अपना शहर चुनें

States

ममता बनर्जी की सफेद साड़ी और हवाई चप्पल सिर्फ बहाना, अब सच उजागर हो रहा: भाजपा

ममता बनर्जी को लेकर बीजेपी ने निशाना साधा है. (File Photo)
ममता बनर्जी को लेकर बीजेपी ने निशाना साधा है. (File Photo)

West Bengal Assembly Elections: पश्चिम बंगाल में भाजपा के प्रचार के लिए पहुंचे मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 10:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Elections) प्रचार के दौरान पहली बार भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) ने सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की निष्ठा और उनकी छवि पर सवाल उठाया. भाजपा की ओर से ये सवाल मुख्यमंत्री के भतीजे अभिषेक बनर्जी की पत्नी को सीबीआई (CBI) द्वारा समन सौंपे के बाद उठाया गया. कई करोड़ के कोयला घोटले (Coal Scam) में सीबीआई ने बनर्जी की पत्नी को समन सौंपा है.

पश्चिम बंगाल में भाजपा के प्रचार के लिए पहुंचे मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र (MP Home Minister Narottam Mishra) ने कहा कि "कोयला घोटाले में ममता बनर्जी की संलिप्तता के बाद जनता उन्हें डराएगी. अब सबकुछ उजागर हो रहा है. वह अपनी हवाई चप्पल, सफेद साड़ी, सादा जीवन उच्च विचार का बहाना बनाती हैं. प्याज की तरह सारी परतें धीरे-धीरे खुल रही हैं." बता दें अप्रैल-मई में बंगाल में चुनाव हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें- कोरोना: दिल्ली में मेट्रो, बसों में यात्रियों की संख्या पर लिया गया बड़ा फैसला



सीबीआई ने ममता बनर्जी के भतीजे की पत्नी को सौंपा समन
बंगाल में सियासी पारा रविवार दोपहर के बाद से तब और बढ़ गया जब सीबीआई की टीम टीएमसी नेता अभिषेक बनर्जी के दक्षिणी कोलकाता स्थित आवास पर उनकी पत्नी रुजिरा बनर्जी के खिलाफ समन लेकर पहुंची. पांच सीबीआई अधिकारियों ने सोमवार को उनकी बहन मेनका गंभीर से दक्षिणी कोलकाता के उनके आवास पर करीब तीन घंटे तक पूछताछ की.

एजेंसी के अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि वे विदेशी बैंक लेनदेन की जांच कर रहे हैं. रूजीरा बनर्जी का परिवार थाईलैंड का रहने वाला है.

मिश्रा ने रविवार को अंतर्राष्ट्रीय मातृ भाषा दिवस के अवसर पर कोलकाता में आयोजित एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में ममता बनर्जी के भाषण पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मीडिया के सामने टिप्पणी की.

ये भी पढ़ें- स्मृति ईरानी का अमेठी में होगा अपना आशियाना, खरीदी गई जमीन की करवाई रजिस्ट्री

इससे पहले बनर्जी ने रविवार को कहा था कि वह किसी से नहीं डरतीं और उन्हें जेल से या किसी अन्य चीज से नहीं डराया जा सकता. उन्होंने कहा कि उनकी मातृभाषा बांग्ला ने उन्हें बाघ की तरह लड़ना सिखाया है और वह चूहों से नहीं डरतीं. किसी व्यक्ति या किसी राजनीतिक दल का नाम लिए बिना तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि उन्होंने हारना नहीं सीखा है. उन्होंने कहा, ‘‘हमें जेल से डराने की कोशिश न करें, हमने बंदूकों के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और चूहों के खिलाफ लड़ने से नहीं डरते.’’

मुख्यमंत्री ने यहां अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के अवसर पर एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘जब तक मैं जीवित हूं, मैं किसी डर या धमकी से नहीं डरने वाली.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज