Assembly Banner 2021

ममता बनर्जी बोलीं- PM मोदी का स्क्रू ढीला, विकास ठप, उनकी सिर्फ दाढ़ी बढ़ रही

ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है. (फाइल फोटो)

ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है. (फाइल फोटो)

West Bengal Election 2021: ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा, 'वो कभी खुद को स्वामी विवेकानंद कहते हैं, तो कभी स्टेडियम का नाम अपने नाम के ऊपर रखवा देते हैं. उनके दिमाग में कुछ गड़बड़ है.' बंगाल की सीएम ने कहा, 'ऐसा लगता है कि उनका स्क्रू ढीला हो गया है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 5:57 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव को लेकर मतदान प्रक्रिया शुरू होने को है. इसी बीच राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी सत्ता बरकरार रखने की कोशिशें तेज कर दी हैं. शुक्रवार को उन्होंने एक रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर जमकर निशाना साधा. खास बात है कि राज्य में भारतीय जनता पार्टी काफी समय पहले ही सक्रिय हो गई थी. दोनों राजनीतिक दल लगातार एक-दूसरे पर सियासी बयानबाजी कर रहे हैं.

शुक्रवार को एक चुनावी कार्यक्रम के दौरान ममता बनर्जी ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा, 'औद्योगिक बढ़त रुक गई है. उनकी केवल दाढ़ी ही बढ़ रही है.' बनर्जी ने कहा, 'वो कभी खुद को स्वामी विवेकानंद कहते हैं, तो कभी स्टेडियम का नाम अपने नाम के ऊपर रखवा देते हैं. उनके दिमाग में कुछ गड़बड़ है.' बंगाल की सीएम ने कहा, 'ऐसा लगता है कि उनका स्क्रू ढीला हो गया है.' बंगाल में मतदान प्रक्रिया 8 चरणों में पूरी होगी. 2 मई को मतगणना की जाएगी.

टीएमसी सुप्रीमो के खिलाफ चुनाव आयोग पहुंची बीजेपी
इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार, बीजेपी ने चुनाव आयोग के पास शिकायत दाखिल की है कि बनर्जी सांप्रदायिक बातों के जरिए वोट मांग रही हैं. बुधवार को पूर्वी मिदनापुर में सीएम के भाषण को लेकर बीजेपी ने कहा, 'वीडियो की सामग्री बताती है कि ममता बनर्जी ने जानबूझकर घातक उद्देश्य के साथ धार्मिक बातों के जरिए सांप्रदायिकता और नफरत फैलाने का प्रयास किया.' पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के लिखे पत्र में बीजेपी ने बनर्जी के भाषण को 'अत्याधिक उकसाने वाला' बताया है.
घोष के साड़ी बयान पर हुआ था विवाद


बीते दिनों बंगाल के बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष ने कहा था कि अगर बनर्जी पैर दिखाना चाहती हैं, तो उन्हें बरमूडा पहनना चाहिए, साड़ी नहीं. इसके बाद उन्होंने कहा, 'पश्चिम बंगाल में हमारी माताएं और बहनें साड़ी पहनती हैं. साड़ी शालीनता का प्रतीक है. लेकिन यह सही नहीं है कि कोई साड़ी पहनकर बार-बार जानबूझकर अपना पैर दिखाए.'

घोष ने कहा, 'यहां तक कि महिलाओं को भी यह पसंद नहीं आ रहा है. मैंने इस पर सवाल उठाया है.... यह बंगाल की संस्कृति में सही नहीं लगता है.' इस दौरान उन्होंने कहा, 'सीएम बंगाली संस्कृति को लेकर तमाम बातें करती हैं... हम सीएम से ऐसे व्यवहार की उम्मीद नहीं करते हैं.' घोष ने आरोप लगाया था कि सीएम ने महिलाओं और बंगाली संस्कृति का अपमान किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज