ममता बनर्जी ने की आरोपों की बौछार, कहा- बाहरी लोग फैला रहे कोरोना, PM ने हमें नहीं दी वैक्सीन

शुक्रवार को नोआपारा में एक सियासी कार्यक्रम के दौरान ममता बीजेपी पर हमलावर दिखीं. (फाइल फोटो)

शुक्रवार को नोआपारा में एक सियासी कार्यक्रम के दौरान ममता बीजेपी पर हमलावर दिखीं. (फाइल फोटो)

Coronavirus in West Bengal: गुरुवार को एक ट्वीट के जरिए बनर्जी ने चुनाव आयोग (Election Commission) से अपील की थी कि बचे हुए चरणों को एक ही बार में पूरा करा दिया जाए. हालांकि, चुनाव पैनल ने साफ कर दिया है कि ऐसा मुमकिन नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 5:52 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections 2021) की गहमागहमी जारी है. सियासी मुद्दों के बाद अब कोरोना वायरस (Coronavirus) बड़ा विषय बन गया है. हाल ही में राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने भारतीय जनता पार्टी पर राज्य में कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगाया है. साथ ही उन्होंने कहा है कि वो चुनाव आयोग से अपील करेंगी कि राज्य में बगैर जांच के किसी को भी प्रवेश न दिया जाए. राज्य में बड़ी संख्या में कोरोना मरीज मिल रहे हैं.

'हम पर आरोप लगाएंगे'

शुक्रवार को नोआपारा में एक सियासी कार्यक्रम के दौरान ममता बीजेपी पर हमलावर दिखीं. उन्होंने कहा, '5 महीने तक यहां कोई कोविड-19 नहीं था, लेकिन अब वे बाहर से लोग लेकर आ गए हैं और किसी की भी जांच नहीं हुई है. जो भी बाहर से आ रहा है, उसकी जांच होनी चाहिए...' सीएम ने कहा, 'बाहर से लोग आ रहे हैं और कोविड-19 फैला रहे हैं. जब हमारे लोग मरेंगे, तो वे हम पर आरोप लगाएंगे.'

शुक्रवार को सीएम बनर्जी ने कहा कि वो चुनाव आयोग से अपील करेंगी कि 'बाहरी लोगों' को राज्य में बगैर नेगेटिव RT-PCR जांच के नहीं आने दिया जाए. साथ ही उन्होंने दावा किया था कि ये लोग जो यहां आकर बीजेपी की रैली में शामिल होते हैं और उन्हें आयोजित करा रहे हैं, इनमें वायरस हो सकता है. खास बात है कि बंगाल में गुरुवार को 6 हजार 769 मामले दर्ज किए गए हैं. यह आंकड़ा 2020 में पहला मामला मिलने के बाद एक दिन में सबसे ज्यादा है.
यह भी पढ़ें: West Bengal Election 2021: ममता की मांग- जनहित में बाकी चरणों के चुनाव एक साथ करा लें, EC ने दिया ये जवाब

नॉर्थ 24 परगना में रैली के दौरान सीएम ने कहा, 'नरेंद्र मोदी की सरकार ने चुनाव के चक्कर में कोविड-19 को नजरअंदाज कर दिया. इसका नतीजा यह हुआ कि मामले अब बढ़ रहे हैं....' उन्होंने कहा, 'हमें भारतीय चुनाव आयोग से अपील करनी चाहिए कि राज्य में बगैर कोविड-19 RT-PCR रिपोर्ट के किसी को भी आने की अनुमति न दी जाए.' बीते कुछ दिनों से लगातार सीएम बनर्जी आरोप लगा रही हैं कि बीजेपी नेताओं के साथ दूसरे राज्यों से आए लोगों की वजह से कोरोना वायरस राज्य में तेजी से फैल रहा है.





पीएम मोदी पर वैक्सीन नहीं देने के आरोप

इतना ही नहीं, गुरुवार को एक ट्वीट के जरिए बनर्जी ने आयोग से अपील की थी कि बचे हुए चरणों को एक ही बार में पूरा करा दिया जाए. हालांकि, चुनाव पैनल ने साफ कर दिया है कि ऐसा मुमकिन नहीं है. नॉर्थ 24 परगना में एक और मीटिंग के दौरान सीएम ने कहा था, 'कोविड-19 मामले कम हो गए थे और 5 महीनों के लिए शायद ही कहीं कुछ मामले थे. नरेंद्र मोदी सरकार को उस दौरान लोगों को वैक्सीन लगवा देनी चाहिए थी. उन्हें पता था कि महामारी करीब 2 सालों तक जारी रहेगी. अब मामले एक बार फिर बढ़ रहे हैं. मैंने प्रधानमंत्री को वैक्सीन के लिए पत्र लिखा था, लेकिन उन्होंने हमें वैक्सीन नहीं दी.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज