2019 का रण: ममता बोलीं- बंगाल में कांग्रेस-लेफ्ट से लड़ेंगे, नेशनल में साथ रहेंगे

उन्होंने कहा, 'मुझे मालूम है कि इस रैली के बाद वह मेरे घर पर सीबीआई भेज देंगे. मुझे पहले बता देना मैं खाना बनाकर रखूंगी. हमें डराने की कोशिश की जा रही है. मैं डरने वाली में से नहीं. यह डरने का समय नहीं है. जो डर जाते हैं वे मर जाते हैं. जो लड़ते हैं वे जीतते हैं.'

News18Hindi
Updated: February 13, 2019, 8:03 PM IST
2019 का रण: ममता बोलीं- बंगाल में कांग्रेस-लेफ्ट से लड़ेंगे, नेशनल में साथ रहेंगे
आम आदमी पार्टी की रैली में ममता बनर्जी (PTI)
News18Hindi
Updated: February 13, 2019, 8:03 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियों में सभी दल जुट गए हैं. इस बार सबसे ज्यादा राजनीतिक टकराव की स्थिति भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के बीच देखने को मिल रही है. बीजेपी आम चुनाव में पश्चिम बंगाल में बड़ी जीत दर्ज करना चाहती है, तो ममता बनर्जी अपने दुर्ग को बचाए रखना और भगवा पार्टी को अपने यहां सेंध लगाने से रोकना चाहती हैं. इसके लिए 'दीदी' को पुराने साथियों से मतभेद भूलाकर हाथ मिलाने से भी गुरेज नहीं हैं.

बुधवार को दिल्ली में आम आदमी पार्टी की ओर से आयोजित विपक्षी दलों की रैली में बंगाल की सीएम ने ऐलान किया कि आम चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए टीएमसी, लेफ्ट और कांग्रेस जल्द एक साथ आएगी.

'गले पड़ने, आंखों की गुस्‍ताखियां' से मुलायम के आशीर्वाद तक, PM मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें



ममता बनर्जी ने कहा, 'आने वाले दिनों में हम सब इकट्ठे होकर लड़ेंगे. कांग्रेस और सीपीएम (लेफ्ट) के साथ टीएमसी के जो भी मतभेद हैं, जो राज्य में है और रहेगा. लेकिन, नेशनल लेवल में बीजेपी के खिलाफ हम तीनों पार्टियां एक साथ लड़ेंगे. बंगाल में उन्हें (लेफ्ट और कांग्रेस) मेरे खिलाफ लड़ने दीजिए. मुझे कोई दिक्कत नहीं है. लेकिन, राष्ट्र हित में मैं अपनी जिंदगी और अपनी पार्टी का त्याग करने को तैयार हूं.'


रैली में ममता बनर्जी ने कहा, 'मोदी सिर्फ झूठ फैला रहे हैं. डेमोक्रेसी अब नमोक्रेसी हो गई है. विकास के नाम पर कभी नाम चेंज तो कभी कुछ और. आपातकाल से भी गंभीर हालात होते जा रहे हैं. मैं अपने देश के लिए जीवन कुर्बान करने के लिए तैयार हूं.'


मतदाताओं से अपील- मोदी को वोट न दें
Loading...

बंगाल की सीएम ने कहा, 'मैं कहना चाहती हूं कि हमें एक अखंड भारत बनाना चाहिए. आज सभी फोन को टैप किया जा रहा है. हमारे देश में ऐसा पहली बार हो रहा है. आप सिर्फ गुजरात को पहचानते हैं, लेकिन अगले चुनाव में गुजरात भी आपको मौका नहीं देगा. 56 इंच का सीना तो रावण का भी था. उनका क्या हुआ, सब जानते हैं. मैं सभी मतदाताओं से अनुरोध करती हूं कि बीजेपी को वोट मत देना.'

मुलायम ने लोकसभा में की मोदी की तारीफ, कहा- मेरी इच्छा है आप दोबारा बनें प्रधानमंत्री

रैली के बाद मेरे घर सीबीआई भेज देंगे, मैं खाना बनाकर रखूंगी
उन्होंने कहा, 'मुझे मालूम है कि इस रैली के बाद वह मेरे घर पर सीबीआई भेज देंगे. मुझे पहले बता देना मैं खाना बनाकर रखूंगी. हमें डराने की कोशिश की जा रही है. मैं डरने वाली में से नहीं. यह डरने का समय नहीं है. जो डर जाते हैं वे मर जाते हैं. जो लड़ते हैं वे जीतते हैं. हम डरपोक नहीं हैं. हम यहां लड़ने के लिए आए हैं. आप क्या करेंगे. हमें जेल में डालो, हमारी हत्या करो, हमारे खिलाफ एजेंसियों का उपयोग करो.'

ममता बनर्जी ने आखिर में कहा, 'सभी लोग मोदी से डरने लगे हैं. जैसे वह गब्बर सिंह हो. पहले गब्बर के नाम से बच्चों को डराया जाता था. अब मोदी के नाम पर मीडिया, किसान और आम लोगों को डराया जा रहा है. मैंने कई सरकारें देखी हैं लेकिन इस तरह की सरकार नहीं देखी है.'


खुद को पीएम कैंडिडेट मानती हैं ममता बनर्जी
दरअसल, ममता बनर्जी खुद को पीएम पद का उम्मीदवार मानती हैं. लोकसभा चुनाव में बीजेपी को अगर पूर्ण बहुमत नहीं मिलता है और उनकी पार्टी अच्छा प्रदर्शन करती है, तो वह 'किंग मेकर' की भूमिका में आ सकती हैं. इसलिए वह किसी भी हालत में पश्चिम बंगाल को अपने हाथ से निकलने नहीं देना चाहतीं. दीदी अपनी पूरी ताकत के साथ बीजेपी का मुकाबला करना चाहती हैं.

वहीं, बीजेपी भी इस बार आर-पार की लड़ाई के मूड में है. उसने भी अपना पूरा दमखम लगा दिया है. पीएम मोदी, अमित शाह, योगी आदित्यनाथ और शिवराज सिंह चौहान अपनी रैलियों के जरिए ममता सरकार को कठघरे में खड़ा करने से नहीं चूके हैं. आने वाले दिनों में यह राजनीतिक लड़ाई और दिलचस्प होगी.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...