• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • मालेगांव ब्लास्ट: श्रीकांत पुरोहित ने किया आरोप खत्म करने का अनुरोध, कहा- वे सेना के ‘गुमनाम हीरो’ हैं

मालेगांव ब्लास्ट: श्रीकांत पुरोहित ने किया आरोप खत्म करने का अनुरोध, कहा- वे सेना के ‘गुमनाम हीरो’ हैं

लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित (फाइल फोटो)

लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित (फाइल फोटो)

Malegaon Blast Case: पुरोहित ने यह दावा किया है कि उन्होंने सेना के अधिकारी के तौर पर अपने कर्तव्य के रूप में कथित षड्यंत्र रचे थे, इसलिए जांच एजेंसी एनआईए (NIA) को उनके खिलाफ अभियोजन चलाने के लिए केंद्र सरकार से पूर्व अनुमति हासिल करनी चाहिए थी.

  • Share this:
    मुंबई. 2008 के मालेगांव बम विस्फोट मामले में आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित (Prasad Shrikant Purohit) ने बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) से सोमवार को कहा कि वह भारतीय सेना (Indian Army) के ‘गुमनाम’ नायक हैं, जिन्होंने जमानत पर रिहा किए जाने से पहले विचाराधीन कैदी के तौर पर करीब नौ वर्ष जेल में काफी यातनाएं सही हैं. पुरोहित की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता श्रीकांत शिवाडे ने न्यायमूर्ति एस एस शिंदे और न्यायमूर्ति एन जे जमादार की पीठ से आग्रह किया कि महानगर की विशेष एनआईए अदालत को निर्देश दे कि यथाशीघ्र अभियोजन की मंजूरी देने के मामले में उनकी शिकायत पर निर्णय करे.

    पुरोहत ने उच्च न्यायालय में कई याचिकाएं दायर कर अपने खिलाफ सभी आरोप खत्म करने का अनुरोध किया है. पुरोहित ने यह दावा किया है कि उन्होंने सेना के अधिकारी के तौर पर अपने कर्तव्य के रूप में कथित षड्यंत्र रचे थे, इसलिए जांच एजेंसी एनआईए को उनके खिलाफ अभियोजन चलाने के लिए केंद्र सरकार से पूर्व अनुमति हासिल करनी चाहिए थी.

    यह भी पढ़ें: साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का विवादित बयान, 'सच्चे देशभक्त हेमंत करकरे को देशभक्त नहीं मानते'

    शिवाडे ने पुरोहित की तरफ से अदालत से कहा, ‘मैंने जेल में नौ वर्ष बिताए हैं और काफी यातनाएं सही हैं. मुझे सेवा में बहाल किया गया क्योंकि मेरा रिकॉर्ड अच्छा था. मैं भारतीय सेना का गुमनाम नायक हूं. निचली अदालत को मुकदमा चलाने की पूर्व अनुमति के मुद्दे पर पहे निर्णय लेना चाहिए. ’

    एनआईए के वकील संदेश पाटिल ने शिवाडे के हलफनामे का विरोध किया और कहा कि मामले में आरोप तय कर दिए गए हैं और सुनवाई शुरू हो गई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज