ममता ने केंद्र से की अपील- प्रवासी श्रमिकों को दिए जाएं 10-10 हजार रुपए

ममता ने केंद्र से की अपील- प्रवासी श्रमिकों को दिए जाएं 10-10 हजार रुपए
बंगाल में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने केंद्र से अपील की, असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे लोगों समेत प्रवासी श्रमिकों को 10-10 हजार रुपए एक बार में हस्तांतरित करे.

  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने बुधवार को केंद्र से अपील की कि वह कोविड-19 के कारण पैदा हुए संकट के मद्देनजर प्रवासी श्रमिकों (Migrant Workers) को 10-10 हजार रुपए दे. बनर्जी ने ट्वीट किया कि असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे लोगों को वित्तीय सहायता मुहैया कराई जानी चाहिए, ताकि वे लॉकडाउन (Lockdown) के कारण पैदा हुए आर्थिक संकट का सामना कर सकें. उन्होंने सलाह दी कि आपात स्थितियों के लिए प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और राहत कोष (पीएम केयर्स) का एक हिस्सा इस कार्य के लिए इस्तेमाल किया जाना चाहिए.

बनर्जी ने ट्वीट किया, मौजूदा वैश्विक महामारी के कारण लोग जिन आर्थिक संकटों से गुजर रहे हैं, उसकी कल्पना नहीं की जा सकती. मैं केंद्र सरकार से अपील करती हूं कि वह असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे लोगों समेत प्रवासी श्रमिकों को 10-10 हजार रुपए एक बार में हस्तांतरित करे. इसके लिए पीएम-केयर्स के एक हिस्से का इस्तेमाल किया जा सकता है.




कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को काबू करने के लिए देशभर में लागू लॉकडाउन के कारण आर्थिक गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुई हैं.

अम्फान से हुआ राज्य में काफी नुकसान
गौरतलब है कि कुछ ही दिनों पहले चक्रवात अम्फान के कारण पश्चिम बंगाल के बुनियादी ढांचे और फसलों को एक लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. अम्फान के कारण कोलकाता में बिजली-पानी के लिए हाहाकार मचा है. गुस्साए लोग सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करने लगे थे. मुख्यमंत्री ने कहा था कि चक्रवात अम्फान के कारण तबाही राष्ट्रीय आपदा से अधिक है. बनर्जी ने कहा कि लोगों को जमीनी हकीकत को समझना चाहिए और सहयोग करना चाहिए.

ये भी पढ़ें : UP में अब तक करीब 5 करोड़ लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग, 3 लाख की कोरोना जांच
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading