Malegaon Case: बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर एम्स में भर्ती, दूसरी बार नहीं हुईं NIA कोर्ट में पेश

एनआईए की विशेष अदालत में प्रज्ञा के वकील ने कहा कि वो AIIMS में भर्ती हैं.  (File pic)

एनआईए की विशेष अदालत में प्रज्ञा के वकील ने कहा कि वो AIIMS में भर्ती हैं. (File pic)

Aadhvi pragya admitted in AIIMS: भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) के वकील ने कहा कि उन्हें शुक्रवार को दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिसकी वजह से वह अदालत नहीं पहुंच सकीं. अदालत में पांच आरोपी मौजूद थे.

  • Share this:
मुंबई. मालेगांव में 2008 में हुए बम धमाकों के मामले (Malegaon case) में आरोपी भोपाल (Bhopal) से भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) शनिवार को यहां एक विशेष एनआईए अदालत के समक्ष पेश नहीं हुईं. यह एक महीने में दूसरा मौका है, जब प्रज्ञा अदालत में तारीख पर पेश नहीं हुईं.

ठाकुर के वकील ने कहा कि उन्हें शुक्रवार को दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिसकी वजह से वह अदालत नहीं पहुंच सकीं. अदालत में पांच आरोपी मौजूद थे. न्यायाधीश पी आर शित्रे ने दो अन्य आरोपियों की गैर मौजूदगी पर नाखुशी जाहिर की. अदालत ने इसके बाद सभी सातों आरोपियों को चार जनवरी को उसके समक्ष पेश होने का निर्देश दिया.

सांसद की तरफ से पेश वकील जे पी मिश्रा ने कहा, “दिल्ली के एम्स में ठाकुर का अप्रैल से ही इलाज चल रहा है. वह वहां जांच के लिये गईं थीं और उनकी चिकित्सा जांच रिपोर्ट देखने के बाद डॉक्टरों के निर्देश पर शुक्रवार को उन्हें भर्ती होना पड़ा.” ठाकुर के अलावा एक अन्य आरोपी सुधाकर चतुर्वेदी भी व्यक्तिगत कारणों का हवाला देकर अदालत में पेश नहीं हुआ.

प्रज्ञा ने पहले दिया था महामारी का हवाला
कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन के बाद पिछले महीने से अदालत में नियमित कामकाज शुरू हो गया है और अदालत ने मामले के सातों आरोपियों को तीन दिसंबर को उसके समक्ष पेश होने का निर्देश दिया था. हालांकि, ठाकुर समेत अधिकतर आरोपी महामारी की स्थिति का हवाला देते हुए तब अदालत में पेश नहीं हुए थे.

ये भी पढ़ेंः- मिदनापुर से अमित शाह की हुंकार, बोले- अकेली रह जाएंगी ममता, 200 सीटों के साथ बनाएंगे सरकार | 10 खास बातें

Youtube Video




कोर्ट के सामने पेश हुए पांच आरोपी

इसके बाद अदालत ने उनसे 19 दिसंबर को पेश होने के लिये कहा था. निर्देश के मुताबिक, पांच अन्य आरोपी- लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद पुरोहित, रमेश उपाध्याय, समीर कुलकर्णी, अजय रहिकर और सुधाकर द्विवेदी- शनिवार को अदालत के समक्ष पेश हुए थे.

उत्तरी महाराष्ट्र के मालेगांव में एक मस्जिद के निकट 29 सितंबर 2008 को एक मोटरसाइकिल में बांध कर रखे गए बम में धमाके से कम से कम छह लोगों की मौत हो गई थी जबकि 100 से ज्यादा लोग घायल हुए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज