत के प्रतिष्ठित ज्ञानपीठ पुरस्कार (Jnanpith Award) 2019 की घोषणा हो चुकी है. मलयालम कवि अक्कितम अच्युतन नंबूदरी (Akkitham Achuthan Namboothir) को इस साल का पुरस्कार दिया जा रहा है. 55वें ज्ञानपीठ पुरस्कार की घोषणा के पहले मशहूर उड़िया लेखिका प्रतिभा राय की अध्यक्षता में निर्णायक मंडल की बैठक हुई, जिसमें शमीम हनफी, सुरंजन दास, माधव कौशिक और डॉ. पुरुषोत्तम बिलिमाले समेत अन्य सदस्य मौजूद थे. बैठक में लंबी चर्चा के बाद अक्कितम का नाम तय किया गया.

निर्णायक मंडल ने बयान जारी कर कहा, ‘ज्ञानपीठ चयन बोर्ड ने एक बैठक में 55वें ज्ञानपीठ पुरस्कार 2019 के लिए मलयालम के प्रसिद्ध भारतीय कवि श्री अक्कीथम को चुना है.’

अक्कितम का जन्म 8 मार्च 1926 को केरल के पलक्कड़ जिले में हुआ था और बचपन से ही उनकी रुचि साहित्य और कला की ओर थी. कविता के अलावा अक्कितम ने नाटक और उपन्यास भी लिखे हैं.

उन्होंने 55 किताबें लिखी हैं, जिनमें से 45 कविता संग्रह है. पद्म पुरस्कार से सम्मानित अक्कीथम को सहित्य अकादमी पुरस्कार, केरल साहित्य अकादमी पुरस्कार (दो बार) मातृभूमि पुरस्कार, वायलर पुरस्कार और कबीर सम्मान से भी नवाजा जा चुका है. (PTI इनपुट)

ज्ञानपीठ पाने वाले हिंदी के 10वें साहित्यकार थे केदारनाथ, पढ़ें 3 मशहूर कविताएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 9:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...